Athrav – Online News Portal
गुडगाँव

डीसी निशांत ने पंचगांव फर्रुखनगर वाया जमालपुर मार्ग पर चल रहे सड़क निर्माण कार्य का किया औचक निरीक्षण

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
गुरुग्राम:डीसी निशांत कुमार यादव ने गुरुग्राम – बिलासपुर- जयपुर मार्ग पर स्थित पंचगांव चौक से फर्रुखनगर वाया जमालपुर मार्ग पर चल रहे सड़क निर्माण कार्य का औचक निरीक्षण किया। लोक निर्माण विभाग द्वारा करीब 33 करोड़ की लागत से तैयार किए जा रहे इस सड़क मार्ग की कुल लंबाई साढ़े सत्रह किलोमीटर है। डीसी के इस निरीक्षण दौरे में लोक निर्माण विभाग व पंचायती राज के अधिकारी भी साथ रहे। डीसी ने अपने दौरे के समय सड़क निर्माण कार्य के विभिन्न स्थानों पर कार्य की गुणवत्ता का निरीक्षण करते हुए संबंधित विभागीय अधिकारियों और ठेकेदार को निर्माण कार्य में गुणवत्ता बनाए रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गुरुग्राम -पटौदी -रेवाड़ी व गुरुग्राम – बिलासपुर- जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग के बीच कनेक्टिंग सड़क मार्ग होने के चलते, लंबे समय से क्षेत्रीय लोग इस सड़क को  चौड़ा करने सहित निर्माण कार्य की मांग कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि इस सड़क निर्माण के पूरा होने से फर्रुखनगर से गुरुग्राम जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाने वाले लोगों के ईंधन व समय की बचत होगी। वहीं करीब एक दर्जन से अधिक गांवों को इसका सीधा लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य की गुणवत्ता से किसी भी सूरत में समझौता बर्दाश्त नहीं होगा। वह समय समय पर सड़क की गुणवत्ता का निरीक्षण करते रहेंगे।डीसी निशांत कुमार यादव के निरीक्षण दौरे में लोक निर्माण विभाग के एक्सईएन गजेंद्र यादव ने इस निर्माण कार्य की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि करीब 33 करोड़ की लागत से तैयार किए जा रहे इस सड़क मार्ग का निर्माण कार्य वर्ष 2024 के सितंबर माह तक पूरा करने का लक्ष्य है। वहीं पंचगांव से जमालपुर के बीच का निर्माण कार्य अगले वर्ष मार्च महीने तक पूरा कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि सड़क  मार्ग में जहाँ गांव की आबादी है वहां सीसी रोड का निर्माण करने सहित पानी की निकासी के लिए सड़क के दोनों तरफ ड्रेनेज सिस्टम तैयार किया जा रहा है। पूरे मार्ग पर सड़क की कुल चौड़ाई 10 मीटर रहेगी। डीसी ने अपने निरीक्षण दौरे में गांव जमालपुर में मुख्य मार्ग पर हो रहे जलभराव की समस्या से निपटने के लिए ग्रामीणों के साथ बैठक कर उनके सुझाव भी मांगे। उन्होंने कहा कि गांव में एसटीपी का काम प्रस्तावित है लेकिन एसटीपी के निर्माण से पूर्व गांव के मुख्य मार्ग पर हो रहे जलभराव की समस्या की वैकल्पिक व्यवस्था भी आवश्यक है। ऐसे में बेहतर होगा कि गांव के लोग एकमत होकर जल निकासी की व्यवस्था के लिए जमीन उपलब्ध करवाएं। ताकि उस स्थान पर जल निकासी के उचित संसाधनों का उपयोग कर उस पानी को गांव के अमृत सरोवर में लाया जा सके। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों द्वारा सुझाई गयी जमीन का स्वयं मौके पर जाकर मौका मुआयना भी किया। बैठक में ग्रामीणों ने डीसी से गांव के मंदिर में ओपन एयर जिम व अमृत सरोवर की दीवार बनाने का भी अनुरोध किया जिस पर डीसी ने अपनी सहमति प्रदान करते हुए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

Related posts

श्रीमद्भागवत महापुराण कल्पवृक्ष से भी बढक़र माना गया : आचार्य बालयोगी जी महाराज

Ajit Sinha

हरियाली महोत्सव के तहत गुरुग्राम के घाटा नगर वन सहित 4 अन्य स्थानों पर किया गया पौधारोपण कार्यक्रम आयोजित

Ajit Sinha

जिला प्रशासन ने इन 8 वार्डों में ज्यादा पॉजिटिव केसों वाली बस्तियों को घोषित किया बड़े प्रकोप वाले क्षेत्र

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//stoobsugree.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x