Athrav – Online News Portal
दिल्ली नई दिल्ली

डीएल बनवाने के लिए अब रात में भी ड्राइविंग टेस्ट दे सकेंगे दिल्ली वाले

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
नई दिल्ली:दिन में ड्यूटी करने वाले दिल्ली वाले ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए अब रात में भी ड्राइविंग टेस्ट दे सकेंगे। ऐसे कामकाजी लोगों की समस्याओं का समाधान करते हुए केजरीवाल सरकार ने एक अच्छी पहल करते हुए नाइट शिफ्ट में भी ऑटोमेटिक ड्राइविंग टेस्ट ट्रेक शुरुआत की है। अब दिन में ड्यूटी करने वाले लोग ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए रात में भी ड्राइविंग टेस्ट दे पाएंगे। इसके लिए केजरीवाल सरकार ने अभी 3  ऑटो मेटिक ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक की शुरुआत कर दी है।दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने शकूरबस्ती, मयूर विहार और विश्वास नगर में नाइट टेस्ट के लिए स्थापित ऑटोमेटिक ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक का आज अनावरण किया। अब यहां ड्राइविंग टेस्ट देने वाले दिल्ली के लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस जारी किया जा सकेगा। केजरीवाल सरकार ने अप्रैल माह में मयूर विहार और विश्वास नगर में ऑटोमेटिक ड्राइविंग टेस्ट ट्रेक का  ट्रायल शुरू किया था, जिसकी सफलता के बाद आज परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने औपचारिक उद्घाटन किया है।

उद्घाटन अवसर पर परिवहन मंत्री  कैलाश गहलोत ने कहा कि केजरीवाल सरकार हमेशा जनता की मांगों के प्रति उत्तरदायी रही है और हम नागरिकों को सर्वोत्तम सेवा प्रदान करने के लिए सफल परीक्षण कर रहे है। मई से पायलट के तहत ड्राइवर टेस्ट उपलब्ध हैं, जहां लोग नाइट शिफ्ट में ड्राइविंग टेस्ट की सुविधा का लाभ उठाकर अपने समय को बचा सकते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार एक मई से नाइट शिफ्ट (शाम/रात की पाली) में पहले ही 2500 से अधिक ड्राइविंग लाइसेंस के लिए टेस्ट कर चुकी हैं। हम लगातार नाइट शिफ्ट की निगरानी कर रहे हैं और अधिकतम दक्षता सुनिश्चित करने के लिए प्लाइट, कैमरा रिज़ॉल्यूशन आदि जैसे सुधार कर रहे हैं। रात के टेस्ट की सुविधा दिन के समय जितनी ही अच्छी है।

हम शिक्षण संस्थानों में 8 नए एडीटीटी भी जोड़ रहे हैं, जो अभी निविदा की चरण में है। प्रतीक्षा समय कम करने की दिशा में यह एक बड़ा कदम होगा। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने बताया कि विभाग ने 12 ऑटोमेटिक ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक स्थापित करने के लिए मारुति सुज़ुकी फाउंडेशन को जिम्मेदारी दी गई है। इसके साथ ही सभी 12 ऑटोमेटिक ड्राइविंग टेस्ट ट्रेक सेंटर को ऑपरेटर देखरेख की जिम्मेदारी रोज मेर्टा टेक्नोलॉजी लिमिटेड को दी गई है। उन्होंने बताया कि ड्राइविंग टेस्ट की बारीकी से जांच हो इसके लिए हाई रेजोल्यूशन के 17 कैमरा लगाए गए हैं, जो रियल टाइम फुटेज और इमेज कैप्चर करता है। साथ ही टोकन के लिए इलेक्ट्रॉनिक कतार प्रबंधन प्रणाली भी लगाया गया है जो टेस्ट देने आए हुए लोगों को टोकन के साथ समय निर्धारित करता है। उन्होंने बताया कि एप्लीकेंट इसमें फर्स्ट इन फर्स्ट आउट करेंगे।

बिना टोकन लिए किसी अन्य व्यक्ति का टेस्ट नहीं हो सकेगा। इसके लिए 6 सर्वर लगाए गए हैं, जो वीडियो को अच्छी तरह से जांच करेगा और उसका पारदर्शी रिजल्ट देगा। साथ ही साथ सारथी सॉफ्टवेयर पर ऑटोमेटिक अपलोड कर देगा। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने बताया कि ड्राइविंग टेस्ट पारदर्शी और प्रभावी तरीके से हो सके, इसके लिए 10 सीसी टीवी कैमरे सभी ऑटोमेटिक टेस्ट ट्रैक सेंटर पर स्थापित किया गया है।ऑटोमेटिक ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक पर  शाम 5:00 बजे से शाम 8:00 बजे तक ड्राइविंग टेस्ट होगी। हर ट्रैक पर प्रतिदिन 45 अपॉइंटमेंट बुक किए जाएंगे। सभी 12 ऑटोमेटिक ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक चालू होने के बाद प्रतिदिन 3000 अपॉइंटमेंट शेड्यूल उपलब्ध होगा। फिलहाल इन तीनों ऑटोमेटिक ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक पर प्रतिदिन 135 ड्राइविंग टेस्ट शेड्यूल किया जा रहा है। तीनों जगह एक से 24 मई के बीच ट्रायल किया गया। जिसमे उत्साहवर्धक नतीजे सामने आए हैं। शकूरबस्ती, मयूर विहार और विश्वास नगर के ऑटोमेटिक ड्राइविंग टेस्ट ट्रेक पर 30 अप्रैल से 24 मई तक ट्रायल के दौरान 2565 स्लॉट बुक हुए थे। जिसने से शकूरबस्ती में 855 लोगों ने ड्राइविंग लाइसेंस के लिए स्लॉट बुक किया था। जिसमें से 255 लोग ड्राइविंग टेस्ट देने के लिए पहुँचे थे। इसमें से 129 लोग ऑटोमेटिक ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक पर पास हुए। वही 126 लोग फेल हो गए। इसी तरह मयूर विहार में में 855 लोगों ने ड्राइविंग लाइसेंस के लिए स्लॉट बुक किया था। जिसमें से 424 लोग ड्राइविंग टेस्ट देने के लिए पहुँचे थे। इसमें से 232 लोग ऑटोमेटिक ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक में पास हुए, वही 192 लोग फेल हो गए। वहीं विश्वास नगर में भी 855 लोगों ने ड्राइविंग लाइसेंस के लिए स्लॉट बुक किया था। जिसमें से 266 लोग ड्राइविंग टेस्ट देने के लिए पहुंचे थे। इसमें से 149 लोग ऑटोमेटिक ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक पर पास हुए, जबकि 117 लोग फेल हो गए।

Related posts

उच्च शिक्षा व तकनीकी शिक्षा संस्थाओं के विस्तार के साथ उनमें सीटें बढ़ाना हमारी प्राथमिकता-शिक्षा मंत्री आतिशी

Ajit Sinha

दिल्ली की सड़कों को नया स्वरूप देने की दिशा में पीडब्ल्यूडी मंत्री आतिशी का ग्राउंड जीरो पर निरीक्षण जारी

Ajit Sinha

ये स्कूल सिर्फ एक ईमारत नहीं, शिक्षा का वो मंदिर है जो हजारों परिवारों को बेहतर भविष्य की उम्मीद देगा-शिक्षा मंत्री आतिशी

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//maithigloab.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x