Athrav – Online News Portal
अपराध दिल्ली नई दिल्ली

भाइयों ने अपनी बहन और बहनोई पर चलाई थी ताबड़तोड़ गोलियां, बहनोई की मौत, बहन की हालत गंभीर -दो अरेस्ट

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
नई दिल्ली: दिल्ली के द्वारका ,सेक्टर -23 में पति-पत्नी की घर में घुस कर ताबड़तोड़ गोलियों की बरसात कर के लहूलुहान करने, पति को मौत के घाट उतारने और पत्नी जानलेवा हमला करने के मामले में दो आरोपितों को द्वारका ,सेक्टर -23 थाने की पुलिस ने अरेस्ट किया हैं। ये दोनों आरोपित घायल किरण दहिया के सगे भाई व चचेरे भाई हैं। इस वारदात को बीते 24 जून 2021 की रात इन आरोपितों ने अंजाम दिया था और खुलासा हुआ हैं कि इस संगीन वारदात में कुल चार लोग शामिल थे। पुलिस अभी इस केस की गंभीरता से जांच चल रही हैं।

पुलिस के मुताबिक बीते 24 जून -2021 को रात करीब 9 बजे थाना सेक्टर-23 द्वारका में अंबरहाई गांव में एक लड़के और एक लड़की को गोली मारने के संबंध में तीन पीसीआर कॉल आए। घटना की जांच करने पर पता चला कि अंबरहाई गांव में एक लड़के और एक लड़की को कुछ लोगों ने उनके किराए के मकान में गोली मार दी थी। घटना में विनय को चार गोलियां लगी और उसकी मौत हो गई ,पत्नी किरण को तीन गोलियां लगी हैं और फिलहाल उनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। पुलिस ने घायल लड़की का बयान दर्ज किया जिसमें उसने आरोप लगाया था कि उसके चचेरे भाई विक्की और उसके साथियों ने उन पर हमला किया था। घटना में थाना सेक्टर- 23 द्वारका में एफआईआर संख्या- 241/21, भारतीय दंड सहिंता की धारा 302/307/120बी/34 आईपीसी  25/27 आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था और जांच की गई थी।

जांच, टीम और गिरफ्तारियां:
 
घटना की गंभीरता को देखते हुए पीएस सेक्टर- 23 द्वारका और एसटीएफ की पुलिस टीमों में इंस्पेक्टर पवन तोमर, इंस्पेक्टर दिनेश राणा, एसआई संदीप, विवेक, वीरेंद्र, चंद्र शेखर योगी, डब्ल्यू / एसआई मंजू, एएसआई रंधावा, धर्मेंद्र और सीटी शामिल हैं। साबरमल, हुकुम, नरेंद्र, धर्मेंद्र और धीरज का गठन इंस्पेक्टर आर श्रीनिवासन (एसएचओ / सेक्टर 23 द्वारका) और  की देखरेख में किया गया था। मामले की जांच में तकनीकी के साथ-साथ मानव बुद्धि भी शामिल थी। टीम ने हमलावरों द्वारा अपनाई गई पहचान और मार्ग को स्थापित करने के लिए कड़ी मेहनत की। इससे पता चला कि हमले में कम से कम चार लोग शामिल थे। दोनों आरोपियों की पहचान अमन (किरण के भाई) और रोहित उर्फ विक्की (किरण के चचेरे भाई) के रूप में हुई है। तकनीकी जांच में कॉल डिटेल रिकॉर्ड्स (सीडीआर) और कई संदिग्ध व्यक्तियों के स्थान का विश्लेषण भी शामिल था। विभिन्न कनेक्टिंग लीड्स को इकट्ठा करने के लिए सोशल मीडिया अकाउंट्स को भी स्कैन किया गया। आरोपी व्यक्तियों के बारे में स्थानीय खुफिया जानकारी भी जुटाई गई थी। पुलिस टीम के निरंतर प्रयासों से आरोपी व्यक्तियों की गिरफ्तारी हुई। 

गिरफ्तार अभियुक्तों से पूछताछ:

गिरफ्तारी के बाद दोनों आरोपितों से गहन पूछताछ की गई। उन्होंने खुलासा किया कि  बीते 24 जून को आरोपी व्यक्तियों ने हथियारों की व्यवस्था की और दो वाहनों से अंबरहाई गांव पहुंचे. उन्होंने पाया कि उस समय दंपति घर पर नहीं थे और हालांकि मुख्य दरवाजा बाहर से बंद था, लेकिन खुला हुआ था। तीन आरोपी व्यक्ति रोहित और ऋतिक और एक अन्य अंदर गए और चौथे को बाहर से दरवाजा बंद करने के लिए कहा। रात करीब साढ़े आठ बजे जब दंपति अपने दरवाजे पर पहुंचे और दरवाजा खोला, तो आरोपियों ने उन पर आग्नेयास्त्रों से हमला कर दिया, जिससे विनय की मौत हो गई और किरण गंभीर रूप से घायल हो गई। घटना के बाद सभी आरोपी रोहतक भाग गए। इसके बाद सभी आरोपित अलग हो गए और फरार हो गए। गिरफ्तार आरोपितों से आगे की पूछताछ की जा रही है। 

Related posts

स्कूल की बिल्डिंग को किराए पर दिए जाने लेकर हुए विवाद में दिव्यांग पर लाठियों से जमकर हमला,पति -पत्नी अरेस्ट

Ajit Sinha

लगातार अगले 3 दिनों तक बैंक रहेंगे बंद, कुछ घंटों में निपटा लें अपना जरूरी काम

Ajit Sinha

अचानक समुद्र के ऊपर तैरने लगा घर, पलक झपकते ही ऐसे उजड़ गई पूरी बस्ती, देखें वायरल वीडियो

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//meenetiy.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x