Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद

फरीदाबाद :पुलिस प्रताड़ित मामला: कांग्रेस मीडिया प्रभारी की शिकायत के पक्ष में ग्रीन फिल्ड के 17 लोगों ने पुलिस को दिए बयान।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
फरीदाबाद 9 जनवरी। ग्रीन फिल्ड कालोनी के बुजुर्गों एवं लोगों के साथ दुर्यव्यहार करने एवं उन्हें कच्छे में नंगे बदन हवालात में बंद करने के मामले में हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया प्रभारी विजय कौशिक द्वारा की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के निर्देश पर एसीपी गजेन्द्र कुमार ने इस मामले में जांच शुरू करते हुए इस मामले के पीडि़त ग्रीन फिल्ड कालोनी के 17 लोगों को सम्मन भेजकर अपने कार्यालय में बुलाया। जहां पर सीनियर सिटीजन पवन तुलसीयान एवं दर्शन कक्कड़ ने पुलिस को बताया कि उनकी कालोनी में रोजाना रात को 11 बजे से 5 बजे तक बिजली गायब हो जाती थी जिससे महिलाओं, बुजुर्गों एवं बच्चों को इस भयंकर गर्मी में काफी परेशानी होती थी। बिजली विभाग में बार-बार शिकायत करने पर भी कोई सुनवाई नहीं हुई तो करीब सवा सौ लोग पुलिस चौकी में शिकायत करने गए
जहां पर बिजली कर्मचारियों के खिलाफ उनकी शिकायत लेने से इन्कार कर दिया गया तो लोगों ने तय किया कि स्थानीय विधायक सीमा त्रिखा ने कहा था कि अगर आपको कोई तकलीफ हो तो आप आधी रात भी मेरे घर पर आ सकते हैं। तो इस बात को याद करते हुए कालोनी के लोग विधायक के आवास पर पहुंच गए। जहां पर उन्हें बताया गया कि सीमा त्रिखा कहीं बाहर गई हुईं हैं तो इस बात से नाराज होकर कुछ लोग नारेबाजी करने लगे और एक व्यक्ति विधायक के गार्ड से गेट खोलने की कहने लगा ताकि अंदर किसी से बात की जा सके। इतनी ही देर में पुलिस आ गई और उनसे कहा कि आपकी समस्या का समाधान यहां नहीं है और आप सब लोग बिजली दफ्तर चलो हम आपकी समस्या दूर कराएंगे। जब वहां से सभी लोग निकलने लगे तो बाद में जो पांच गाडिय़ां पीछे थीं उनको रोक लिया और उन्हें जबरदस्ती डंडे के दम पर दुव्र्यवहार करके थाने में लाया गया। पुलिस ने बुजुर्गों की भी कोई शर्म नहीं की।थाने में लाकर सबके कपड़े उतारकर 17 लोगों को नंगे बदन केवल कच्छे में हवालात में बंद कर दिया गया।



उन्हें थाना इंचार्ज द्वारा चाय-पानी की सुविधा भी नहीं दी गई और अगले दिन जानबूझकर सुबह 10 बजे की जगह शाम को 5 बजे डीसीपी कार्यालय में पेश किया गया, जहां से 7 बजे जमानत मिलने पर इन लोगों की रिहाई हो पाई। एसएचओ ने इनके साथ खतरनाक मुजरिमों की तरह व्यवहार किया और हवालात में एक सीनियर सिटीजन की हालत खराब होने पर उन्हें 2 बजे हवालात के बाहर निकालकर दूसरे कमरे में बैठाया। जमानत पर छूटने के बाद भी समाज में इन लोगों को अपमान का सामना करना पड़ा और लोगों ने नंगे बदन हवालात में बैठने के कारण इन लोगों का मजाक भी उड़ाया।इस मौके पर पहुंचे प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया प्रभारी विजय कौशिक ने कहा कि ऐसा अमानवीय व्यवहार करने वाले भ्रष्ट एस.एच.ओ. को हरियाणा सरकार तुरंत प्रभाव से बर्खास्त करे। जिसने मानवाधिकारों का उल्लंघन करते हुए बिजली की समस्या से परेशान लोगों के साथ जघन्य अपराधियों की तरह व्यवहार किया। पीडि़तों के बयान के बाद श्री कौशिक ने उम्मीद जताई है कि दोषी एसएचओ के खिलाफ कड़ी विभागीय कार्यवाही होगी और आगे से पुलिस विभाग इस तरह के अमानवीय कृत्य करने से दूर रहेगा।

Related posts

फरीदाबाद :राजस्थान के चुनाव में जिम्मेदारी मिलने से लखन कुमार सिंगला ख़ुशी से उछले,कांग्रेस प्रत्याशी को जीता कर लौटेंगें

Ajit Sinha

फरीदाबाद:चुने हुए प्रतिनिधियों के साथ समन्वय बनाकर कार्य करें पंचायत विभाग के अधिकारी: कृष्ण पाल गुर्जर

Ajit Sinha

नीमका जेल में लगाई गई लोक अदालत: 11 केसों का मौके पर ही किया निपटारा : सीजेएम प्रतीक जैन

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//psuftoum.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x