Athrav – Online News Portal
अपराध गुडगाँव

गुरुग्राम: एक व्यापारी का अपहरण कर 20 लाख रूपए की मांग करने के तीन आरोपित को पुलिस ने किया गिरफ्तार।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
गुरुग्राम: एक व्यापारी का अपहण करके व उसे धमकी देकर 20 लाख रुपयों की मांग करने की वारदात को अन्जाम देने वाले 03 आरोपियों को अपराध शाखा सैक्टर-17, गुरुग्राम की पुलिस  ने गिरफ्तार किया। व्यापारी की फैक्ट्री में काम कर चुके अपने साथी आरोपित  के साथ मिल कर आरोपितों  ने बनाई थी योजना। आरोपित  10 लाख रुपए धमकी व डरा-धमकाकर वसूल चुके थे व्यापारी से। पुलिस की माने तो  आरोपित  द्वारा वारदात में प्रयोग की गई 1 स्कोर्पियों गाङी भी पुलिस टीम द्वारा आरोपितों  के कब्जा से बरामद की। ये खुलासा आज एसीपी क्राइम प्रीतपाल सांगवान ने अपने कार्यालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में किया। 

एसीपी क्राइम प्रीतपाल सांगवान ने पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कहा कि कल बुधवार  22  जुलाई  को थाना सैक्टर-37, गुरुग्राम में एक व्यापारी ने थाने में आकर एक लिखित शिकायत के जरिए  से बतलाया कि बीते 5 मार्च 2020 को वह  अपनी कम्पनी से समय लगभग  9: 15 पीएम  पर चला था जब समय लगभग  09.25 पीएम पर वह अपनी गाडी फॉर्चूनर  से जपाल जिंदल एलेवडेर  कम्पनी के सामने पहुँचा तो एक गाडी उसकी  गाडी के ठीक सामने आकर रुकी  उस समय वह  फोन पर बात कर रहा था। उसने गाडी को रोका तो दो शख्स  आकर उसकी  गाडी मे जबरन बैठ गए तथा उन्होनें उसके  साथ मारपीट की तथा उसको गन्दी-गन्दी गालीयाँ देने लगे व उसकी आखों पर पट्टी बाँध दी और उसके हाथ कपडे से बाँध दिए, उसका पर्स निकाल लिया व उसके  3 मोबाईल फोन उससे  छीन लिए। उसके बाद वो शख्स उसे गाडी में बैठाकर इधर-उधर घुमाते रहे तथा एक गाडी उसकी गाडी के पिछे-2 चल रही थी, उनकी बातों से  ऐसा ज्ञात हो रहा था कि वह गाङी उन्ही के साथियों की है। करीब 1 घण्टे बाद उसकी गाडी को अज्ञात स्थान पर खडी करके व उसको  अपनी गाङी में बैठा कर उसे  एक बन्द फैक्ट्री मे ले गए व  सुबह समय करीब 5.30 एएम  परउसकी  आंखों पर पट्टी बाधँकर गाडी में बैठाया व लगभग  4 घण्टे बाद पानीपत लेकर पहुँच गए, जहां ये एक कमरे पर पहुँच गए जहाँ पर उन्हीं मे से एक शख्स  अन्दर आया और उसे जिन्दा छोडने की एवज में उससे 3 करोड रुपये माँगे। इसके द्वारा हाथ पैर जोडने पर 20 लाख रुपये 20 मार्च 2020 तक देने पर इनकी सहमती हो गई। उसके बाद उन्होने उसे  नरेला ,दिल्ली में छोड दिया तथा कहा कि  इस बारे मे किसी को कुछ भी बतलाया तो अन्जाम बुरा होगा तथा उसका 1 मोबाईल फोन NOKIA व SIM उसे  वापिस लौटा दी। उसके बाद उसने  अपने घर फोन किया तो उसकी  पत्नी ने बतलाया कि उनके  गुम होने के बारे में उसने थाना सै0-10ए, गुरुग्राम में मुकदमा दर्ज करा दिया। निर्धारीत  तारीख  20 मार्च 2020 तक उससे  20 लाख रुपयों का इंतजाम नहीं हुआ तथा न ही उन लोगों का कोई फोन उसके  पास आया। 

उनका कहना हैं कि दिनांक 19 जून 2020 को किसी अज्ञात व्यक्ति ने उसके मकान के मेन गेट के पास अन्दर की तरफ एक कागज फेंका जिसे उस की  पत्नी ने उठाया और खोलकर देखा तो उन्होनें धमकी भरे शब्दो में अग्रेंजी मे दिंनाक 20 जून 2020 को समय 10 बजे एएम  पर निर्धारीत स्थान पर पहुँचने बारे व  पैंसो सहित पहुँचने बारे लिखा था। जिस पर दिनांक 20 जून 2020 को यह डर के कारण JAPAN ELEVATOR के पास पहुँचा तो कुछ समय बाद 2 शख्स  पैदल उसके  पास पहुँचे जिनके मुँह पर मास्क लगा हुआ था। ये दोनों शख्स  वहीं लोग  थे जो 5 मार्च 2020 को जबरन उसकी गाङी में आकर बैठ गए थे। जिन्होंने उससे  पैसे माँगे तो उसने  10 लाख रुपए उन्हे दे दिए। जिन्होनें बाकि पैसे देने बारे उसको  कहा कि वे अपने अन्य साथीयों को यहाँ बुलाए या पैसे दे दोगे व उन मे से एक शख्स ने पिस्तौल  नुमा हथियार उसकी  कमर में लगा दिया तथा कहा कि तेरे पास 21 जुलाई 2020 तक का समय है पैसे दे देना। दिनांक 14 जून 2020 को उसके  मैनेजर के निवास स्थान पर 2 अज्ञात शख्स  1 बन्द लिफाफा देकर गए। जिस बारे उसके  मैनेजर ने उसे  फोन पर सुचित किया तथा उसने लिफाफे को अपने मकान पर मगँवाया और खोल कर देखा तो वह पत्र उसकी  बेटी व पत्नी के नाम था, जिसमें बहुत ही धमकी भरे स्वर में धमकीयां व पैसें लेने के बारे में लिखा था। उसके पश्चात दिंनाक 17 जुलाई 2020 को उसकी  पत्नी को फोन आया और एक अज्ञात शख्स गाली देने लगा जिस समय यह और उसकी पत्नी काफी डर गए। 

उसके पश्चात दिंनाक 20 जुलाई 2020 को दो अज्ञात शख्स  उसके  मैनेजर को अनाज मण्डी, गुरुग्राम के पास मिले तथा उसके  मैनेजर के फोन से उसकी  पत्नी से फोन पर बात कराने बारे कहा जो उन्होने उसकी पत्नी से बात करनी चाही परंतु उसकी पत्नी ने बात करने से मना कर दिया जिस पर उन्होनें उसके  मैनेजर से कहा कि लाला जी को बोल देना कि या 21 जुलाई 2020 को पैसे दे दे वरना अंजाम बुरा होगा। इस सम्बन्ध में थाना सैक्टर- 37, गुरुग्राम में धारा 364ए, 379बी, 384, 506, 120बी भा.द.स. व 25.54.59 शस्त्र अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया। इस मुकदमे में अपराध शाखा सैक्टर-17,गुरुग्राम की पुलिस ने तत्परता से कार्रवाई करते हुए कल बुधवार को तीन आरोपितों को लैजर वैली पार्क के सामने से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार किए आरोपितों ने पूछताछ के दौरान अपना नाम सौरभ राणा, निवासी मकान नं. 5/48 दयाल बाग,आगरा, उत्तर-प्रदेश,उम्र 35 वर्ष, कुलवन्त ,निवासी गाँव भूना,थाना रनिया, जिला सिरसा, हरियाणा,उम्र 33 वर्ष व विकास,निवासी गाँव भूना,थाना रनिया,जिला सिरसा, हरियाणा, उम्र 27 वर्ष बताए हैं। आरोपितों  से पुलिस पूछताछ में ज्ञात हुआ कि इनका एक साथी उपरोक्त मुकदमे में शिकायत कर्ता की कम्पनी में नौकरी करता था। अब वह उपरोक्त आरोपित सौरभ सिंह के पास नौकरी करता है,जिसने उन्हें बताया कि यदि उपरोक्त मुकदमे में शिकायत कर्ता को ये डरा धमकाकर रुपए मांगे तो उन्हें उससे मोटी रकम वसूलने को मिल सकती है। उसके बाद योजनाबद्ध तरीके से इन सभी आरोपितों ने उपरोक्त मुकदमे  की वारदात को अन्जाम दिया। आरोपित के कब्जे उपरोक्त मुकदमे  की वारदात को अन्जाम देने में प्रयोग की गई 1 स्कार्पियों गाङी को पुलिस ने बरामद कर ली हैं। 

Related posts

फरीदाबाद: स्टॉक मार्केट में ट्रेडिंग के नाम पर 8.54 लाख रुपए की ठगी की वारदात को अंजाम देने वाले गिरोह के 7 लोग पकड़े गए।

Ajit Sinha

कंपनी के मालिक से 80 लाख की रंगदारी मांगने वाले दो बदमाशों को पुलिस ने जाल बिछाकर धर दबोचा

Ajit Sinha

फरीदाबाद : सेक्टर -7 थाना पुलिस ने सील तोड़ कर हाईकोर्ट के आदेश का उल्लंघन करने के मामलें में 6 मुकदमें दर्ज किए हैं,7 लोग आरोपी हैं ।

Ajit Sinha
//poupteps.net/4/2220576
error: Content is protected !!