Athrav – Online News Portal
Uncategorized राष्ट्रीय

चावल के निर्यात में पाक से पिछड़ सकता है भारत

 संवाददाता, नई दिल्ली। पाकिस्तान को बासमती चावल का निर्यात करने में भारत पिछड़ सकता है। दरअसल, ईरान ने अपना निर्यात मूल्य 850 डॉलर प्रति टन पर फिक्स कर दिया है। माल ढुलाई की लागत अधिक होने के कारण भारतीय आपूर्तिकर्ताओं के लिए ऐसा करना व्यवहारिक नहीं है। ईरान चावल के आयात के लिए परमिट को फिर से शुरू करने के लिए तैयार है, लेकिन इस बात से भारतीय व्यापारी और अधिकारी परेशान हैं। परोक्ष रूप से पाकिस्तान को इसका फायदा होगा क्योंकि यह ईरान के करीब स्थित है।

ईरान के लिए अपनी निकटता की वजह से पाकिस्तान को फायदा होगा। कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण के एक अधिकारी ने कहा कि हमारे लिए परिवहन लागत अधिक है। भारतीय निर्यातकों ने मांग की है कि ईरान को प्रति टन कम से कम 900 डॉलर कीमत तय करनी चाहिए, ताकि वे व्यापार को किफायती बना सकें। अखिल भारतीय चावल निर्यातक संघ के अध्यक्ष मोहिंदर पाल जिंदल ने कहा कि पाकिस्तान, ईरान के नजदीक हो सकता है, मगर उसके पास निर्यात करने के लिए चावल नहीं हैं। उन्होंने विश्वास जताया कि है कि ईरानी कंपनियां इस बात को समझेंगी कि भारत में पिछले साल की तुलना में 20 से 30 फीसद कम फसल पैदा हुई है। ऐसे में 925 डॉलर से कम में चावल की बिक्री व्यवहार्य नहीं है।

Related posts

सोनिया गांधी और मल्लिकार्जुन खड़गे ने आज पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती पर उन्हें पुष्प चढ़ा श्रद्धांजलि अर्पित की।

Ajit Sinha

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जे पी नड्डा ने रोड शो किया।

Ajit Sinha

खेल मंत्री श्री विजय गोयल ने गुजरात के गांधीनगर में पैरा एथलीटों के लिए पहले प्रशिक्षण केंद्र की आधारशिला रखी

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//geejetag.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x