Athrav – Online News Portal
अपराध नोएडा

ड्रग्स बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़, 200 करोड़ की तैयार और सौ करोड का कच्चा माल बरामद, अफ्रीकी मूल के 9 नागरिक अरेस्ट।


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
नॉएडा:पुलिस कमिश्नरेट को ड्रग माफियाओं के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में उस समय बड़ी सफलता मिली, जब सूरजपुर के थीटा-2 सेक्टर में एक मकान में विदेशी नागरिकों द्वारा संचालित की जा रही ड्रग्स की फैक्ट्री का भंडाफोड़ कर अफ्रीकी मूल के 9 लोगों को गिरफ्तार किया।  मकान से 40 किलो मेथाफेटामाइन एमडीएमए ड्रग्स बरामद हुई, जिसकी अंतरराष्ट्रीय कीमत 200 करोड़ आंकी गई है। इसके अलावा मादक पदार्थ बनाने का सामान बरामद हुआ है, जिससे 100 करोड़ की सिंथेटिक ड्रग्स बनाने का काम चल रहा था।

सूरजपुर एरिया में थीटा 2 में स्थित मकान नंबर 279 से अफ्रीकी मूल के 9 लोगों को गिरफ्तार किया है, ये लोग मकान में लैब बना ड्रग्स की फैक्ट्री चला रहे थे। पुलिस कमिश्नर लक्ष्मी सिंह ने बताया कि  स्वाट टीम को मादक पदार्थ बनाने वाले नाइजीरियाई गिरोह का पता चला था। इस सूचना पर गोलचक्कर के पास से एमडीएम ड्रग्स के साथ दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था। आरोपियों से मिली जानकारी के बाद स्वाट टीम, बीटा-दो कोतवाली, दादरी कोतवाली, टेक्निकल इंटेलिजेंस और मैनुअल इंटेलिजेंस टीम ने सुबह नौ बजे थीटा टीए-दो स्थित जैतपुर गांव स्थित मकान में चल रही फैक्ट्री और लैब पर कार्रवाई की।टीम ने मौके से 200 करोड़ की 46 किग्रा तैयार एमडीएम और 100 करोड़ का मादक पदार्थ बनाने का रसायन सहित कच्चा सामान बरामद किया है। पुलिस कमिश्नर ने बताया कि अफ्रीकी मूल के नागरिकों ने मकान में ड्रग्स बनाने के लिए लैब बनाई थी। तमाम तरह के केमिकल और जार के माध्यम से ड्रग्स तैयार की जा रही थी। सभी आरोपी दिल्ली-एनसीआर में ड्रग का सिंडिकेट चलाते हैं। आरोपी ग्रेटर नोएडा में अक्सर जगह बदलकर मादक पदार्थ बनाते थे। यह गिरोह करीब एक वर्ष से जैतपुर गांव में किराए का मकान लेकर ड्रग्स बना रहा था। इस ड्रग्स को दिल्ली-एनसीआर के अलावा नेपाल और बांग्लादेश समेत कई देशों में तस्करी के लिए भेजा जाता था। पुलिस कमिश्नर ने बताया है कि पकड़े गए अफ्रीकी मूल के नागरिकों के तार नार्को टेरर सिंडिकेट से भी जुड़े हो सकते हैं। इसकी जांच करने के लिए इनकी फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन, विदेश से जुड़े तार, नार्को टेरर से संबंधित लिंक और बैकवर्ड फॉरवर्ड मैसेज समेत तमाम चीजों की जांच की जाएगी। इस ड्रग्स को बेचकर आने वाली रकम का इस्तेमाल हिंदुस्तान के खिलाफ आतंकी गतिविधियों में तो नहीं किया जा रहा था इन सब बातों की जांच की जा रही है।

Related posts

लड़की ने फेंडशिप के लिए मना किया, तो सनकी आशिक ने उसकी गला दबा कर हत्या दी, आरोपी अरेस्ट 

Ajit Sinha

दो दिन से लापता छह साल की बच्ची का शव एक पार्क में संदिग्ध अवस्था में मिलने मचा हड़कंप, पुलिस जांच में जुटी

Ajit Sinha

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास बनेंगे 2 एमआरओ हब, योगी कैबिनेट से मिली मंजूरी

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//sauptowhy.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x