Athrav – Online News Portal
दिल्ली नई दिल्ली राजनीतिक राष्ट्रीय वीडियो

कांग्रेस प्रवक्ता श्रीमती सुप्रिया श्रीनेत ने कहा, ये पांच- जीरो की लड़ाई भाजपा लड़ रही है, सूपड़ा साफ होने वाला है-देखें वीडियो

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
नई दिल्ली: कांग्रेस प्रवक्ता श्रीमती सुप्रिया श्रीनेत ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि एक बहुत ही अहम मुद्दे पर हम लोग आज आपके सामने आए हैं। पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहा है और अब ये पूरी तरह से साफ है चुनाव के मध्य में, पूरी तरह से साफ होता जा रहा है कि ये पांच- जीरो की लड़ाई भाजपा लड़ रही है। सूपड़ा साफ होने वाला है, पांच राज्यों में शिकस्त आने वाली है और इसीलिए अपने चिरपरिचित अंदाज में जो राजनैतिक नौटंकी पहले भी की गई है, जो स्क्रिप्ट अब बोरिंग हो चुकी है, पहले भी लिखी है, उसी चिरपरिचित अंदाज में एक बार फिर से जहाँ पर हार होती है, वहाँ पर मोदी जी के फ्रंटल, उनकी जो अग्रिम संस्थाएं हैं, वो सामने आ जाती हैं और इसलिए हम एक कारण है कि ईडी, सीबीआई, इंकम टैक्स को अब संस्थाएं ना कहकर भाजपा के फ्रंटल, उनकी अग्रिम एजेंसी कहते हैं, उनके समर्थन में मैदान में उतर आई हैं।
ये बात है पंजाब की और जिस तरह से वहाँ पर एक दलित मुख्यमंत्री को टारगेट किया जा रहा है, जिस तरह से उनके ऊपर आक्षेप लगाए जा रहे हैं, वो कहीं ना कहीं भाजपा की दलित विरोधी मानसिकता को पूरी तरह से साफ करता है। सच तो ये है कि इस देश का एक दलित मुख्यमंत्री मोदी जी की आंखों में सतत से किरकिरी बना हुआ है, जबसे वो दलित मुख्यमंत्री बने हैं और ये भी सच है कि 17 सरकारें होने के बावजूद राज्यों में मोदी जी ने एक भी दलित को मुख्यमंत्री नहीं बनाया है। क्या एक गरीब और दलित का बेटा ऐसा अपच रहा है कि आप उसके पीछे पड़ जाइएगा? आप चुनाव में जब शिकस्त नहीं दे पाते हैं, जब आपको पंजाब के किसान घुटने टेकने पर मजबूर करते हैं, वो पंजाब के किसान जहाँ पर 700 लोगों की शहादत होती है और आप कहते हैं कि मेरी वजह से थोड़े ही मरे हैं। वो किसान जिन्होंने आपसे घुटने टिकवाए,अपने आत्मबल और सत्याग्रह के चलते आपसे उन्होंने काले कानून वापस करवाए, आपको माफी मांगनी पड़ी। ये अलग बात है कि आपने श्रद्धांजलि और सहानुभूति का एक शब्द नहीं कहा, तो उसका बदला अब आप फर्जी छापे, फर्जी गिरफ्तारियां, पुराने केस, ये खुलवाकर लीजिएगा? ये पंजाब की अस्मिता, ये जो बदला आप लेना चाह रहे हैं पंजाब के किसानों से, ये पंजाब भूलेगा नहीं और इसका सूद समेत आपको जवाब वापस देगा। ये बदला एक दलित मुख्यमंत्री, एक शोषित, वंचित समाज से आए हुए व्यक्ति, जिनको कि हमने आगे बढ़ने का मौका दिया, राहुल जी ने जिनको मुख्यमंत्री बनाया, ये सिर्फ उनसे बदले की भावना नहीं है,ये दंड उन किसानों के लिए है, ये पंजाब के खिलाफ मोदी जी की नफरत,उनका एटिट्यूड, उनका आचरण दिखाता है कि बात से बात नहीं बनेगी। चुनाव में नहीं हरा पाएंगे, तो वो आपको शिकस्त देंगे अपनी एजेंसी, अपने चिरपरिचित अंदाज में और दुख की बात ये है कि ये हमला इसलिए भी किया जा रहा है कि छोटे मोदी, जो आजकल बने हुए हैं और सतत से ही थे, केजरीवाल जी को एक बैकडोर एंट्री मिल सके। लेकिन केजरीवाल जी को और उनके आका मोदी जी को हम सिर्फ इस मंच से ये कहना चाहते हैं कि ये पंजाब की जनता है। इसने देखा है कि किसने उनके साथ लड़ाई लड़ी है और किसने फटाफट काले कानूनों को पारित किया था और उसी का इनाम मोदी जी यहाँ पर देने की कोशिश कर रहे हैं।
ये पहला वाकया नहीं है जब एक 6 साल पुराने केस को खोदा जा रहा है चन्नी जी के खिलाफ, 33 साल पुराने केस को खोदा जा रहा है, सिद्धू जी के खिलाफ। ये पहला मौका नहीं है। ये सच है कि इसी सरकार ने किसानों पर लाठियां बरसाईं, उनके लिए तार बिछवाए, उनको गालियां दी, उनको आतंकवादी, नक्सलवादी, खालिस्तानी और क्या-क्या नहीं कहा और 700 किसानों की शहादत के बावजूद जब एक गवर्नर ने जाकर आपसे कहा कि किसान मर रहे हैं, तो आपने कहा कि मेरी वजह से थोड़े मर रहे हैं, मेनू की। ये एटिट्यूड दिखाता है आपका। ये सरकार का दुरुपयोग, एजेंसी का दुरुपयोग, ये एजेंसी को पूरी तरह से अपना फ्रंटल बनाना और जो बार-बार राहुल गांधी जी कहते है, लोगों के खिलाफ एजेंसी को, स्टेट के खिलाफ एजेंसी को इस्तेमाल करने का इससे घटिया उदाहरण और कोई हो नहीं सकता है। एक बात सच है कि मोदी जी इस मुगालते में मत रहिएगा, जो लोग डरने वाले होते हैं, वो आपकी एजेंसी से डर जाते हैं। आपने इस एजेंसी का इस्तेमाल चुनी हुई सरकारों को गिराने के लिए मध्यप्रदेश से लेकर गोवा, अरुणाचल, कर्नाटक, हर जगह किया। राजस्थान के मुख्यमंत्री के भाई को बिठाया, सरकार गिराने की कोशिशें की, लेकिन हम डरने वालों में से नहीं हैं। जो डरने वाले थे, वो आपके खेमे में शामिल हो गए पंजाब से, मैं अमरिंदर सिंह जी की बात कर रही हूं। जो डरने वाले ड्रग केस में मजीठिया जी फंसे हैं, वो आपके जरुर चरण चुंबक बनकर गुणगान कर रहे हैं, हम उनकी तरह नहीं हैं। जो डरने वाले थे केजरीवाल, वो आपको खुश करने के लिए एक दलित मुख्यमंत्री को टारगेट करते हैं।तो सच तो ये है कि आपकी एजेंसी, जो आपके फ्रंटल बन चुके हैं, उनको एक चीज की जांच करनी चाहिए। उनको जांच इस बात की करनी चाहिए कि आपकी आय में 550 प्रतिशत की वृद्धि कैसे हुई, जबकि ये देश और गुरबत और गरीबी में चला गया? कौन है जो आपको पैसा दे रहा है और क्यों दे रहा है? ये सवाल हम आज पूछते हैं? कैसे आपकी ये आय 480 करोड़ से बढ़कर लगभग 5,000 करोड़ हो गई, इसका जवाब कौन देगा और इसका मामला, इसकी तफ्तीश ईडी को करनी चाहिए और ईडी का इस्तेमाल आप कर रहे हैं चुनावों में अपना फ्रंटल बनाकर। जहाँ आप नहीं जा पाते, जहाँ आपकी बात सुनने के लिए एक पंजाबी नहीं आता आपकी रैली पर, वहाँ पर आप 3 करोड़ पंजाबियों की अस्मिता पर, उनकी निष्ठा पर, उनके सम्मान पर सवाल उठा देते हैं और आज किसानों के लिए लड़ने के लिए जो खड़ा हुआ, जो दलित, वंचित, शोषित समाज से आते हैं चन्नी जी, उनके खिलाफ आप ये एक्शन करके अपनी दलित विरोधी, गरीबी विरोधी, अपनी कुत्सित मानसिकता का परिचय दे रहे हैं।आपको लगता है कि हम डर जाएंगे, हम डरने वालों में से बिल्कुल नहीं हैं और एक बात सच है कि पंजाब, आपका चाल, चरित्र, आपकी ‘बी’ टीम, आपका चाल, चरित्र और चेहरा पूरी तरह से समझ चुका है और हम दावे के साथ कहते हैं कि प्रचंड बहुमत से हमारी सरकार बनने जा रही है। दांतों तले उंगलियां आपको दबानी पड़ेंगी। जो काम कर रहे हैं, वो मत करिए, क्योंकि ये आपकी मानसिकता देश विरोधी है, कानून विरोधी है और पंजाब विरोधी है।

Related posts

दिल्ली सरकार ने “रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ” अभियान की फाइल दोबारा एलजी को भेजी-गोपाल रॉय

Ajit Sinha

निम्नलिखित व्यक्तियों को बिहार चुनाव में एआईसीसी संचार के विशेष समन्वयक के रूप में सौंपा गया है- जानने के लिए पढ़ें 

Ajit Sinha

दिल्ली में जारी रहेगी फ्री वाई-फाई सुविधा, केजरीवाल सरकार ने दी मंजूरी

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//almstda.tv/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x