Athrav – Online News Portal
अपराध नोएडा वीडियो

जेल से जिस्मफरोशी का रैकेट चला रही सोनू पंजाबन के भाई समेत 2 आरोपितों को पुलिस ने किया गिरफ्तार-देखें वीडियो

अरविंद उत्तम की रिपोर्ट 
नॉएडा: दिल्ली-एनसीआर  में जिस्मफरोशी का रैकेट चलाने वाली और नाबालिग लड़कियों को देह व्यापार में धकेलने की आरोपी सोनू पंजाबन भले ही जेल में हो, लेकिन उसका वो गंदा धंधा, उसके रिश्तेदार और जानकार चला रहे है। सोनू पंजाबन जेल के अंदर से अपने सेक्स रैकेट के धंधे को आपरेट रही थी, बाहर उसका भाई अन्य लोगो सहायता से एस्कॉर्ट सर्विस के नाम पर लोगों से धोखाधड़ी कर रहा था। नोएडा थाना -58 पुलिस ने सोनू पंजाबन के भाई और उसके साथी को ऑनलाइन स्पा के नाम पर लोगों से ठगी और लूटपाट करने के  आरोप में गिरफ्तार किया है। वारदात के लिए इस्तेमाल की गई सेन्ट्रों कार और मोबाइल और नगदी बरामद किया है 

पुलिस की गिरफ्त में जेल ले संजय उर्फ शान तथा अर्जुन नाम के दोनों आरोपी को सैक्टर 58 थाने की पुलिस ने ऑन लाइन पोटल के माध्यम से एस्कॉर्ट सर्विस चला कर लोगों से धोखाधड़ी करने के आरोप में पकड़ा है। एडिशनल डीसीपी नोएडा (जोन प्रथम) रणविजय सिंह के मुताबिक,ललित गुप्ता ने थाना सेक्टर-58 में रविवार की रात को रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि 2 सितंबर को उन्होंने एक वेबसाइट के माध्यम से स्पा के लिए ऑनलाइन बुकिंग की थी और आरोपियों ने उनसे ठगी और लूटपाट की। घटना की रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच कर रही थाना सेक्टर-58 पुलिस ने संजय उर्फ शान तथा अर्जुन नामक दो लोगों को सोमवार को गिरफ्तार किया है। एडिशनल डीसीपी ने बताया की गिरफ्तार आरोपियों के फोन के माध्यम से पुलिस को पता चला है कि ये लोग ऑनलाइन स्पा के नाम पर कॉलगर्ल रैकेट चलाते थे तथा लड़की को अकेले लेने आए लोगों के साथ मारपीट कर लूटपाट भी करते थे। पूछताछ में इन्होंने बताया कि ये लोग सोनू पंजाबन के लिए एस्कॉर्ट सर्विसेज का धंधा कर रहे हैं और इस धंधे की आड़ में लोगों के साथ ठगी और लूट की वारदात को अंजाम दे रहे हैं।

रणविजय सिंह के मुताबिक इन लोगों ने अपनी गैंग में सोनू से जुड़ी लड़कियों को भी शामिल कर रखा था. गैंग से जुड़े लोग पहले अलग-अलग वेब पोर्टल पर एस्कोर्ट सर्विस के नाम से ऐड देते थे, जिसमे कुछ नामी वेब पोर्टल भी शामिल हैं. जब कोई कस्टमर इन्हें फ़ोन करता था, तब ये उसे नोएडा के सुनसान इलाके में बुलाते थे और उस शख्स को लड़की दिखाकर एडवांस लेते थे. जब डील पूरी तरह से हो जाती तो लड़की इसी दौरान झगड़ा कर के वहां से निकल जाती थी और ये भी फरार हो जाते थे।पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया और गिरोह के अन्य सदस्यो की तलाश कर रही है।

Related posts

फरीदाबाद: लक्की ड्रॉ के नाम पर 100 से अधिक लोगों को ठगने वाले बंटी -बबली सहित चार आरोपितों को पुलिस ने किया अरेस्ट

Ajit Sinha

चंडीगढ़ ब्रेकिंग: आईसीजेएस-सीसीटीएनएस परियोजना में प्रगति डैशबोर्ड पर हरियाणा पुलिस रही प्रथम।

Ajit Sinha

दोस्त को मारने के लिए यूट्यूब से सीखा देशी बम बनाने का तरीका, थैले में रखकर कर दिया विस्फोट, अरेस्ट।

Ajit Sinha
//dubzenom.com/4/2220576
error: Content is protected !!