Athrav – Online News Portal
हरियाणा

तिगांव कलस्टर और मेवात के सिंगर कलस्टर की 205.20 करोड़ रूपए  की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट को मंजूरी प्रदान की

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
चंडीगढ़: हरियाणा में श्यामा प्रसाद मुखर्जी अर्बन मिशन (एसपीएमआरएम) के तहत तीसरे चरण में फरीदाबाद के तिगांव कलस्टर और मेवात के सिंगर कलस्टर की 205.20 करोड़ रुपये की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट को मंजूरी प्रदान की गई है। हरियाणा की मुख्य सचिव श्रीमती केशनी आनन्द अरोड़ा की अध्यक्षता में आज यहां हुई राज्य स्तरीय अधिकार प्राप्त कमेटी की बैठक में यह मंजूरी दी गई। श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूअर्बन मिशन के तीसरे चरण के लिए स्वीकृत की गई विस्तृत परियोजना रिपोर्ट के अनुसार 23 विभागों द्वारा विकास कार्य किए जाएंगे।

मुख्य सचिव ने बैठक में संबंधित अधिकारियों को मिशन के तहत तीनों चरणों में अनुमोदित परियोजनाओं के कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए गए। बैठक में बताया गया कि केंद्र सरकार द्वारा चलाए जा रहे इस मिशन का मुख्य उद्देश्य गांवों में शहरों जैसी सुविधाएं प्रदान करना है। मिशन के तहत हरियाणा को 10 कलस्टरों में विभाजित किया गया है। पहले चरण में 6 कलस्टर, जिनमें जिला अंबाला के बराड़ा, फतेहाबाद के समैन, जींद के उचाना खुर्द, करनाल के बाला, रेवाड़ी के कौसली शामिल हैं, जिनमें 54.89 करोड़ रुपये के विभिन्न विकास कार्य आरंभ हुए। इसी प्रकार, दूसरे चरण में जिला पंचकूला का गणेशपुर तथा पानीपत के सिवा को शामिल किया गया हैं। इन कलस्टरों में भी 53.88 करोड़ रुपये के विकास कार्य किए जा रहे  हैं। इसी कड़ी में आज तीसरे चरण के फरीदाबाद के तिगांव और मेवात के सिंगर कलस्टर की 205.20 करोड़ रुपये की डीपीआर को मंजूरी प्रदान की गई है। अगले तीन वर्षों में इन कलस्टरों के विकसित होने से आर्थिक गतिविधियों, बुनियादों ढांचों, कौशल विकास तथा क्षेत्रीय उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा। 



बैठक में राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव और वित्तायुक्त श्रीमती नवराज संधू, पशुपालन एवं डेयरी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुनील कुमार गुलाटी, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल, लोक निर्माण (भवन एवं सडकें)विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आलोक निगम, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीमती धीरा खण्डेलवाल, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव देवेंद्र सिंह, वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टी.वी.एस.एन प्रसाद, स्कूल शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव महावीर सिंह, विकास एवं पंचायत विभाग के प्रधान सचिवसुधीर राजपाल, शहरी स्थानीय निकाय विभाग के प्रधान सचिव आनंद मोहन शरण सहित अन्य वरिष्ठï अधिकारी उपस्थित थे। 

Related posts

चंडीगढ़ ब्रेकिंग: नगर निकाय चुनाव को लेकर भाजपा ने तैयार की रणनीति, मंत्रियों की लगाईं ड्यूटी।

Ajit Sinha

जीएसटी इंस्पेक्टर 4 हज़ार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया।

Ajit Sinha

पोस्ट ग्रेजुएशन (पीजी) स्तर पर विज्ञान विषय के चार नए पाठ्यक्रम शुरू करने का निर्णय लिया है।

Ajit Sinha
//teksishe.net/4/2220576
error: Content is protected !!