Athrav – Online News Portal
दिल्ली राजनीतिक राष्ट्रीय

बिलकिस बानो मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर बोली कांग्रेस- भाजपा का असली चेहरा सामने आया


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
नई दिल्ली:कांग्रेस ने बिलकिस बानो के मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद भाजपा पर तीखा हमला बोला है। कांग्रेस ने कहा कि सत्तारूढ़ भाजपा ने बलात्कारियों को बचाने की प्रक्रिया अपनाई थी। अब भाजपा का असली चेहरा सामने आ गया है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट करते हुए कहा कि चुनावी फायदे के लिए ‘न्याय की हत्या’ की प्रवृत्ति लोकतांत्रिक व्यवस्था के लिए खतरनाक है। आज सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने एक बार फिर देश को बता दिया कि ‘अपराधियों का संरक्षक’ कौन है। बिलकिस बानो का अथक संघर्ष, अहंकारी भाजपा सरकार के विरुद्ध न्याय की जीत का प्रतीक है।कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि अंततः न्याय की जीत हुई है। इस आदेश से भारतीय जनता पार्टी की महिला विरोधी नीतियों पर पड़ा हुआ पर्दा हट गया है। इस आदेश के बाद जनता का न्याय व्यवस्था के प्रति विश्वास और मजबूत होगा। वहीं नई दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में कांग्रेस सांसद डॉ. अभिषेक मनु सिंघवी और महिला कांग्रेस की अध्यक्ष अलका लांबा ने भी भाजपा को आड़े हाथों लिया। 

डॉ. अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि सत्तारूढ़ भाजपा ने जिस तरह बलात्कारियों को बचाने की प्रक्रिया अपनाई थी, अब उन्हें मुंह छिपाने की जगह नहीं मिल रही है। भाजपा के सभी जुमले बेनकाब हो गए हैं और भाजपा का असली चेहरा सामने आ गया है। जेल में रहते हुए भी इन सभी दोषियों को भाजपा की केंद्र और राज्य सरकार ने काफी सहूलियतें दे रखी थीं। लेकिन पाप इतनी आसानी से न निपटता है और न ही आसानी से छिपता है।सिंघवी ने कहा कि बिलकिस बानो के मामले में कई वकीलों ने सरकार की तरफ से कोर्ट में आकर बार-बार समय मांगा। जज को कहना पड़ा कि शायद आप मेरे सेवानिवृत्त होने का इंतजार कर रहे हैं। ये कितनी शर्मनाक बात है। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी सरकार के इस रवैए पर एक शब्द नहीं बोला। बिलकिस बानो जैसा मामला समाज के लिए भयानक है, लेकिन फिर भी इन दोषियों को रिहा कर दिया गया। इस मामले में गुजरात सरकार का बदइरादा झलकता है, लेकिन केंद्र सरकार भी अपना मुंह नहीं छिपा सकती, क्योंकि उन्होंने खुद इन 11 दोषियों की रिहाई को मंजूरी व सहमति दी थी। महिला कांग्रेस की अध्यक्ष अलका लांबा ने कहा कि जब देश के प्रधानमंत्री 15 अगस्त 2022 को लाल किले से बेटी बचाओ का नारा और आजादी का अमृत महोत्सव मनाने का नारा दे रहे थे, तो उधर गुजरात में बिलकिस बानो के बलात्कारियों की रिहाई हो रही थी। पहले इन बलात्कारियों का स्वागत वीएचपी के दफ्तर में होता है और बाद में भाजपा सांसद और विधायक इनके साथ मंच साझा करते हैं। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा नेताओं को देश की करोड़ों बेटियों से माफी मांगनी चाहिए, क्योंकि भाजपा आज बेनकाब हो चुकी है। अलका लांबा ने कहा कि भाजपा सरकार ने पहले भी सत्ता, संख्या और ताकत के दम पर सुप्रीम कोर्ट के फैसलों को अध्यादेश से संसद में पलटने का काम किया है। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि दो हफ्तों के भीतर बिलकिस बानो के बलात्कारियों को जेल वापस भेज दिया जाए। ऐसे में क्या ये बलात्कारी वापस जेल जाएंगे या भाजपा फिर सत्ता और संख्या के बल पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला पलट देगी और हम इन बलात्कारियों को बाहर घूमते हुए देखेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पूरी वचनबद्धता के साथ इस लड़ाई को मजबूती के साथ कानूनी, सामाजिक और राजनीतिक तौर से लड़ने के लिए पूरी मुस्तैदी से तैयार है।

Related posts

डीसीपी सेंट्रल, दिल्ली श्वेता चौहान ने सुश्री वंदना मीणा को यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा-2021 में उत्तीर्ण होने पर किया सम्मानित।

Ajit Sinha

भाइयों ने अपनी बहन और बहनोई पर चलाई थी ताबड़तोड़ गोलियां, बहनोई की मौत, बहन की हालत गंभीर -दो अरेस्ट

Ajit Sinha

राहुल बोले- भाजपा का देश में एक भाषा, एक धर्म का विचार हिंदुस्तान को विभाजित करने के लिए-वीडियो सुने।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//zuhempih.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x