Athrav – Online News Portal
गुडगाँव

देश में पहली बार डिजिटलीकृत माध्यम से की जाएगी जनगणना,1 मई से 15 जून 2020 तक चलेगा 2021 जनगणना का पहला चरण

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
गुरुग्राम:जनगणना के प्रथम चरण की शुरआत 1 मई से की जा रही हैं जो 15 जून तक चलेगी । यह जानकारी आज नगराधीश एवं जनगणना की नोडल अधिकारी  मनीषा शर्मा ने अपने कार्यालय में आयोजित बैठक के दौरान दी । उन्होंने कहा  कि पहली बार जनगणना डिजिटल रूप से की जा रही है , जिसमे मोबाइल ऐप के माध्यम से सभी आंकड़ों को संकलित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि  प्रदेश सरकार का यह प्रयास रहेगा कि इस बार जनगणना पूरी तरह से डिजिटलाइज्ड माध्यम से की जाए। 1 मई से शुरू प्रथम  चरण के दौरान सभी घरो की सूचि तैयार की जायगी एवं साथ में राष्ट्रीय जनसख्या रजिस्टर ( एनपीआर ) भी बनाया जायगा। उन्होंने बताया कि देश में पहली बार डिजिटलाइज्ड रूप से होने जा रही जनगणना में सभी शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में घरों का सुचिकरण किया जाएगा। सेन्सस ऑफ़ इण्डिया नामक ऐप्प के माध्यम से डाटा  सीधा उपलोड किया जा सकेगा।

नगराधीश एवं नोडल अधिकारी मनीषा शर्मा ने  बताया कि  विशेष रूप से डिज़ाइन किए गए इस  मोबाइल ऐप के माध्यम  से डेटा बड़े ही आसान तरीके से भरा जा सकेंगे जिससे पूरी तरह से यह कार्य पेपरलेस हो जायगा । उन्होंने बताया कि सेंसस मॉनिटरिंग एवं मैनेजमेंट सिस्टम ( सीएमएसएस ) के माध्यम से  जनगणना की सभी प्रगति एवं  गतिविधि का रियल टाइम मॉनिटरिंग होगी । उन्होंने कहा कि मोबाइल ऐप्प के माध्यम से  डाटा  एकत्र  करना सरल होगा, साथ ही इससे काम में तेजी आएगी एवं समय की बचत भी होगी। उन्होंने बताया कि जनगणना प्रिक्रिया में ज़्यादातर अध्यापको की नियुक्ति की जायगी। जनगणना प्रिक्रिया के लिए  गुरुग्राम जिला में मास्टर ट्रेनरों की ट्रेनिंग पूरी की जा चुकी है जिसके चलते अभी तक 49 मास्टर ट्रेनरों को तैयार भी  किया जा चूका है।



मास्टर ट्रेनर की ट्रेनिंग के बाद अब जिला में फील्ड ट्रेनेरो की ट्रैनिग दी जायगी जिसके चलते जिला से 56 फील्ड त्रिट्रेनर तैयार किये जायँगे।  फील्ड ट्रेनर्स की ट्रेनिंग के बाद आगे इम्मुनियेटर एवं  सुपरवाइजर को ट्रेनिंग दी जायगी। जनगणना के दूसरे चरण की शुरआत 9 फरवरी 2021 से 28 फरवरी 2021 तक चलेगी जिसके चलते सभी घरो में रहने वाले लोगो का डाटा जनगणना  में शामिल किया जायगा।  इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए उन्होंने  बताया कि जनगणना प्रिक्रिया 10 वर्ष में एक बार की जाती है जिससे इसमें लोगो का जोड़ा जाता है।  उन्होंने बताया कि आखरी बार जनगणना वर्ष 2011 में की गई थी जिसके बाद अब यह 2021 में की जानी है। 

Related posts

स्वास्थ्य कर्मियों को कोविड वैक्सीन लगाने की गुरूग्राम में तैयारियां पूरी, प्रथम  चरण में 40 हजार  कवर करने का लक्ष्य  -डीसी

Ajit Sinha

संत हमेशा प्रभु के एहसास में ही जीवन को जीते हैं – सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज

Ajit Sinha

कनेरा बैंक द्वारा सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग  ( एमएसएमई )   संपर्क एवं  ग्राहक मिलन समारोह आयोजित।

Ajit Sinha
//dubzenom.com/4/2220576
error: Content is protected !!