Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद विशेष

फरीदाबाद : ग्रीन फील्ड कॉलोनी में बढ़ते अपराधों को लेकर यूआईसी – आरडब्लूए में जबरदस्त टकराव एक रात में चोरी के तीन वारदात, दहशत।


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
फरीदाबाद :ग्रीन फील्ड कालोनी में इन दिनों चोरों का आतंक हैं,दिन प्रति दिन लगातार हो रही चोरी की घटनाओं से यहां के हजारों परिवार के लोग दहशत में हैं पर इस बात की फ़िक्र न तो यूआईसी कंपनी के अधिकारीयों को हैं नाही पुलिस प्रशासन को हैं। बीती रात ग्रीन फील्ड कालोनी से दो अलग अलग फ्लैटों के आगे से दो कारें चोरी हो गई और एक निजी बैंक की एटीएम मशीन को उखाड़ने की कोशिश की गई पर उसे उखाड़ने में चोर नाकायाब रहे। पुलिस को पता चला हैं कि उस एटीएम में करीब 14 लाख रूपए रखे हुए थे । यह वहीँ कार की तस्बीर हैं जिसे बीती रात अज्ञात चोर चोरी करके ले गए जिन शख्स को मिले वह सूरजकुंड थाना पुलिस को सूचना अवश्य दे सकते हैं।
इस मामले में यूआईसी के चैयरमेन भारत भूषण का कहना हैं कि उन्हें मालूम हैं कि इन दिनों ग्रीन फील्ड कॉलोनी में अपराध बढे हैं,पर वहां के लोग यूआईसी को स्पॉट नहीं करते हैं। सवाल के जवाव में उनका कहना हैं कि ग्रीन फील्ड कालोनी 440 एकड़ में बसा हुआ हैं जोकि काफी बड़ा एरिया हैं पर यहां के निवासी गण सुरक्षा के नाम पर पैसा नहीं के बराबर देते हैं ऐसे में मुश्किल होना लाजमी हैं पर वहां के निवासियों को भी जरा सोचना चाहिए कि कोई भी संस्था बिना पैसे का नहीं चलता। इस लिए निवासियों को चाहिए कि यूआईसी को स्पॉट अवश्य करें, वावजूद इसके यूआईसी प्रयास कर रहा हैं सुरक्षा ब्यवस्था सुधारने की।
ग्रीन फील्ड कॉलोनी के रेजिडेंट वैल्फेयर एसोसिएशन के प्रधान वीरेंद्र भड़ाना का कहना हैं कि उनके कॉलोनी में तक़रीबन 6000 परिवार के लोग रहते हैं पर उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी यूआईसी और पुलिस प्रशासन की हैं पर इनमें से कोई भी संस्थान अपनी भूमिका सही तरीके से नहीं निभा पा रहे हैं, इस कारण से यहां के निवासीगण दहशत में हैं। उनका कहना हैं कि बीती रात तीन अलग अलग स्थानों से दो कारें चोरी होने और एक निजी बैंक की एटीएम उखाड़ने की नाकाम कोशिश गई हैं। उनका कहना हैं कि ग्रीन फील्ड कॉलोनी के फ्लैट नंबर -518 ,ब्लॉक बी में कैलाश सिंह रहते हैं, उनकी आई 10 कार फ्लैट के साथ वाली प्लॉट में व कमलेश सिंह निवासी ब्लॉक ए के फ्लैट न. 2398 के बहार उनकी रिट्ज कार खड़ी थी को अज्ञात चोर चोरी करके ले गए। इसके अलावा एक निजी बैंक की एटीएम मशीन को उखाड़ने की कोशिश की गई। हालाकिं एटीएम मशीन की देख रेख के लिए बैंक की तरफ से एक भी सुरक्षा गार्ड नहीं थे । उनका कहना हैं कि जब से भारत भूषण यूआईसी के चैयरमेन बने हैं तभी से ही सुरक्षा गार्डों की कमी आई हैं,जबकि इससे पूर्व में ग्रीन फील्ड कॉलोनी में सुरक्षा गार्ड फिर भी ठीक थे,जब से सुरक्षा गार्डों की कमी आई हैं तभी से ही इस कॉलोनी में अपराध तेजी से बढे हैं,जो कम होने का नाम नहीं ले रहा हैं। उनका कहना हैं कि यूआईसी के लोग सुरक्षा के नाम पर कागजों में लाखों रूपए खर्च दिखाते हैं पर कॉलोनी के गेटों पर नाम मात्र के भी सुरक्षा गार्ड नहीं दिखाई देते हैं, इस कारण से चोरों,लूटेरों के होसलें बुलंद हैं और ग्रीन फील्ड कॉलोनी में चोर, लूटेरे अपने -अपने मंशूमों में बखूबी कामयाब हो रहे हैं। उधर ,ग्रीन फील्ड कालोनी पुलिस चौकी इंचार्ज राजेश बागड़ी का कहना हैं कि एटीएम मशीन की देखरेख के लिए बैंक की तरफ से कोई सुरक्षा गार्ड नहीं था और उस एटीएम में करीब 14 लाख रूपए रखे हुए थे जोकि बच गए। इसके अलावा दो कारें चोरी हुई हैं जिसकी सूचना उनके पास हैं और वह इसके आगे की कार्रवाई कर रहे हैं।

Related posts

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन अभियान को सफल बनाने में सफाई कर्मियों का अहम योगदान – मुख्यमंत्री

Ajit Sinha

अपहरणकर्ताओं को 10 लाख रुपए देकर एक व्यापारी ने आपने आप को छुड़ाया ,कौशल गैंग का कोई हाथ नहीं, कोई और पेंच हो सकता हैं।

Ajit Sinha

पत्नी की प्रेमी को जेल भेजने की साजिश रच सराय मेट्रो स्टेशन पर बम रखने का पत्र को लिख कर छोड़ा,में उसका फोन नंबर लिखा।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//ashouthoto.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x