Athrav – Online News Portal
अपराध दिल्ली

“नशा मुक्त भारत अभियान” से प्रेरित “नशा मुक्त भारत पखवाडा” गत 12 जून से 26 जून तक पूरी दिल्ली में मनाया गया।


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
नई दिल्ली:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  के नेतृत्व में भारत सरकार मादक पदार्थों के विरुद्ध शून्य सहिष्णुता की नीति पर सख्ती से काम कर रही है। केंद्रीय गृह मंत्री  अमित शाह मादक पदार्थों को जड़ से समाप्त करने के लिए प्रतिबद्ध हैं तथा इस समस्या के निदान हेतु सभी कानून प्रवर्तन संस्थाओं को कठोर एवं कारगर कदम उठाने के लिए निर्देश दिए गए  हैं। पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा के मार्गदर्शन एवं उपराज्यपाल दिल्ली के निर्देशानुसार दिल्ली पुलिस द्वारा इसे निष्ठापूर्वक कार्यान्वित किया जा रहा है।

तस्करों/आपूर्तिकर्ताओं के खिलाफ कार्यवाही:-

दिल्ली में सक्रिय अवैध मादक पदार्थों के तस्करों/आपूर्तिकर्ताओं के खिलाफ अभियान जारी रखते हुए, दिल्ली पुलिस प्रतिदिन अवैध मादक पदार्थों के आपूर्तिकर्ताओं/पैडलर्स की गिरफ्तारी के साथ अवैध मादक पदार्थों के तस्करों के तंत्रजाल का भंडाफोड़ लगातार कर रही है. चालू वर्ष (25.06.2023 तक) के दौरान, दिल्ली पुलिस ने 773 एनडीपीएस मामलों में 939 नार्को-अपराधियों को गिरफ्तार किया है और लगभग 38 किलोग्राम हेरोइन/स्मैक, 15 किलोग्राम कोकीन, 1845 किलोग्राम गांजा, 233 किलोग्राम अफीम, 10.7 किलोग्राम चरस और 71.5 कि.ग्रा. डोडा पोस्त आदि की बरामदगी की गई  है। दिल्ली पुलिस ने ड्रग माफियाओं पर काफी सख्त एक्शन लिया है और दुसरे विभागों जैसे MCD से समन्वय स्थापित करके उनके द्वारा भी इन माफियाओं के खिलाफ कठोर कदम उठाए  जा रहे हैं | दिल्ली पुलिस, दिल्ली को नशा मुक्त बनाने के लिए निरंतर अथक प्रयास कर रही है। 
स्वापक विरुद्ध क्रत्यक दल (अपराध शाखा) का गठन:
दिल्ली पुलिस में गृह मंत्रालय के आदेशानुसार गत वर्ष (21.06.2022) ANTF/स्वापक विरुद्ध क्रत्यक दल (अपराध शाखा) की स्थापना की गई  जिसके बाद और उत्साह के साथ दिल्ली पुलिस ने ड्रग्स तस्करों के खिलाफ अपनी मुहिम तेज की है। 
“नशा मुक्त भारत पखवाड़ा” आयोजन :-
नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के खिलाफ 26 जून को मनाये जा रहे अंतर्राष्ट्रीय दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी एवम गृह मंत्री अमित शाह के “नशा मुक्त भारत अभियान” से प्रेरित “नशा मुक्त भारत पखवाडा” गत 12 जून से 26 जून तक दिल्ली पुलिस द्वारा पूरी दिल्ली में मनाया गया।  इस पखवाडा की शुरुआत दिल्ली पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा द्वारा गत 12 जून को पुलिस मुख्यालय के बाहर स्थित दिल्ली पुलिस के बैरिकेडस पर स्टीकर के माध्यम से “नशा मुक्त भारत” से प्रेरित संदेश का प्रचार-प्रसार अभियान द्वारा एवम् नशे से विमुक्ति संदेशों को जनसंपर्क वाहनों, नुक्कड़ नाटक एवम् खिलाडियों की टीमों द्वारा आम जनता विशेषकर युवा वर्ग को प्रेरणादायी संदेश देने के लिए दिल्ली के विभिन्न हिस्सों के लिए प्रस्थान को हरी झंडी दिखाकर की गई थी।  
i)इस पखवाडा के दौरान जनसंपर्क वाहनों, नुक्कड़ नाटक मण्डली, खिलाडियों (धावक) की टीमों व दिल्ली पुलिस बैंड के सदस्यों ने तमाम जिला पुलिस से समन्वय स्थापित करके पूरी दिल्ली में 76 जगहों पर (एरोसिटी दिल्ली एवम् अन्य ड्रग प्रभावित एरिया सहित )हर गली- मोहल्ले में आम जनता विशेषकर युवा वर्ग के बीच जाकर करीब 5 लाख लोगों के मध्य प्रेरणादायी संदेश प्रचारित एवम् प्रसारित किए।  इस दौरान नशा मुक्ति से सम्बंधित शिक्षाप्रद सामग्री का वितरण भी किया गया। 
ii)दिनांक 19 जून को “ऑपरेशन कवच के तहत नार्को-अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के लिए दिल्ली पुलिस की विभिन्न टीमों का गठन किया गया था तथा जिसके किर्यान्वन में 182 जगह छापेमारी करते हुए ऑपरेशन-कवच-2.O सफलतापूर्वक आयोजित करते हुए बड़ी मात्रा में ड्रग्स बरामदगी के साथ 62 एनडीपीएस मामलों में 64 नार्को-अपराधियों को गिरफ्तार किया गया। जिसका मकसद आपूर्ति पक्ष (मादक पदार्थों के तस्करों) पर कड़ी कार्रवाई करने का था।
iii)आम जनता विशेषकर युवा वर्ग को टेलीविज़न, समाचार पत्र, FM चैनल, रेडियो इत्यादि संचार माध्यमों से जागरूक करने हेतु विज्ञापन प्रसारित किये गये| आजकल सोशल मीडिया प्लेटफार्म संचार के माध्यम बनता जा रहा है जिसका दिल्ली पुलिस ने भी बखूबी प्रयोग किया और दिल्ली पुलिस के ट्वीटर हैंडल द्वारा समय समय पर ट्वीट करके ड्रग के खतरों के प्रति आम जनता को जागरूक किया गया। 
iv)आम जनता विशेषकर युवा वर्ग के अलावा सेलिब्रिटीज ने भी दिल्ली पुलिस के इस कैंपेन में बढ़ चढ़कर योगदान दिया जिनके ड्रग के विषय में जागरूकता विडियो संदेश दिल्ली पुलिस के ट्वीटर हैंडल द्वारा साँझा की गयी। 
v)इस अभियान में रेलवे, मेट्रो एवम् एयरपोर्ट्स इत्यादि विभागों ने भी बढ़ चढ़ कर भाग लिया और विभिन्न संचार माध्यमों द्वारा इन यातायात के साधनों में सफ़र कर रही जनता तक (करीब 03 करोड़ लोगों तक) दिल्ली पुलिस का यह अभियान पहुँचाया एवम उन्हें e-pledge कैंपेन में शामिल होने के लिए ऑडियो एवम् विडियो माध्यम द्वारा आह्वाहन किया गया|
मुख्य आयोजन :-
उपरोक्त के अलावा दिल्ली पुलिस द्वारा निम्नलिखित मुख्य कार्यकर्मों का आयोजन किया गया:-
i)दिनांक 19 जून को XLRI, जमशेदपुर एवं दिल्ली पुलिस के मध्य MOU पर हस्ताक्षर किए गए जिसमें ड्रग संबंधी सर्वे & भविष्य कार्ययोजना शामिल है XLRI, जमशेदपुर 64 ड्रग्स पॉकेट में आम जनता के बीच जाकर पानी की गुणवत्ता एवं नशे के प्रकार का अध्ययन और सर्वे करके पता लगाएगी कि ड्रग तस्करी के क्या कारण हैं, समाज के किस किस वर्ग तक यह किस मात्रा में फैली हुई है एवं किस ग्रुप विशेष पर इसके क्या क्या प्रभाव हैं भविष्य कार्य योजना के तहत इसकी रोकथाम के लिए क्या उपाय किये जा सकते हैं और भविष्य में उसके मुताबिक XLRI, जमशेदपुर द्वारा दिल्ली पुलिस के साथ मिलकर ड्रग को नियंत्रण करने के लिए समाज को शिक्षित करने हेतु, आयु वर्ग के अनुरूप रेडिओ एवं दूरसंचार माध्यमों का इस्तेमाल करके नशे से विमुक्ति के प्रयास किए  जाएंगे एवं उचित कदम उठाए जाएंगे। 
ii)दिनांक 23 जून को ब्रहमकुमारी संस्थान के परामर्श दाताओं एवम् चिकित्सकों द्वारा सभी जिलों में 15 सभागारों में व्याख्यान आयोजित किए गए  जिसमें करीब 15000 लोगों ने हिस्सा लिया।  इन आयोजनों का मकसद लोगों को ड्रग के खतरों के प्रति ना केवल जागरूक किया गया बल्कि नशे में लिप्त लोगों को योग, प्राणायाम, चिकित्सा एवम् मैडिटेशन द्वारा उसके सफल उपचार के विषय में भी बतलाया गया| ब्रहमकुमारी संस्थान पहले भी इस प्रकार के आयोजन करके विश्व स्तर पर नशे में लिप्त लोगों को लाखों की संख्या में मुख्य धारा में शामिल कर चूका है। 
iii)दिनांक 25 जून को सुबह इंडिया गेट से संसद मार्ग थाना तक 05 किलोमीटर walkathon कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें स्वयं संजय अरोड़ा, आयुक्त दिल्ली पुलिस & अन्य वरिष्ट अधिकारीगण शामिल हुए ,  वॉकथॉन में करीब 5000 प्रतिभागीयों ने जो पुलिस और जनता दोनों वर्गों से थे खूब बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया और इस दौरान नशीले पदार्थों के सेवन के हानिकारक प्रभावों के बारे में वर्तमान पीढ़ी के बीच जागरूकता पैदा करने के लिए नारे लगाये, एवम पोस्टर और बैनर प्रदर्शित किए गये। जिसका समापन पुलिस स्टेशन पार्लियामेंट स्ट्रीट पर हुआ। इस वॉकथॉन आयोजन का उद्देश्य आम जनता विशेषकर युवाओं को नशे से दूर रहकर अच्छे स्वास्थ एवं स्वस्थ जीवन शैली अपनाने के लिए प्रेरित करना था।   
iv)दिनांक 26 जून सुबह 09.30 बजे माननीय उपराज्यपाल दिल्ली महोदय की उपस्थिति में अंतररास्ट्रीय बाज़ार में करीब 2200 करोड़ कीमत की 15000 किलो अवैध ड्रग्स को SSI इंडस्ट्रियल एरिया, जीटी करनाल रोड, नजदीक जहांगीरपुरी दिल्ली स्थित इंसीनीरेटर पर प्रक्रिया अनुसार नष्ट किया गया| भारत सरकार, वित्त मंत्रालय (राजस्व विभाग) के नोटिफ़िकेशन व माननीय सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार दिल्ली पुलिस द्वारा ड्रग्स तस्करों से बरामद अवैध ड्रग्स को नष्ट करने के लिए विभिन्न कमेटियां बनाई गयी थी और इन कमेटियों ने इस वर्ष साल 1986 से 2022 तक के मुकदमों में जब्त किए गए ड्रग्स को मुताबिक लिस्ट कोर्ट डिस्पोसल आदेश एवम् FSL रिपोर्ट्स का अवलोकन किया एवम् तद्नुसार नष्ट करने संबंधी आदेश जारी किये थे| नष्ट की गयी अवैध ड्रग्स में गांजा, हीरोइन, चरस, कोकीन इत्यादि प्रमुख रही । आगे भी इस प्रकार से अवैध ड्रग्स को नष्ट करने की कार्यवाही प्रक्रियानुसार की जाती रहेगी। 
नशा मुक्त भारत पखवाड़ा कैंपेन का समापन समारोह:-
आज 26 जून 2023 को  नशा मुक्त भारत पखवाड़ा कैंपेन का समापन समारोह शाम 5 बजे तालकटोरा स्टेडियम नई दिल्ली में उपराज्यपाल दिल्ली की उपस्थिति में किया गया जिसमे करीब 4000 लोगों ने हिस्सा लिया| इस आयोजन में उपराज्यपाल के अलावा, श्रीमती मीनाक्षी लेखी  विदेश और संस्कृति राज्य मंत्री, दिल्ली के सांसद हर्षवर्धन ,मनोज तिवारी , रामवीर सिंह विधुडी , प्रवेश सिंह वर्मा,गौतम गंभीर ,हंसराज हंस, श्रीमती ऍम सी मैरी कॉम (भूतपूर्व सांसद व बॉक्सिंग चैंपियन), सुश्री रानी रामपाल (भूतपूर्व कप्तान–भारतीय हॉकी टीम), DG NCB, DG DRI, अतिरिक्त सचिव, राजस्व विभाग, चेयरमैन NDMC, मुख्य सचिव दिल्ली, पुलिस आयुक्त दिल्ली, तथा दिल्ली सरकार एवं दिल्ली पुलिस के वरिष्ट अधिकारीगणों के अलावा दिल्ली पुलिस एवं पब्लिक के काफी लोग सम्मिलित हुए थे| इस समारोह के मुख्य आकर्षक इस प्रकार रहे:-
•  उपराज्यपाल दिल्ली के द्वारा स्टेडियम में उपस्थित प्रतिनिधि मंडल, पुलिस कर्मियों, स्टेडियम में उपस्थित दर्शको व दिल्ली में कार्यरत तमाम सरकारी कर्मचारियों को मोबाइल द्वारा सामूहिक e-pledge ग्रहण करवाई गई  । उपस्थित लोगों के अलावा आम जनता को भी मीडिया के माध्यम से ऑनलाइन शपथ लेकर इस अभियान से जुड़ने की गुजारिश की गई।  दिल्ली सरकार एवम् दिल्ली पुलिस के सभी कर्मचारियों ने भी डिजिटल माध्यम से शपथ ग्रहण की है। उपराज्यपाल दिल्ली के आदेशानुसार शिक्षा विभाग द्वारा स्कूल और कॉलेज के स्तर पर इसे प्रवेश के वक्त अनिवार्य किया जा रहा है।  अब तक गवर्नमेंट ऑफ़ इंडिया के इस पोर्टल से करीब 32 लाख व्यक्ति पूरे भारतवर्ष में नशा के विरुद्ध e शपथ ले चुके हैं।  यह सरकार का नशे के विरुद्ध विमुक्ति संबधित सबसे बड़ा डिजिटल पहल प्रमाणित हुआ है|  India Book of Records ने इस पखवाडा के दौरान e-pledge कैंपेन को कवर किया था तथा जिनके अनुमान मुताबिक इस पखवाडा में शपथ लेने वालों की संख्या सबसे ज्यादा (लगभग 02 लाख) आंकी गयी है। 
•ब्रह्मकुमारीज द्वारा Emotional Intelligence for addiction free Life (व्यसन मुक्त जीवन के लिए भावनात्मक बुद्धिमत्ता) विषय पर आधारित कार्यक्रम का प्रसारण
•दिल्ली पुलिस द्वारा एक संछिप्त फिल्म का प्रसारण किया गया जिसके द्वारा युवाओं को नशा के प्रभाव एवम् उससे विमुक्ति से सम्बंधित प्रेरणादायी संदेश प्रसारित किए गए। 
•अष्मिता ग्रुप ऑफ़ थिएटर द्वारा नशे के विरुद्ध-नशा है जहर नाटक का मंचन ।
• सांसद हंस राज हंस के द्वारा नशे के विरुद्ध युवा वर्ग को प्रेरित करते हुए देश प्रेम से औत प्रोत गीतों की प्रस्तुति।
•ऍम सी मैरी कॉम (भूतपूर्व  सांसद व बॉक्सिंग चैंपियन) एवम् सुश्री रानी रामपाल ( भूतपूर्व कप्तान–भारतीय हॉकी टीम) द्वारा एवम् श्रीमती द्वारा नशे के विरुद्ध अभियान में (India says No to Drugs & भारत का है अभियान नशा मुक्त हो हर इंसान) संदेशों का युवा वर्ग को प्रेरित करते हुए अपने शब्दों में जोरदार प्रस्तुति ।
•  उपराज्यपाल द्वारा दिल्ली पुलिस बैंड, नुक्कड़ नाटक मंडली, धावक टीम, ब्रह्मकुमारी संगठन एवं इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड के प्रतिनिधियों जिन्होंने पूरे पखवाड़े में सम्पूर्ण दिल्ली में नशा मुक्ति संबंधी संदेश जन-जन तक पहुचाये का प्रशस्ति पत्र देकर उत्साहवर्धन.आम जनता को संदेश नशा मुक्त भारत पखवाड़ा के दौरान दिल्ली पुलिस द्वारा किए गए  इन आयोजनों का मुख्य उद्देश्य आम जनता विशेषकर युवाओं को नशे के प्रयोग एवम् इसके नुकसानों के प्रति जागरूक करना और नशे से दूर रहकर अच्छे स्वास्थ एवं स्वस्थ जीवन शैली अपनाने के लिए प्रेरित करना रहा है। दिल्ली पुलिस युवाओं से, जो विशेष रूप से मादक पदार्थों के उपयोग के प्रति संवेदनशील हैं, मादक पदार्थों के बारे में सच्चाई का सामना करने का आह्वान करते हैं। युवा लोगों में मादक पदार्थों के उपयोग का प्रचलन सामान्य आबादी की तुलना में दोगुने से भी अधिक है। अवैध मादक पदार्थों का प्रयोग करने के लिए साथियों का दबाव बहुत अधिक हो सकता है। इसके अतिरिक्त जो लोग अवैध मादक पदार्थों को लेते हैं उन्हें या तो गलत जानकारी होती है या फिर वे इससे जुड़े स्वास्थ्य जोखिमों के बारे में अपर्याप्त रूप से जागरूक होते हैं। कई लोग मादक पदार्थों को लेने के बाद निराश और अकेले हो जाते हैं और रोगी महसूस करने लगते हैं। नशा प्रतिदिन हमारे समाज की एक समस्या बनता जा रही है, जिस पर काबू पाना बेहद आवश्यक है। नशा हमारी आने वाली नस्लों के लिए भी घातक है. ड्रग्स का सेवन एक गंभीर समस्या है जिसके व्यक्तिगत, परिवार और समाज के लिए विनाशकारी परिणाम हो सकते हैं। नशा, व्यक्ति के शारीरिक, मानसिक और आर्थिक समस्याओं और यहाँ तक कि मृत्यु का कारण भी बन सकता है। दिल्ली पुलिस, दिल्ली को नशा मुक्त बनाने के लिए निरंतर प्रयास कर रही है जिसमे आप सभी का सहयोग अपेक्षित है | आप सभी के माध्यम से ड्रग्स के खिलाफ लड़ाई की इस मुहीम में दिल्ली पुलिस के साथ शामिल होने का आग्रह करता हूं ताकि हम सब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं गृह मंत्री अमित शाह  के “नशा मुक्त भारत” के सपने को सच करने में कामयाब हो पाए। 

Related posts

जदयू नेता के बेटे का अपहरणकर्ता के साथ पुलिस की मुठभेड़ , एक बदमाश को लगी गोली, दो अरेस्ट, तीन फरार।

Ajit Sinha

पलवल: लडक़ी का अपहरण कर, नशीला पदार्थ पिलाकर बलात्कार करने वाले आरोपित को महिला थाना पुलिस ने किया अरेस्ट

Ajit Sinha

नई दिल्ली: अहमद पटेल द्वारा राज्य सभा में कृषि विधेयकों के खिलाफ भाषण / टिप्पणी- जरूर पढ़े

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//waufooke.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x