Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद

वीपी स्पेसेज के मालिकों ने तोड़े फर्जीवाड़े के सारे रिकार्ड: एल एन पाराशर

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
फरीदाबाद:सेक्टर 49 स्थित 12th एवेन्यू में वीपी स्पेसेज के मालिकों ने सरकार को चूना लगाने में अपनी तरफ से कोई कमी नहीं छोड़ी है। बार एसोशिएशन के पूर्व अध्यक्ष एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के प्रधान एडवोकेट एल एन पाराशर ने एक और खुलासा करते हुए कहा कि 12th एवेन्यू में 4 अप्रैल 2018 को कंप्लीशन सर्टीफिकेट लिया गया जिसकी रजिस्ट्री 15 फरवरी 2019 को कराई और एक और रजिस्ट्री 29-10 2018 को कराई गई है। जिस वक्त कंप्लीशन सर्टिफिकेट लिया गया था उस वक्त मौके पर खाली प्लाट था। वकील पाराशर ने कहा कि इन लोगों ने फर्जीवाड़े के सारे रिकार्ड तोड़ दिए हैं और ये सब अधिकारियों की मिलीभगत के बिना हो ही नहीं सकता।


पाराशर ने कहा कि हाल में मैंने खुलासा किया था कि नगर निगम ने 26 दिसंबर 2018 को फ़्लैट नंबर 4814 से 4837 तक को तोड़ने के आदेश दिए थे जिसमे कहा गया था कि इन निर्माणों में खामियां हैं और जिस तरह से नक्शा पास करवाया गया है ये फ्लैट उस तरह से नहीं बनवाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि नोटिस देने बाद आज तक नगर निगम यहां तक नहीं पहुंचा। पाराशर ने कहा कि निगम ने इन फ्लैटों को तोड़ने के आदेश दिए और यहाँ अब भी निर्माण जारी हैं। उन्होंने कहा कि इस खेल में नगर निगम अधिकारियों का भी हाँथ है क्यूकि बिना मिलीभगत से ये खेल संभव नहीं है। पाराशर ने कहा कि वीपी स्पेसेज के मालिक, दीपक विरमानी,वरुण मनचंदा और आशीष मनचंदा निगम अधिकारियों से मिलकर ये गड़बड़झाला कर रहे हैं। पाराशर ने कहा कि उन्हें सूचना मिली है कि ये लोग शहर में कई जगह फर्जीवाड़ा कर रहे हैं।

कहीं एक एक स्टाम्प पर दो दो रजिस्ट्री तो कहीं निर्माण के पहले कंप्लीशन तो कहीं फर्जी रजिस्ट्री पर लाखों का लोन जैसे घपले शामिल हैं। पाराशर ने कहा कि इन पर एक नेता का हाँथ है और हो सकता है वो नेता भी इस फर्जीवाड़े में हिस्सा लेता हो। पाराशर ने कहा कि यहाँ सरेआम धोखाधड़ी की जा रही है। स्टाम्प चोरी, आयकर चोरी, जीएसटी चोरी जैसे कई चोरियां कर रहे हैं। पाराशर ने कहा कि शहर में कई विभाग हैं और कई विभाग के अधिकारियों से मिलकर ये बड़ा खेल खेलते हैं। उन्होंने कहा कि ये तहसीलदारों से मिलकर फर्जीवाड़ा करते हैं एक एक रजिस्ट्री से कई-कई बार रजिस्ट्री करते हैं, पहले प्लाट की रजिस्ट्री, फिर फ्लैट की रजिस्ट्री कर बड़ा फर्जीवाड़ा करते हैं। उन्होंने कहा कि अगर इस मामले की जांच कराई जाए तो इन लोगों का करोड़ों का फर्जीवाड़ा सामने आएगा।

Related posts

फरीदाबाद : मवई गऊशाला में गाय मुश्किल में, शासन व प्रशासन गौशाला में फंड बढ़ानें के बजाए गौ-शाला की संख्या बढ़ानें का किया कार्य, आर एस गाँधी।

Ajit Sinha

फरीदाबाद: पंचायत आम चुनाव -2022 में प्रलोभन से दूरी बनाते हुए भयमुक्त होकर करें प्रजातंत्र के पर्व पर मतदान : डीसी

Ajit Sinha

फरीदाबाद: गिरफ्तार 25000 रूपए के इनामी तीनों आरोपितों ने रंजिश के चलते आलोक की हत्या की थी-एसीपी क्राइम

Ajit Sinha
//aitertemob.net/4/2220576
error: Content is protected !!