Athrav – Online News Portal
दिल्ली नई दिल्ली राजनीतिक राष्ट्रीय

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने असम की जनता से प्रदेश के विकास के लिए पुनः भारी बहुमत से बीजेपी की सरकार बनाने का आह्वान किया।

नई दिल्ली/ अजीत सिन्हा  
गृह मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अमित शाह ने आज असम के कोकराझार में आयोजित प्रथम बीटीआर एकॉर्ड डे समारोह एवं नलबारी में आयोजित विजय संकल्प समावेश में विशाल जन-समूह को संबोधित किया और असम की जनता से प्रदेश के विकास के लिए पुनः भारी बहुमत से भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने का आह्वान किया। बता दें कि बोडोलैंड टेरिटोरियल रीजन (बीटीआर) एकॉर्ड बीते साल 27 जनवरी को केंद्र सरकार, असम राज्य सरकार और बोडो स्टेकहोल्डर्स के बीच हुई थी। ज्ञात हो कि केंद्रीय गृह मंत्री दो दिवसीय प्रवास पर असम में हैं। कल, शनिवार को उन्होंने ‘आयुष्मान सीएपीएफ' योजना की शुरुआत की थी। इस योजना के तहत भारत के सभी सशस्त्र पुलिस बलों के कर्मियों को केन्द्रीय स्वास्थ्य बीमा का लाभ मिल सकेगा। कार्यक्रम में असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष रणजीत दास, प्रदेश के

स्वास्थ्य मंत्री एवं नेडा के चेयरमेन हिमंता बिस्वसरमा,पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं असम के प्रभारी बैजयंत पांडा,पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं सांसद दिलीप सैकिया सहित पार्टी विधायक, मंत्री, पदाधिकारी एवं विशाल संख्या में जन-समूह उपस्थित थे। बीटीआर एकॉर्ड डे समारोह में यूनाईटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल के प्रमुख प्रमोद बोरो भी उपस्थित थे। प्रथम बीटीआर एकॉर्ड डे समारोह को संबोधित करते हुए श्री शाह ने कहा कि मुझे कहते हुए खुशी हो रही है कि आज से ठीक एक वर्ष पहले देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में बोडो शांति समझौता हुआ था और इस शांति समझौते के साथ ही प्रधानमंत्री ने संदेश दिया था कि उत्तर पूर्व में जहां-जहां अशांति है, वहां बातचीत कीजिए और शांति का मार्ग प्रशस्त कीजिए। वर्षों से चली आ रही जिस समस्या ने 5,000 से ज्यादा लोगों की जान ली, वो समस्या आज मोदी जी के दृढ़ निश्चय, मार्गदर्शन और हमारे प्रमोद बोरो के इनिशिएटिव के कारण शांत हो गई है। आने वाले अनेक वर्षों तक हमारा बोडो क्षेत्र विकास के रास्ते पर आगे चल पड़ेगा। बीटीसी का का चुनाव भी खत्म हो गया है और शांति के एक नए युग की शुरुआत हुई है। शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में आजादी के समय से ही चली आ रही समस्याओं का शांतिपूर्वक समाधान हुआ है। धारा 370 ख़त्म हुआ, श्रीराम जन्मभूमि विवाद का समाधान होकर भव्य श्रीराम मंदिर का शिलान्यास हुआ और असम में भी शांति समझौते के साथ-साथ ब्रू रियांग समस्या का समाधान हुआ। कांग्रेस पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस, केरल में तो मुस्लिम लीग के साथ बैठी है जबकि असम में वह बदरुद्दीन अजमल के साथ कथित गठबंधन में है। समझ में नहीं आता कि कांग्रेस असम को किस दिशा में ले जाना चाहती है। कांग्रेस और बदरुद्दीन अजमल के हाथों क्या असम सुरक्षित रह सकता है? यदि असम को सुरक्षित और समृद्ध बनाना है तो राज्य में भी भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनानी होगी।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कांग्रेस पर निशाना साधाते हुए कहा कि जो कांग्रेस पार्टी अपने कार्यकाल में शांति और विकास नहीं ला सकी, वो आज हमें सलाह दे रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपने शासन में हमेशा एक दूसरे को आपस में लड़वाने का काम किया। अंग्रेज तो देश से चले गए लेकिन कांग्रेस ने अंग्रेजों की नीति ‘फूट डालो, शासन करो की नीति को अपना लिया। आदिवास-गैर आदिवासी, बोडो-गैर बोडो, असमी-गैर असमी समाज को कांग्रेस
भड़का कर अपनी राजनीति चमकाती रही जिसके कारण असम 20 वर्षों तक रक्तरंजित रहा। कांग्रेस के शासनकाल में असम में आंदोलनकारी युवाओं पर गोलियां चलवाई गई। भला ऐसी कांग्रेस असम का क्या भला करेगी? उन्होंने कहा कि आज चोला बदल कर कांग्रेस की सहायता के लिए आंदोलन चलाया जा रहा है। ऐसे लोगों को असम की जनता जान लें, इनके मन में असम का हित नहीं है। इनका एक ही मकसद कांग्रेस को आगे बढ़ाना है लेकिन असम और असम की जनता ने कांग्रेस का को नकार दिया है, अब वह विकास के रास्ते पर चल चुकी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने असम की शांति और विकास के लिए कुछ भी नहीं किया, जो भी किया. नरेन्द्र मोद भारतीय जनता पार्टी सरकार ने किया। उन्होंने कहा कि बोडो शांति समझौते के बाद ब्रू-रियांग समझौते का प्रयास किया गया। 8 अलग-अलग उग्रवादी समूहों ने हथियार डालकर शांति का रास्ता चुना। ये सारी प्रक्रिया विकास के रास्ते में हमें ले जाने वाली है। शाह ने कहा कि बोडो और गैर-बोडो दोनों भारत माता के पुत्र हैं। मेरे राजनीतिक जीवन में मैंने बहुत रैलियां देखी,मगर आज इस रैली को संबोधित करते हुए मेरे मन को अपार शांति का अनुभव हो रहा है। उन्होंने कहा कि हमने बोडो भाषा को सम्मान देने का हमने वादा किया था। असम सरकार ने असम की सह-राज्य भाषा का दर्जा बोडो भाषा को देकर आज वर्षों पुरानी मांग पूरा कर दिया है। बोडो माध्यम के स्कूल खोलने के लिए अलग निदेशालय स्थापित कर दिया गया है। बोडो जनजाति के हर अधिकार को, संस्कृति को, बोडो भाषा को हम सुरक्षित भी रखेंगे,इसका संवर्धन भी करेंगे और इसे आगे भी बढ़ाएंगे। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि असम की भाषा और संस्कृति की रक्षा करने के लिए भारतीय जनता पार्टी कटिबद्ध है। उन्होंने विश्वास दिलाते हुए कहा कि बीटीआर एकॉर्ड के सभी नियमों का पालन किया जाएगा।

कांग्रेस पर हमला करते हुए वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा कि विगत पांच वर्षों में असम में जो विकास हुआ है, वह पिछले 70 सालों में नहीं हो पाया। उन्होंने कहा कि मुझे ये घोषणा करते हुए बहुत आनंद हो रहा है कि 500 करोड़ रुपये सिर्फ बोडो क्षेत्र के रोड नेटवर्क के लिए आवंटित किए गए हैं। ये रोड का जाल आने वाले कई वर्षों तक समस्त बोडो क्षेत्र को विकास के रास्ते पर ले जाएगा। उन्होंने कहा कि आत्मसमर्पण करने वाले सभी शरणार्थियों को 4 लाख रुपये की जो आर्थिक सहायता देनी थी, उसकी भी आज चेक के माध्यम से आपके सामने देने की शुरुआत भारतीय जनता पार्टी सरकार ने की है। बीटीसी चुनाव को सेमीफाइनल बताते हुए उन्होंने कहा कि सेमीफाइनल की तरह ही फाइनल मैच भी जीतना है। उन्होंने कहा कि गैंडा असम की शान है लेकिन काजीरंगा में घुसपैठ के कारण गैंडों का सफाया हो रहा था। भाजपा की सोनोवाल सरकार ने काजीरंगा से घुसपैठियों का सफाया कर गैंडों
की हत्या पर रोक लगाई। शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में असम में भाजपा की सर्बानंद सोनोवाल सरकार विकास के नए आयाम गढ़ रही है। विगत चार वर्षों में राज्य में लगभग 20,000 किमी सड़कों का निर्माण हुआ है, ब्रह्मपुत्र नदी पर 6 बड़े पुलों का निर्माण हुआ है और तेल क्षेत्र के विकास के लिए राज्य में लगभग 46,000 करोड़ रुपये का निवेश किया गया है। गुवाहाटी हवाई अड्डे पर नया टर्मिनल बन रहा है। असम में नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ डिजाईन आ रही है, फ़ूड पार्क एवं मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक पार्क बन रहा है और भारतीय कृषि अनुसंधान प्रतिष्टान केंद्र का भी निर्माण हो रहा है। अभी कल ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने असम में एक लाख 6 हजार लोगों को जमीन का पट्टा देकर उन्हें भूमि का मालिकाना हक प्रदान किया है। प्रदेश में निरंतर नए रास्ते बन रहे हैं, अस्पताल बन रहे हैं और शौचालयों का निर्माण हो रहा है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की राज्य सरकार, असम की सबसे बड़ी बाढ़ की समस्या का भी समाधान करेगी। उन्होंने पांच साल के एक और कार्यकाल का आशीर्वाद मांगते हुए असम की जनता को आश्वासन दिया कि जिस तरह हमने असम को गोली मुक्त और आंदोलन मुक्त बनाया है, उसी तरह हम असम को बाढ़ मुक्त भी करायेंगे। उन्होंने कहा कि कोविड के दौरान भी असम ने काफी अच्छी लड़ाई लड़ी। असम में कोविड मृत्यु दर घट कर 0.47% पर आ गई है जबकि रिकवरी रेट लगभग 98% हो गई है। उन्होंने कहा कि चाय बागान में काम करने वाले लगभग 7.20 लाख मजदूरों के बैंक अकाउंट खोले गए हैं और 26 जिलों के 7.20 लाख लोगों को 5,000 की आर्थिक सहायता दी गई है।

उन्होंने कहा कि चाय बगान में काम करने वाली महिलाओं की गर्भावस्था सहायता के लिए राज्य की भाजपा सरकार ने पांच-पांच हजार रुपये दिए हैं। मैं आपको विश्वास दिलाता हूँ कि राज्य की भाजपा सरकार चाय बगान में काम करने वाली महिलाओं के लिए शिक्षा, आवास और स्वास्थ्य का भी उचित प्रबंध करेगी। कांग्रेस पर हमला करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि मैं कांग्रेस से पूछना चाहता हूँ कि जब असम में बदरुद्दीन अजमल के सहयोग से 15 वर्षों तक उनकी सरकार चल रही थी और केंद्र में भी 10 वर्षों तक कांग्रेस की सरकार रही तो उन्होंने असम के विकास के लिए क्या किया? 13वें वित्त आयोग के दौरान कांग्रेस शासन में असम के विकास के लिए महज 79,000 करोड़ रुपये दिए गए जबकि मोदी सरकार के दौरान 14वें वित्त आयोग में प्रदेश को 1,55,292 करोड़ रुपये दिए गए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के समय असम को रॉयल्टी के 8,000 करोड़ रुपये नहीं मिलते थे जबकि तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह असम का ही प्रतिनिधित्व करते थे। मोदी सरकार बनते ही असम को उसके हक़ का 8,000 करोड़ रुपया मिलने लगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने असम में अपने 15 साल के शासन में चाय बगान में काम करने वाले मजदूरों के वेतन को बढ़ाने के लिए कुछ भी नहीं किया लेकिन आज वह इसके लिए आंदोलन कर रही है। मैं कांग्रेस को कहना चाहता हूँ कि आप मगर के आंसू मत बहाइये। आपके शासन
में इन मजदूरों की क्या स्थिति थे, इससे असम की जनता भलीभांति परिचित है। भारतीय जनता पार्टी वादा करती है कि उचित समय चाय बगान में काम करने वाले मजदूरों के वेतन की समस्या का भी समाधान करेगी। शाह ने कहा कि राज्य में भ्रष्टाचार, घुसपैठ और आतंकवाद मुक्त सरकार केवल भारतीय जनता पार्टी ही दे सकती है। भ्रष्टाचार मुक्त, घुसपैठिये मुक्त, आतंकवाद से मुक्त और प्रदूषण से मुक्त असम अगर बनाना है तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के मार्गदर्शन में असम में पुनः पूर्ण बहुमत से भारतीय जनता पार्टी नीत एनडीए की सरकार बनाइये।

Related posts

कांग्रेस पार्टी ने आज तुरंत प्रभाव से हरियाणा प्रदेश में महत्वपूर्ण नियुक्तियां की हैं -लिस्ट पढ़े।

Ajit Sinha

लाॅक डाउन को 3 मई तक बढ़ाने का फैसला सही, लाॅक डाउन का सही से पालन करते हैं, तो कोरोना से मुक्ति मिल जाएगी: अरविंद केजरीवाल

Ajit Sinha

फरीदाबाद: श्रेष्ठ कार्य के लिए जीवन समर्पित करना सीखें: धनखड़

Ajit Sinha
//abmismagiusom.com/4/2220576
error: Content is protected !!