Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद

फरीदाबाद : ग्रेटर फरीदाबाद में बढ़तें अपराधों के चलते दहशत में लोग, देर रात मार्केटिंग मैनेजर पर चाकू से हमला, कान और गर्दन कटी।


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
फरीदाबाद: बीती रात ग्रेटर फरीदाबाद जब 43 वर्षीय भूपेंद्र वर्मा अपने काम से वापिस अपने घर लौट रहे थे,तो PURI 81 High Street के सामने उन पर एक 18 वर्षीय एक युवक ने जानलेवा हमला कर दिया और पर्स, मोबाइल लूट लिया। युवक ने अपने स्कूटी में पेट्रोल मांगने के बहाने से भूपेंद्र को रोका और तकरीबन 5 मिनट बात में फसाने के बाद अचानक अपनी स्कूटी के अंदर से तेज़ धार वाली चाकू निकली और गर्दन पर वार किया। भूपेंद्र किस्मत वाले निकले और इसमे की कान कटी और गर्दन में ज्यादा गहरी चोट नहीं लगी। इस मामले में भूपानी थाने के एसएचओ सत्यवीर सिंह का कहना हैं कि इस केस की जानकारी अभी पत्रकारों के जरिए से उन्हें प्राप्त हुई हैं और पीड़ित पक्ष के फोन पर संपर्क कर, उनके ब्यान लेने हेतु साथी पुलिस कर्मी कर्मवीर को भेज दिया हूँ ,जैसे ही पीड़ित भूपेंद्र वर्मा के ब्यान आएगा उस हिसाब से वह अपनी कार्रवाई कर देंगें। सवाल यह है कि रात के वक़्त जिस पुलिस कर्मी ने घायल भूपेंद्र वर्मा का मेडिकल करवाया था उसने सम्बंधित थाने को सूचना क्यों नहीं दिया ,यह एक बड़ा सवाल हैं।

हमला करने वाला तकरीबन 18 साल का युवक था. हुलिया बताते हुए भूपेंद्र बताते हैं “मैं रात के वक़्त में कभी अनजान आदमी के लिए स्कूटी नहीं रोकता हूँ. लेकिन हुलिए से लड़का ठीक ठाक घर से लग रहा था. मुझे लगा की जरूरतमंद होगा। इसलिए मैंने अपनी स्कूटी रोकी। अक्सर गलत नियत वाले लोग अकेले नहीं होते, इसलिए मुझे इरादे पर शक नहीं हुआ”. वो बताते हैं “ लड़के ने मेरी स्कूटी में से अपनी स्कूटी के लिए पेट्रोल माँगा। मैं सोच ही रहा था की कैसे उसकी मदद की जाए, तबतक उसने चाकू से हमला कर दिया”, भूपेंद्र के अनुसार पर्स में करीब 1200 रुपये थे,2 एटीएम कार्ड थे कुछ और ज़रूरी डॉक्यूमेंट थे जो हमलावर लूट कर ले गया।
भूपेंद्र शिवालिक पेंट्स नाम की एक प्राइवेट कंपनी में मार्केटिंग का काम देखते हैं. भूपेंद्र बताते हैं “पिछले छह महीने से मैं रोज़ रात काम के बाद लौटता हूँ। कभी कभी तो 2-3 am भी बज जाता है, क्योंकि मेरा मार्केटिंग में फील्ड जॉब हैं”,लेकिन कल से पहले कभी ऐसी वारदात नहीं हुई,“ कल रात कोई स्ट्रीट लाइट नहीं जल रही थी और घटना के बाद जब मैं पास ही BPTP पूल पर गया तो अक्सर पायी जाने वाली पुलिस जिप्सी भी नहीं दिखी”. कटे कान से खून निकल रहा था, लेकिन जैसे तैसे वो पार्क इलीट फ्लोर (L ब्लॉक, सेक्टर 84) में अपने घर के लिए स्कूटी चलाते हुए घर आने लगे, घर के नज़दीक एक पुलिस वैन मिली जिसने उन्हें नज़दीक के एक नर्सिंग होम में इलाज करवाया । ग्रेटर फरीदाबाद में आए दिन लूटपाट और चोरी की घटना हो रही है,विवेक गुप्ता,प्रेजिडेंट RWA L ब्लॉक, सेक्टर 84 बताते हैं “ ग्रेटर फरीदाबाद मैं कई ऐसे स्पॉट्स हैं जहाँ लाइट नहीं जलती और बहुत unsafe हैं, घटना भी ऐसी जगह पर हुई,पुलिस व्यवस्था भी आबादी के हिसाब ने बहुत ही कम है,यहाँ बसे लोगों से विकास के नाम पर हज़ारो करोड़ लिए गए, लेकिन हमें कोई सुविधा नहीं मिली”

Related posts

फरीदाबाद: एटीएम मशीन से डिवाइस मशीन की सहायता से 12 लाख 40 हजार रूपए उड़ाने वाले दो आरोपित अरेस्ट

Ajit Sinha

फरीदाबाद: सूरजकुंड के अनंगपुर गांव के एक टेंट के गोगाम में लगी भयंकर आग, लाखों रूपए के नुकशान की खबर हैं।

Ajit Sinha

फरीदाबाद : *राज्य प्रधान ने अनशन स्थल पर पहुंच अतिथि अध्यापकों का बढाया हौंसला*

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//nutchaungong.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x