Athrav – Online News Portal
गुडगाँव

जहां भी विकास होता है सबसे पहले पेड़ों की बलि ली जाती है: राव नरवीर सिंह

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
गुरुग्राम: हरियाणा के लोक निर्माण तथा वन मंत्री ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिए जन सहभागिता अत्यंत आवश्यक है क्योंकि लोगों के सहयोग के बिना पर्यावरण को संरक्षित करना असंभव है। यह बात आज हरियाणा के लोक निर्माण एवं वन मंत्री राव नरबीर सिंह ने गुरुग्राम जिला के गांव झाड़सा में पौधारोपण करने उपरांत उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि जहां भी विकास होता है सबसे पहले पेड़ों की बलि ली जाती है लेकिन जितने पेड़ कटे हम उससे ज्यादा पौधे लगाएं और उनका पोषण करें तभी हमारा पर्यावरण संतुलित रह सकता है.आज गुरुग्राम जिला की गिनती देश के सबसे अधिक प्रदूषित शहरों में की जाती है जो कि काफी निराशाजनक है। जिला को स्वच्छ व सुंदर बनाए रखने के लिए जरूरी है कि यहां अधिक से अधिक पौधारोपण किया जाए ।उन्होंने कहा कि अक्सर हम पेड़ तो लगा लेते हैं लेकिन उनका रखरखाव नहीं करते जिसके कारण वे मर जाते हैं।

इसलिए हम केवल पेड़ लगाने तक सीमित ना रहे बल्कि उसकी परवरिश अपने शिशु की तरह करें।मंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा पॉलीथिन का प्रयोग बैन किया गया है लेकिन जब तक लोग इसका इस्तेमाल बंद नहीं करेंगे तब तक यह हमारे पर्यावरण को प्रदूषित करता रहेगा, इसलिए लोगों को पॉलिथीन का प्रयोग नहीं करना चाहिए और दूसरे लोगों को भी जूट तथा कपड़े के थैलों का इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्लास्टिक व पॉलीथिन पर्यावरण के लिए एक बड़ा खतरा है। विशेषज्ञों के अनुसार पॉलिथीन को गलने में लगभग 450 साल का समय लगता है। पॉलिथीन को जलाने पर इसमें से जहरीली गैस निकलती है जो पर्यावरण को प्रदूषित करती है। उन्होंने कहा कि जनसाधारण को पॉलीथिन का प्रयोग बंद करना होगा तभी प्रदूषण के स्तर को नीचे लाया जा सकता है। राव नरबीर सिंह ने कहा कि गुरुग्राम जिला में समृद्ध व संपन्न लोग हैं जहां शादी ब्याह के कार्ड छपवाने पर हजारों रुपए खर्च किए जाते हैं। उन्होंने कहा कि कागज से बनने वाले इन कार्डो के लिए पेड़ काटे जाते हैं।



यदि हम शादी ब्याह में कार्डों का इस्तेमाल बंद कर दें और अपने परिचितों को मोबाइल से मैसेज आदि करके आमंत्रित करें तो पेड़ों की कटाई को काफी हद तक कम किया जा सकता है। बलबीर सिंह ने अपने घर देते हुए कहा कि उन्होंने अपने बेटे तथा बेटी की शादी में एक भी निमंत्रण कार्ड नहीं छपवाया । उन्होंने कहा कि जब हम दुख भरे समाचार मैसेज आदि से दे सकते हैं तो शुभ संदेश भी मैसेज करके दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि हमें अपने परिचितों व संबंधियों के जन्मदिवस पर पौधारोपण अवश्य करना चाहिए और समय-समय पर इसकी देखरेख करनी चाहिए। वन मंत्री ने कहा कि यह हमारा सौभाग्य है कि अरावली पर्वत श्रंखला हमारे प्रदेश में है और यदि कोई एनजीओ इस पर्वत श्रंखला के आसपास पौधारोपण करना चाहे तो राज्य सरकार उसका स्वागत करती है। उन्होंने कहा कि वन विभाग के पदाधिकारियों को इस बारे में दिशा-निर्देश दिए जा चुके हैं और यदि कोई संस्था पौधारोपण के लिए आगे आती है तो उसके साथ पौधारोपण को लेकर एमओयू भी किया जा सकता है। झाड़सा में आयोजित कार्यक्रम में वन मंत्री ने उपायुक्त अमित खत्री व अन्य लोगों के साथ मिलकर पौधारोपण किया। इस अवसर पर मंत्री के साथ उपायुक्त अमित खत्री, पार्षद कुलदीप यादव व राकेश यादव, समाजसेवी श्वेता व नीना सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Related posts

अपराध शाखा,सेक्टर -10 और बदमाश के बीच हुई मुठभेड़, पुलिस की लगी गोली से बदमाश हुआ गंभीर से घायल।

Ajit Sinha

जिला प्रशासन की अगुवाई में एनडीआरएफ ने नया गांव स्थित इंडियन ऑयल के एलपीजी प्लांट में करवाई मॉक ड्रिल

Ajit Sinha

इंश्योरेंस के नाम पर ठगी करने वाले फर्जी कॉल सैन्टर का भन्डाफोङ, मालिक व कॉलर सहित 4 अरेस्ट ।

Ajit Sinha
//kaushooptawo.net/4/2220576
error: Content is protected !!