Athrav – Online News Portal
हरियाणा

चंडीगढ़: प्रदेश में खाद की कोई कमी नहीं , न ही कमी रहेगी- कृषि मंत्री

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
चण्डीगढ: हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जे.पी. दलाल ने कहा कि प्रदेश में किसी भी प्रकार के खाद की कोई कमी नही है और निकट भविष्य में न ही कोई कमी रहेगी। केंद्र सरकार से डीएपी खाद के छः रैक जल्द ही प्रदेश को मिल जाएंगे। कृषि मंत्री ने कहा कि किसान अपनी अगामी फसल की तैयारी करें, उन्हें किसी भी प्रकार की चिंता करने की जरूरत नही है। किसानों को समय पर खाद मिलेगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों को अच्छी मंडिया, योजनाएं दी है और फसलों को एमएसपी रेट पर खरीदा जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों को जैविक खाद का उपयोग करना चाहिए, जिससे उनको मार्किट में फसलों, सब्जियों के अच्छे रेट मिल जाते हैं । उन्होंने कहा कि भारत सरकार से सहयोग लेकर प्रदेश में जैविक खाद को बढ़ाया जाएगा, जिसके लिए प्रदेश की गौशालाओं में गाय के गोबर से जैविक खाद तैयार कर उसको बेचा जाएगा और गौशालाओं की आय भी बढ़ेगी।

उन्होंने ने कहा कि प्रदेश में 2021-22 की रबी फसलों के लिए यूरिया की कुल 11 लाख एमटी की जरूरत है। प्रदेश सरकार के पास आज तक कुल 2 लाख 60 हजार 056 एमटी यूरिया खाद की उपलब्धता है, जिसमें से अब तक 90 हजार एमटी से अधिक खाद किसानों को दिया जा चुका है। जो कि पिछले वर्ष एक अक्तूबर से लेकर 27 अक्तूबर 2020 तक 66 हजार 345 एमटी यूरिया खाद किसानों को दिया जा चुका था।दलाल ने बताया कि प्रदेश में 2021-22 की रबी फसलों के लिए डीएपी खाद की कुल 3 लाख एमटी की जरूरत है। सरकार के पास आज तक एक लाख 38 हजार 356 एमटी डीएपी खाद की उपलब्धता है, जिसमें से अब तक एक लाख 10 हजार 185 एमटी डीएपी खाद किसानों को दिया जा चुका है। जोकि पिछले वर्ष एक अक्तूबर से लेकर 27 अक्तूबर 2020 तक एक लाख 3 हजार 072 एमटी डीएपी खाद किसानों को दिया जा चुका था। कृषि मंत्री ने बताया कि 2021-22 की रबी फसलों के लिए एसएसपी खाद की कुल एक लाख एमटी की जरूरत है। सरकार के पास आज तक 75 हजार 886 एमटी एसएसपी खाद की उपलब्धता है, जिसमें से अब तक 39 हजार 975 एमटी एसएसपी खाद किसानों को दिया जा चुका है। जोकि पिछले वर्ष एक अक्तूबर से लेकर 27 अक्तूबर 2020 तक 13 हजार 380 एमटी एसएसपी खाद किसानों को दिया जा चुका था। इसी प्रकार उन्होंनेे बताया कि 2021-22 की रबी फसलों के लिए एनपीके खाद की कुल 0.50 एमटी की जरूरत है। सरकार के पास आज तक 20 हजार 937 एमटी एनपीके खाद की उपलब्धता है, जिसमें से अब तक 14 हजार 202 एमटी एनपीके खाद किसानों को दिया जा चुका है। जोकि पिछले वर्ष एक अक्तूबर से लेकर 27 अक्तूबर 2020 तक 2 हजार 648 एमटी एनपीके खाद किसानों को दिया जा चुका था। कृषि मंत्री ने कहा कि प्रदेश की मंडियों में अब तक 44.40 लाख एमटी धान आ चुकी है, जिसमें से 43.61 लाख एमटी धान की खरीद की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि 36.85 लाख एमटी धान मंडियों से उठाई जा चुकी है और किसानों की 6200 करोड़ रूपये की राशि दी जा चुकी है। उन्होंनें बताया कि बासमती धान 25 अक्तूबर तक 4.68 लाख एमटी मंडियों में आ चुकी है, जिसमें से 4.56 लाख एमटी धान खरीद की गई।

Related posts

चंडीगढ़ ब्रेकिंग: संपूर्ण कांग्रेस को उदयभान के बयान पर शर्म महसूस करनी चाहिए: ओम प्रकाश धनखड़

Ajit Sinha

सिपाही पेपर लीक मामले में 2 लाख रुपए का इनामी अपराधी को जम्मू से अरेस्ट ,अब तक 34 अरेस्ट हो चुके हैं।

Ajit Sinha

चंडीगढ़ ब्रेकिंग: मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने की बड़ी घोषणा; क्या हैं घोषणा -जानने के लिए पढ़े।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//thechoansa.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x