Athrav – Online News Portal
अपराध गुडगाँव

छह डकैतों को गिरफ्तार कर लूटी गई एक किलो 875 ग्राम सोना, एक किलो 218 चांदी, हीरे के आभूषण सहित अन्य सामान बरामद किए हैं।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
गुरुग्राम: घर में घुसकर महिला व बच्चे को बंधक बना कर घर से जेवरात व नगदी की डैकती करने की वारदात को अन्जाम देने के मामले में और 2 आरोपितों  को अपराध शाखा, सैक्टर-40 की पुलिस टीम ने गिरफ्तार किया हैं। पुलिस की माने तो इस गिरोह के मुखिया ने फर्जी नाम से पीड़ित के घर में नौकर बना कर भेजा था। फिर डकैती की वारदात को दिया था अंजाम। इस डकैती में लूटे गए 1 किलो 875 ग्राम सोना (गोल्ड),1 किलो 218 ग्राम चांदी के आभूषण,डायमंड,1 लाख 10 हजार रुपयों की नगदी व लूट के पैसों से खरीदी गई1 मोटरसाईकिल पुलिस ने बरामद किए हैं। यह खुलासा एसीपी क्राइम प्रीतपाल सांगवान ने शुक्रवार को आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में किए हैं। 

एसीपी क्राइम प्रीतपाल सांगवान ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि बीते 6 मार्च 2020 को पुलिस कंट्रोल रूम से थाना सैक्टर-40 में एक सूचना मिली कि मकान नंबर- 1008, सैक्टर – 45, गुरुग्राम में डकैतों ने महिला और बच्चों को बंधक बना करा  घर से करोड़ों के जेवरात व नगदी लूट कर ले गए हैं। इस सूचना पर थाना सैक्टर-40 की पुलिस टीम ने तुरंत घटना स्थल पर पहुँच गई, जहां पर श्रीमती स्नेह गुप्ता निवासी सैक्टर-45, मकान नंबर 1008  ने एक लिखित शिकायत के माध्यम से बतलाया कि उसने  तीन दिन पहले ही घर में काम करने के लिए  एक नौकर रखा था जिसने अपना नाम राजू , निवासी कानपुरबताया था। राजू  बीते 4 मार्च 2020 की सुबह लगभग 7 बजे काम पर आया था। 6 मार्च 2020 को राजू  नौकर लगभग 8 बजे सुबह काम पर उनके  घर पर आया था और उसके  द्वारा बताए गए काम पर लग गया। उनके  परिवार के सदस्य अपने-2 काम से लगभग 11 बजे सुबह घर से चले गए । उनका कहना हैं कि वह  व उनका  6 वर्षीय पोता घर पर ही थे। राजू  नौकर ने उनसे  कहा कि बाहर खडी गाडी चली गई है, वह बाहर की सफाई करने जा रहा है। इतनी देर में एक के बाद एक 3 लडके अन्दर कमरे में उनके  पास आए और तुरन्त तीनों लडको ने उसे  व उसके  पोते को कपड़े की डोरी से हाथ एवं पैर बाँध दिए । उसने  राजू  को आवाज लगाई तो तीनों लडको ने चुप रहने को कहा। यह डर की वजह से चुप रही और तीनों लडको ने मिलकर कमरे की अलमारी से नगद रूपए,सोने एंव हीरे के जेवरात ,सोने एंव चाँदी के सिक्के एंव चाँदी के बर्तन अपने साथ लाए  दो काले बैगों में डाल लिए एंव एक लाल बैग मेरे गहने उतार कर उसमें  डाल लिए उसी समय राजू अन्दर आया और राजू सहित तीनो लड़कों ने बैगो को सामान सहित लेकर भाग गए। उसने अपने आप को बडी मुश्किल से खोला, उसके बाद उन्होनें अपने पोते को खोला और बाहर जाकर राह चलते बाईक वाले से फोन लेकर अपने बेटे अनुराग गुप्ता को सारी घटना बताई उसके बाद पुलिस को 100 नंबर पर सूचना  दी। 
उनका कहना हैं कि इस शिकायत पर थाना सेक्टर -40 में कानून के उचित धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया था।

इस केस  में तत्परता से कार्रवाई  करते हुए अपराध शाखा, सैक्टर-40,  की पुलिस टीम ने  अपने गुप्त सूत्रों की सहायता से, पुलिस प्रणाली, पुलिस तकनीकी का इस्तेमाल करते हुए व अपनी समझबूझ से उपरोक्त केस  में महिला व बच्चे को बंधक बनाकर घर के अंदर से नगदी व ज्वेलरी ले जाने की वारदात को अंजाम देने वाले  4 डकैतों  को  12 मार्च 2020 को गोंडा, उत्तर-प्रदेश से गिरफ्तार किए हैं। गिरफ्तार किए गए डकैतों के नाम राम  कृपाल  निवासी गांव बिरवाखास, थाना कोडिया, जिला गोंडा, उत्तर प्रदेश, जवाहर पांडे उर्फ बछउ पांडे  निवासी गांव बजार थाना कोडिया, जिला गोंडा उत्तर प्रदेश, उम्र 30 वर्ष,  रामचेला उर्फ विक्रम  निवासी गांव करोली थाना कोडिया, जिला गोंडा उत्तर प्रदेश, उम्र 19 वर्ष व व  संतोष उर्फ जितेंद्र  निवासी गांव भसाह, थाना कोडिया, जिला गोंडा उत्तर प्रदेश, उम्र 22 वर्ष हैं। उनका कहना हैं कि सभी डकैतों को 13 मार्च को अदालत के सम्मुख पेश कर 8 दिनों के पुलिस रिमांड पर लिया गया था। उनका कहना हैं कि पुलिस पूछताछ में उपरोक्त आरोपितों  से ज्ञात हुआ था कि आरोपित (जवाहर पांडे,  रामचेला, संतोष) ने अपने एक अन्य साथी के साथ मिलकर डकैती की योजना बनाई कि उनका एक साथी मकान में काम करने के लिए नौकर का काम करने के लिए जाएगा और मकान में रखे जेवरात व नगदी के ठिकाने देखे, उसके बाद मौका पाकर वे वहां से सामान लेकर भाग जाएंगे। योजनानुसार उपरोक्त तीनों अरोपियों (जवाहर पांडे,  रामचेला, संतोष) ने अपने एक अन्य साथी को उपरोक्त केस में शिकायतकर्ता के घर में नौकर बनाकर भेजा, जिसने अपना नाम राजू (फर्जी नाम) बताया। अपने साथी राजू नौकर के कहने पर उपरोक्त अरोपियों (जवाहर पांडे,  रामचेला, संतोष) ने घर मे घुसकर मकान में उपस्थित बुजुर्ग महिला  व उसके पोते को बांधकर घर मे से ज्वेलरी व नगदी लेकर भाग गए थे।

उनका कहना हैं कि आरोपितों  द्वारा उपरोक्त केस की वारदात को अंजाम देने के बाद  अपने साथी रामकृपाल से संपर्क किया, जिसने उन्हें ठहरने के लिए स्थान व डैकती करके ले जाया गया और समान रखने की सलाह देते हुए सहायता की थी। पूछताछ में यह भी ज्ञात हुआ था कि इस मामले में इस गिरोह का सरगना जवाहर पांडेय उपरोक्त है जिसके विरूद्ध दिल्ली, पंजाब, उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों में लूट वा इसी प्रकार की डैकती करने की वारदातों को अंजाम देने के कई मामले दर्ज हैं। उनका कहना हैं कि इस केस में आगामी कार्रवाई  करते हुए अपराध शाखा, सैक्टर-40, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने  वारदात को अन्जाम देने में शामिल उपरोक्त आरोपी जवाहर पांडे की पत्नी सहित 1 अन्य निम्नलिखित आरोपी को गिरफ्तार किया गया है का नाम कुलदीप उर्फ ददुउ  निवासी बाजार ढिया, थाना कोडिया, जिला गोंडा, उत्तर-प्रदेश व  महिला आरोपित व उक्त आरोपी कुलदीप द्वारा इनके उपरोक्त साथियों द्वारा इस केस  में डैकती की वारदात करके लूटी ज्वैलरी व समान को अपने पास रखने व छुपाने की वारदात को अंजाम दिया था उपरोक्त सभी आरोपितों  से पुलिस पूछताछ में यह भी ज्ञात हुआ कि  आरोपी *जवाहर पांडे की गिरफ्तारी पर दिल्ली में 20 हजार रुपयों का ईनाम भी घोषित किया हुआ है। उनका कहना हैं कि आरोपी जवाहर पांडे  अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर इस केस सहित दिल्ली, गोंडा  (उत्तर-प्रदेश) व गुरूग्राम में लूट, हथियार के बल पर लूट, मारपीट करके, हत्या का प्रयास, डैकती व चोरी के कुल 6 केस  अंकित है।  उपरोक्त आरोपितों  द्वारा उपरोक्त केस  में *डैकती करके लूटी गई ज्वैलरी में से 1 किलो 875 ग्राम गोल्ड, 1 किलो 218 ग्राम चांदी (सिल्वर) के आभूषण, डायमंड, 1 लाख 10 हजार रुपयों की नगदी व लूटे गई नगदी से खरीदी गई 1 मोटरसाईकिल (अपाचे) पुलिस टीम ने आरोपितों  की निशानदेही पर  बरामद किए गए* है।
‍ 

Related posts

फरीदाबाद: गिरफ्तार 25000 रूपए के इनामी तीनों आरोपितों ने रंजिश के चलते आलोक की हत्या की थी-एसीपी क्राइम

Ajit Sinha

चंडीगढ़ ब्रेकिंग: जमानत दिलवाने की एवज में 7,000 रुपये की रिश्वत लेता सब-इंस्पेक्टर रंगे हाथ अरेस्ट।

Ajit Sinha

गुरुग्राम: कोरोना संक्रमण की गति कम हुई लेकिन अभी भी सचेत रहने की जरूरत-डीसी

Ajit Sinha
//mirsuwoaw.com/4/2220576
error: Content is protected !!