Athrav – Online News Portal
दिल्ली स्वास्थ्य

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली के चार सरकारी अस्पतालों का किया औचक निरीक्षण

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
नई दिल्ली:मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की सत्ता में आने से पहले दिल्ली की जनता से बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था का वादा किया था, जो कि आज तक मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल निभाते आ रहे हैं। इसी संदर्भ में समय-समय पर दिल्ली के सरकारी अस्पतालों का औचक निरीक्षण किया जाता है I इस श्रृंखला में आज दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दिशा निर्देशन में दिल्ली के चार अस्पतालों गुरु गोविंद सिंह अस्पताल, आचार्य भिक्षु अस्पताल, सरदार वल्लभ भाई पटेल अस्पताल और एनसी जोशी अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। सभी अस्पतालों में दवाइयां की क्या व्यवस्था है, उसकी पूरी जानकारी ली। अस्पतालों में साफ सफाई की क्या व्यवस्था है, इसका जायजा लिया।

अस्पताल में आए मरीजों से प्रत्यक्ष रूप से अस्पताल प्रशासन के व्यवहार और अस्पताल में मिलने वाली सुविधाओं पर बातचीत की। जहां कहीं भी अस्पताल में किसी प्रकार की कोई कमी या कोई त्रुटि पाई गई उसको तुरंत प्रभाव से दुरुस्त करने के आदेश दिए। जिन अस्पतालों में व्यवस्था बेहतर पाई गई मंत्री सौरभ भारद्वाज ने अस्पताल प्रशासन के कार्य की सराहना भी की। मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की यह पहली प्राथमिकता है कि दिल्ली के लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जा सके और जैसा की सबको ज्ञात है मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की जनता से वादा किया था और जिस वादे को वह पिछले 8 सालों से लगातार निभाते आ रहे हैं, इस संदर्भ में समय-समय पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दिशा निर्देशन में दिल्ली के सरकारी अस्पतालों की व्यवस्थाओं की जांच करने हेतु आवश्यक निरीक्षण किए जाते हैं। इस श्रृंखला में एक बार फिर से दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में औचक निरीक्षण का यह सिलसिला चल रहा है। उन्होंने बताया कि बीते दिनों में भी दिल्ली सरकार के कई अस्पतालों में औचक निरीक्षण किए गए थे और आज दिल्ली सरकार के चार अस्पतालों का औचक निरीक्षण किया गया है, भविष्य में भी इसी प्रकार से औचक निरीक्षण होते रहेंगे, ताकि जो वादा मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल जी ने दिल्ली की जनता से किया है, वह सुचारू रूप से चलता रहे और दिल्ली की जनता को बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्थाएं मिलती रहे.आज किए गए चार अस्पतालों के दौर में सर्वप्रथम स्वास्थ्य मंत्री सौरव भारद्वाज ने रघुवीर नगर में स्थित गुरु गोविंद सिंह अस्पताल का औसत निरीक्षण किया। अस्पताल में पहुंचने पर मंत्री सौरभ भारद्वाज ने अस्पताल में दवाई की खिड़की पर दवाइयां ले रहे मरीजों से प्रत्यक्ष रूप से बात की। मंत्री सौरभ भारद्वाज ने मरीजों से पूछा कि जो दवाइयां डॉक्टर ने पर्चे में लिखी है, क्या वह दवाइयां पूरी मिल रही है I मरीज ने संतुष्टि जताते हुए कहा की सभी दवाइयां पूरी मिल रही हैं। तत्पश्चात मंत्री सौरभ भारद्वाज दवाइयां की उपलब्धता की जांच करने हेतु दवाई कक्ष में पहुंचे। मंत्री सौरभ भारद्वाज ने अस्पताल प्रशासन को दवाई मंगाने से लेकर दवाइयां के वितरण तक की लिखित विधि के सभी रजिस्टर दिखाने को कहा। सभी रजिस्टरों की मंत्री सौरभ भारद्वाज ने गहनता से जांच की। मंत्री सौरव भारद्वाज ने बताया कि गुरु गोविंद सिंह अस्पताल में दवाइयां के गोदाम में दवाइयां की उपलब्धता की जांच करते हुए एक बहुत ही बेहतर बात सामने आई। अस्पताल प्रशासन गोदाम से दवाइयां निकालने के बाद गोदाम पर लगे ताले पर सील लगा देता है, ताकि कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रकार से गरीब जनता को दी जाने वाली दवाइयां की चोरी ना कर सके I इस बात को लेकर मंत्री सौरभ भारद्वाज ने अस्पताल प्रशासन की सराहना भी की.मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि गुरु गोविंद सिंह अस्पताल के बाद वह मोती नगर में स्थित आचार्य भिक्षु अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे. उन्होंने बताया कि अस्पताल में साफ सफाई की व्यवस्था बेहद ही खराब थी। मौके पर मौजूद मरीजों एवं उनके परिवारजन ने भी सफाई को लेकर काफी शिकायतें की। मंत्री सौरभ भारद्वाज ने मौके पर ही तुरंत प्रभाव से अस्पताल के सभी शौचायलयों की सफाई करवाने के आदेश दिए। साथ ही साथ इस गंदगी और व्यवस्था के लिए अस्पताल प्रशासन को लताड़ लगाई। मंत्री सौरभ भारद्वाज ने इस गंदगी के लिए जिम्मेदार अधिकारी के खिलाफ तुरंत प्रभाव से कार्रवाई करने के आदेश दिए एवं सफाई करने वाली कंपनी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए। मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली सरकार के सभी अस्पतालों में मिलने वाली सभी प्रकार की दवाइयां सभी प्रकार के इलाज और सभी टेस्ट मुफ्त दिए जाते हैं I पिछले 8 सालों से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दिशा निर्देशन में यह सभी सुविधाएं दिल्ली की जनता को मुफ्त में दी जा रही है I उन्होंने कहा कि यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम समय-समय पर अस्पतालों के औचक निरीक्षण करें और इस बात को सुनिश्चित करें, कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी ने दिल्ली की जनता से जो वादा किया है, जो बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था का वादा किया है, जो पिछले 8 सालों से दिल्ली की जनता को मुफ्त स्वास्थ्य व्यवस्थाएं मिल रही हैं, वह इसी प्रकार सुचारू रूप से चलती रहें I इसी संदर्भ में दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में हम औचक निरीक्षण कर रहे हैं और यह औचक निरीक्षण आगे भी इसी प्रकार से जारी रहेंगे.मंत्री सौरभ भारद्वाज ने बताया कि इस औचक निरीक्षण के दौरान उन्होंने झंडेवालान में स्थित एनसी जोशी अस्पताल का भी औचक निरीक्षण किया I मंत्री सौरभ भारद्वाज ने बताया कि मौके पर मौजूद एक बुजुर्ग महिला ने इलाज के लिए रिश्वत लेने के आरोप अस्पताल के एक कर्मचारी पर लगाए I मंत्री सौरभ भारद्वाज ने अस्पताल के एमएस को तुरंत प्रभाव से इसकी जांच करने के आदेश दिए एवं किसी भी प्रकार का कोई भ्रष्टाचार पाए जाने पर दोषी अधिकारी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए I मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा की दिल्ली के लोकप्रिय मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का यह प्रण है कि किसी भी प्रकार से, किसी भी स्तर पर और किसी भी प्रकार का भ्रष्टाचार कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा .मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि सामान्यतः अस्पतालों में एक शिकायत देखने को मिलती है, कि अस्पताल में कार्य कर रहे ठेका कर्मचारी जैसे की सिक्योरिटी गार्ड, सफाई कर्मचारी तथा अन्य ठेका कर्मी अक्सर इस बात की शिकायत करते हैं कि जो कंपनी जिसके माध्यम से यह लोग अस्पताल में काम कर रहे हैं, वह इन ठेका कर्मियों का वेतन पूरा नहीं देते। दिल्ली सरकार ने जो न्यूनतम वेतन तय किया है, वह नहीं दिया जाता है। मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि इस प्रकार की शिकायतों को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। एनसी जोशी अस्पताल के तमाम ठेका कर्मचारियों ने अस्पताल प्रशासन और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का धन्यवाद किया कि उनके साथ जो अनियमितताएं होती थी, वह अब नहीं हो रही है I सभी ठेका गर्मियों को उनका पूरा वेतन मिल रहा है और किसी भी प्रकार से ठेका कंपनी द्वारा कर्मचारियों को प्रताड़ित नहीं किया जा रहा है.मंत्री सौरभ भारद्वाज ने बताया कि जब वह आचार्य भिक्षु अस्पताल का औचक निरीक्षण करने पहुंचे तो अस्पताल में कार्यरत ठेका कर्मचारियों ने इस बात की शिकायत की, कि जिस कंपनी को अस्पताल की साफ सफाई, रखरखाव और सिक्योरिटी का कॉन्ट्रैक्ट दिया गया है, वह कंपनी अस्पताल में कार्यरत ठेका कर्मचारी को पूर्ण वेतन नहीं देती है।ठेका कर्मचारियों ने बताया कि इस बात की शिकायत उन्होंने अस्पताल प्रशासन को लिखित रूप में भी दी है। मंत्री सौरभ भारद्वाज ने मौके पर ही इस शिकायत की जांच करने के अस्पताल प्रशासन को आदेश दिए और साथ ही साथ उसे कंपनी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए। मंत्री सौरभ भारद्वाज ने इस शिकायत का जल्द से जल्द निवारण कर स्वास्थ्य मंत्री को भी सूचित करने के निर्देश दिए।

Related posts

लोक कल्याण समिति द्वारा 100 से अधिक मीडिया कर्मियों के परिवार के स्वास्थ्य की जांच की।

Ajit Sinha

उत्तरप्रदेश में 69000 शिक्षक भर्ती प्रक्रिया शुरू, 31 तक हो जाएगा स्कूल आवंटन

Ajit Sinha

नॉएडा: जिले का सबसे बड़ा कोविड़-19 अस्पताल शुरू, सीएम योगी ने किया उद्घाटन

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//stungoateeve.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x