Athrav – Online News Portal
दिल्ली नई दिल्ली राजनीतिक राष्ट्रीय वीडियो

राहुल गांधी की भ्रामक वीडियो प्रसारित करने पर न्यूज़ चैनल ने मांगी माफ़ी, अब भाजपा के लोग उस वीडियो को कर रहे वायरल-कांग्रेस

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
नई दिल्ली: कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि 1 जुलाई को रात 9 बजे के कार्यक्रम में एक चैनल ने हमारे नेता, राहुल गांधी से संबंधित एक वीडियो प्रचारित किया था और फिर उस वीडियो को भारतीय जनता पार्टी के कई नेताओं ने भी साझा किया। वास्तविक वीडियो में राहुल गांधी अपने वायनाड कार्यक्रम में एसएफआई द्वारा की गई हिंसा का जिक्र कर रहे थे, लेकिन उनके बयान को इस चैनल ने बड़े शातिराना ढंग से काट-छांट कर उदयपुर में हुई कन्हैया लाल की नृशंस हत्या से जोड़कर दिखाया। जब ये वीडियो प्रसारित हुआ, तो हमारे कुछ साथियों ने, मैंने खुद ने, हम सबने सोशल मीडिया पर अपनी आपत्ति दर्ज कराई, रात को ही करवाई। हमने ये बताया कि वीडियो भ्रामक है और इसे गलत संदर्भ में प्रस्तुत किया जा रहा है।

आपत्ति दर्ज कराने के बाद उस चैनल ने तो माफी मांग ली, लेकिन भाजपा के नेता अभी भी राहुल की छवि खराब करने के लिए उस वीडियो को सर्कुलेट कर रहे हैं। आप उनके सोशल मीडिया हैंडल पर जाइए, अभी भी वो वीडियो मौजूद है। सर्कुलेट करने वालों में प्रमुख है, विडंबना की बात है – सूचना एवं प्रसारण मंत्री रहे हुए हैं – राज्यवर्धन राठौर और अन्य नेता भी हैं। यह स्पष्ट होने के बाद कि यह वीडियो भ्रामक है, भाजपा के सांसद, पूर्व सूचना एंव प्रसारण मंत्री, मैं दोहराऊंगा, मैं उनका पद, भले पूर्व हैं, भले अभूतपूर्व व्यक्ति हैं, भूतपूर्व सूचना एवं प्रसारण मंत्री होने के बावजूद, यह जानकारी होने के बावजूद कि यह भ्रामक वीडियो है, भी डॉक्टर्ड भी है, गलत है, उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर उसको बड़ी बेशर्मी से अपलोड किया और ये पहला मौका नहीं है साथियों कि राहुल गांधी की छवि खराब करने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने ऐसे कई वीडियो सर्कुलेट किए हैं। तथ्यों को छेड़छाड़ कर, डॉक्टर करके, आपको तो याद है आलू से सोना, ये किसके शब्द थे – नरेन्द्र मोदी के शब्द थे, राहुल गांधी दोहरा रहे थे गुजरात की एक रैली में। बड़े सुनियोजित तरीके से ये जो 18-18 घंटे जागते हैं ना, यही काम करने के लिए जागते हैं। डॉक्टर कैसे करना है, विपक्ष के भाषणों को कैसे ट्विस्ट करना है, छेड़ना है, तोड़-मरोड़ के पेश करना है, ये 18 घंटे जो जागकर काम करते हैं, उससे अब इस देश को सावधान रहना होगा।

अब मैंने आज एक ट्वीट किया था कि ‘गुड न्यूज ऑफ दी डे’ की एक प्रेस वार्ता है। तो गुड न्यूज ये है साथियों कि एक एफआईआर दर्ज हुई है जयपुर, राजस्थान में, इस डॉक्टर्ड वीडियो के खिलाफ, जिसमें हमारे नेता राहुल गांधी को, उनकी छवि को धूमिल करने की साजिश रची गई थी। वो जो एंकर थे, माफी तो मांगी उन्होंने, जब वीडियो हटाया, उसके बाद भी जो उनको बधाई संदेश ट्विटर पर आ रहे थे कि बड़ा अच्छा कार्यक्रम आपने किया, उसको लाइक किए जा रहे थे। एक तरफ तो वीडियो हटा दिया, दूसरी तरफ अपनी बधाईयाँ स्वीकार कर रहे हैं कि जो आपने झूठ परोसा था, बधाई हो आपको, बड़े खुश हो रहे हैं, बार-बार उसको लाइक कर रहे हैं। रात को, परसों रात को है उनकी गलती उन्होंने स्वीकार कर ली, उसके पश्चात भी बधाई स्वीकार करते रहे लोगों से और लगातार भारतीय जनता पार्टी जिसको कहते हैं ना जुगल बंदी चल रही हो कि मैंने कुछ घंटों के लिए कुछ झूठ परोस दिया, आप सबने उस झूठ को आगे और प्रसारित कर दिया, फिर मैंने अपना वो झूठ हटा दिया ताकि मैं कानूनी कार्यवाही से बच जाऊं। यह बात पहले भी हो चुकी है। तीन-चार बार यह चैनल और एक-आध चैनल और भी, हमने उनको कानूनी नोटिस दिया, कार्यवाही की धमकी दी, तो फोन करके कहते हैं- साहब, गलती से हो गया, हटा देते हैं, लेकिन जो नुकसान होना होता है, वो हो चुका होता है।देखिए साहब, आपके माध्यम से मैं पूरे देश के मीडिया को भी और खासतौर से भारतीय जनता पार्टी को, मीडिया से हमारी क्या दुश्मनी, आप अपना काम करिए, हम अपना काम कर रहे हैं। बस शर्त ये है कि काम करते रहिए अपना और आपका काम क्या है, मैं आपको बताऊं, मेरी इतनी औकात नहीं, आप मुझसे ज्यादा समझते हैं। लेकिन इतना सबको समझ लेना चाहिए कि ये जो हमारी शराफत है, ये हमारा गहना है, बेडियां नहीं हैं। आप ये मान कर चल लें, भारतीय जनता पार्टी ये मान कर चलें that our decency is our shackle, no; I am sorry, this is our ornament. हम चुप नहीं रहेंगे। आज के बाद एक व्यक्ति भी और ये भारतीय जनता पार्टी विशेष तौर पर ध्यान से सुन ले, एक व्यक्ति भी हमारी पार्टी, हमारे नेता, हमारी विरासत के खिलाफ एक शब्द बोलेगा, एक तथ्य तोड़-मरोड़ कर पेश करेगा, तो वो कई–कई पीढ़ियों तक उनको याद रखना पड़ेगा। ये चेतावनी मान ले भारतीय जनता पार्टी, तो उचित रहेगा। जिन सांसदों ने और भूतपूर्व मंत्रियों ने इस वीडियो को अभी भी अपने सोशल मीडिया पर रखा है, वो भी आज सुन लें, बैठे होंगे हैदराबाद में, वह भी ध्यान से सुन लें, देखते रहें हमारी कार्यवाही। आने वाले दिनों में उनके साथ कानून सम्मत कैसी कार्यवाही की जाती है, भारतीय जनता पार्टी, नागपुर तक सबको याद रखा जाएगा।

Related posts

कांग्रेस पार्टी ने आज भूपेश बघेल को बिहार के वरिष्ठ पर्यवेक्षक नियुक्त किया है।

Ajit Sinha

अडानी को लेकर नए खुलासों पर बोले राहुल गांधी- प्रधानमंत्री मोदी चुप क्यों, जांच क्यों नहीं करवा रहे

Ajit Sinha

तुगलकाबाद के निवासियों के बचाव में आगे आई केजरीवाल सरकार

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//foostoug.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x