Athrav – Online News Portal
अपराध दिल्ली नई दिल्ली

पत्नी से पूछ कर किया था इंजिनियर व उसके तीन दोस्तों ने पति का किडनेप, मांगी पांच लाख फिरौती, सकुशल बरामद,अरेस्ट

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
दिल्ली पुलिस के मध्य जिले के दरियागंज थाना पुलिस ने एक अपहरण के मामले को मात्र दो घंटों मेंसुलझा लेने का दावा दिया हैं। अपहरण किए गए शख्स को सकुशल बरामद कर इस मामले में लिप्त चार अपहरणकर्ताओं को भी अरेस्ट कर लिया हैं। ये आरोपित लोग शिकायतकर्ता  महिला से उसके पति को छोड़ने के एवज में पांच लाख रूपए की फिरौती की मांग कर रहे थे। इन आरोपितों के कब्जे से पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल की गई एक कार ,चार मोबाइल फोन,दो जिंदा कारतूस व एक देशी पिस्तौल,दिल्ली सिविल डिफेंस यूनिफॉर्म व नकद 18000 रूपए बरामद किए हैं। इस केस अभी गहनता  से जांच की जा रही हैं।   

पुलिस के मुताबिक बीते 31-1.02.2021 की हस्तक्षेपकारी रात को एक महिला शिकायत कर्ता ने बताया कि वह अपने पति के साथ 3:30 बजे दरिया गंज सबजी मंडी के पास सब्जियां खरीदने के लिए किराए की कैब पर गई थी। वह कैब के अंदर रही जबकि उसका पति सबजी मंडी में गया। कुछ क्षण बाद चार व्यक्ति उसके पास आए और उसने मेरे पति सादिक के बारे में पूछा, उसने बताया कि उसके पति सब्जियों की खरीद के लिए सबजी मंडी के अंदर गए और उन सभी ने उसका मोबाइल फोन लेने की कोशिश की, लेकिन शिकायतकर्ता ने उन्हें अपना मोबाइल नहीं दिया और वह आ गई कैब से बाहर, फिर वह सभी चारों  व्यक्ति सबजी मंडी के अंदर चले गए और जबरन उसके पति को अपने वाहन में ले गए। उसने आगे कहा कि सुबह 5 बजे उसे एक फोन आया, जो सादिक का है और कॉलर ने मेरे पति को रिहा करने के लिए फिरौती के रूप में 5 लाख रुपए लाने के लिए कहा। उसने आगे उन्हें बताया कि वह इस मामले की रिपोर्ट पुलिस को देगी जिसके बाद उन्होंने मोबाइल फोन बंद कर दिया। उन्होंने बार-बार सादिक के मोबाइल फोन से शिकायतकर्ता के मोबाइल फोन पर फोन किया और फिरौती मांगी। उसने आगे कहा कि उन्होंने सादिक के दोस्त सरफराज को 5 लाख रुपए की फिरौती के लिए फोन किया। शिकायतकर्ता के बयान के पर एक मामला भारतीय दंड सहिंता की धारा  364A / 34 IPC पंजीकृत किया गया था और जांच की गई थी।

पुलिस की माने तो जांच के दौरान डीएलएफ अंकुर विहार, गाजियाबाद से 4 आरोपितों को अरेस्ट किया और अपहरणकर्ताओं के चंगुल से सुरक्षित रूप से पीड़ित सादिक को बरामद किया।. मामले में उनसे पूरी तरह से पूछताछ की गई। निरंतर पूछताछ पर उन्होंने अपनी योजना का खुलासा किया। उन्होंने अन्य सह-अभियुक्त व्यक्तियों के नाम का भी खुलासा किया, जो हनी इस अपहरण मामले में मास्टर माइंड हैं। पीड़ित सादिक ने बताया कि उन्हें पंजी कृत एफआईआर नं. 46/2019 भारतीय दंड सहिंता की धारा 384/505/34 IPC ,थाना  नबी करीम हनी के खिलाफ @ Aakash @ सनी जबरन वसूली के लिए जोड़ दिया गया। गिरफ्तार किए गए आरोपितों अर्पित शर्मा निवासी  रोहिणी दिल्ली, उम्र 23 साल, 12 वीं पास, विजय कुमार निवासी लोनी , गाज़ियाबाद, उत्तरप्रदेश12 वीं पास , फरमान निवासी बागपत ,उत्तरप्रदेश , उम्र 22 साल,12 वीं पास   स्वैपनील  निवासी लोनी गाज़ियाबाद , उत्तर प्रदेश , बीटेक , उम्र 26 साल हैं।       

Related posts

महिला नायब तहसीलदार ने तहसीलदार पर मारपीट, छेड़छाड़ और बलात्कार की कोशिश करने का गंभीर आरोप लगाया है।

Ajit Sinha

पुलिस के लिए सिरदर्द और लोगों के बीच आतंक का कारण बना 45 हजार का इनामी बदमाश मुठभेड़ के दौरान पैर में गोली।

Ajit Sinha

फरीदाबाद:ईशानी ज्वैलर्स के मालिक को जान से मारने की धमकी देकर 10 लाख रुपए की फिरौती मांगने के आरोपित अरेस्ट।

Ajit Sinha
//oapsoulreen.net/4/2220576
error: Content is protected !!