Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद हरियाणा

चंडीगढ़ ब्रेकिंग: विद्यार्थी बोले, “थैंक यू हरियाणा सरकार, सुरक्षित घर पहुँचाने के लिए”


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
चंडीगढ़:हरियाणा सरकार के प्रयासों से मणिपुर में पढ़ाई करने गए प्रदेश के विद्यार्थियों का सकुशल अपने घर लौटना शुरू हो गया है। सोमवार देर रात 5 विद्यार्थियों का पहला बैच दिल्ली पहुंचा। इन विद्यार्थियों ने दिल्ली हवाई अड्डे पर उतरते ही सकुशल घर वापसी के लिए हरियाणा सरकार का आभार जताया। विद्यार्थी बोले, “थैंक यू हरियाणा सरकार, सुरक्षित घर पहुँचाने के लिए” । मणिपुर में हिंसा फैलने के बाद वहां पर पढ़ाई करने के लिए गए हरियाणा के विद्यार्थियों को सकुशल वापस लाने के हरियाणा सरकार ने पुख्ता इंतजाम किए हैं। इन विद्यार्थियों के शिक्षण संस्थान से लेकर हवाई जहाज में बैठने और दिल्ली में उतरने तक सरकार निरंतर संपर्क साधे रहती है। दिल्ली हवाई अड्डे पर हरियाणा भवन के प्रोटोकॉल ऑफिसर समल दास को इन्हें रिसीव करने और इनकी इच्छा अनुसार खाना खिलाने, हरियाणा भवन दिल्ली में ठहराने की व्यवस्था भी की हुई है। मणिपुर से लौटे हरियाणा के विद्यार्थियों के पहले बैच में महेंद्रगढ़ जिला के कमलकांत, जींद जिला की ऋतु, पलवल जिला की शिवानी, सिरसा जिला से नेहा और रोहतक से सागर कुंडू शामिल थे।

दिल्ली हवाई अड्डे पर मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत करते हुए इन विद्यार्थियों ने कहा कि उन्हें मणिपुर से हरियाणा वापस लाने के समस्त प्रबंध हरियाणा सरकार ने किए थे, यहां तक कि उनकी हवाई जहाज की टिकट का इंतजाम भी हरियाणा सरकार ने किया है। इन प्रबंधों के लिए विद्यार्थियों ने हरियाणा सरकार विशेषकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल का आभार जताया है। उन्होंने कहा कि मणिपुर में हिंसा फैलने के बाद उन्होंने हरियाणा सरकार से उन्हें सकुशल वहां से निकालने की अपील की थी, जिसके बाद सरकार ने प्रो-एक्टिव होकर काम किया और लगातार उनसे संपर्क बनाए रखा। मणिपुर से दिल्ली के लिए कोई सीधी फ्लाइट नहीं थी और ना ही टिकट मिल रही थी। हरियाणा सरकार ने मणिपुर के इम्फाल से अगरतला, कोलकाता होते हुए उन्हें दिल्ली पहुंचाया है। इसके लिए उन्हें लगभग 9 घंटे हवाई जहाज में सफर करना पड़ा। हरियाणा के सिरसा जिला की रहने वाली नेहा, जो मणिपुर में एमएससी मैथमेटिक्स की प्रथम वर्ष की छात्रा है, ने कहा कि “हरियाणा सरकार ने हमारा बहुत साथ दिया, हमारी फ्लाइट बुक की, हमें सुरक्षित हमारे घर पहुंचाया, यह बहुत बड़ी बात है”। इसी प्रकार, पलवल की रहने वाली एक और छात्रा शिवानी ने कहा कि ” हरियाणा सरकार ने हमारे साथ कोऑर्डिनेट किया, हमारी बहुत हेल्प की है … गवर्नमेंट का दिल से शुक्रिया है “। शिवानी एनआईटी मणिपुर में एमएससी केमिस्ट्री प्रथम वर्ष की छात्रा हैं। इस दल की जींद की रहने वाली ऋतु भी एनआईटी मणिपुर में केमिस्ट्री में पीएचडी स्कॉलर हैं। ऋतु ने बताया कि वहां पर 3 तारीख से परिस्थितियां खराब होनी शुरू हो गई  थी, उसके बाद हालात बहुत ज्यादा खराब होते चले गए। हर स्टूडेंट ने अपने अपने प्रदेश की गवर्नमेंट से संपर्क किया। इस कड़ी में हमने भी हरियाणा सरकार से संपर्क साधा, तो सरकार ने प्रोसेस शुरू करके हमें सुरक्षित घर पहुंचाया है। इसके लिए “हम हरियाणा सरकार को थैंक यू बोलना चाहते हैं ।हरियाणा सरकार सभी स्टूडेंट्स के पेरेंट्स से भी लगातार संपर्क में है, हमारे पेरेंट्स को पूरे रूट और हमारी सेफ्टी के बारे में सरकार के अधिकारी अवगत करवाते रहे। मणिपुर से अगरतला होते हुए कोलकाता के रास्ते उन्हें दिल्ली लाया गया है, हरियाणा सरकार ने ही सभी का हवाई टिकट करवाया है।”जिला महेंद्रगढ़ के कमल कांत, जो मणिपुर एनआईटी में केमिस्ट्री डिपार्टमेंट में पीएचडी के तृतीय वर्ष के छात्र है, ने बताया, “दो दिन पहले ही हमने हरियाणा सरकार से संपर्क किया, उसके बाद से सरकार के अधिकारी निरंतर हमारे संपर्क में रहे। सरकार ने हमारी पूरी मदद की और हमें घर सुरक्षित पहुंचाने के पूरे इंतजाम किए। टिकट तथा खाने-पीने की पूरी व्यवस्था हरियाणा सरकार ने की”।कमलकांत ने कहा, “हरियाणा गवर्नमेंट को थैंक्स कहना चाहेंगे जिन्होंने ऐसी मुश्किल घड़ी में हमारा साथ दिया, मुख्यमंत्री मनोहर लाल का दिल से धन्यवाद करते हैं।”एनआईटी मणिपुर में कंप्यूटर साइंस में बी-टेक के छात्र सागर, जो रोहतक जिला के रहने वाले हैं, ने बताया कि “हरियाणा सरकार निरंतर हमारे संपर्क में रही, हमारी टिकट करवाई, सकुशल घर वापसी का पूरा प्रबंध हरियाणा सरकार ने किया, सरकार के इस कदम की सराहना करते हैं कि उन्होंने हमारे लिए इतना सोचा, थैंक्यू सीएम सर, वैरी वैरी थैंक्यू।”मणिपुर में सांप्रदायिक हिंसा फैलने के बाद हरियाणा सरकार अपने प्रदेश के वहां पढ़ रहे विद्यार्थियों को सुरक्षित घर वापस लाने के कार्य में जुट गई है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के निर्देश पर प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव संजीव कौशल लगातार मणिपुर प्रशासन के संपर्क में हैं। स्वयं मुख्यमंत्री मनोहर लाल मणिपुर की हर स्थिति का अपडेट अधिकारियों से ले रहे हैं और उन्होंने अधिकारियों को यह स्पष्ट निर्देश दे रखे हैं कि विद्यार्थियों को जल्दी वापस लाने के लिए पूरी व्यवस्था करें। हरियाणा सरकार ने मणिपुर में पढ़ाई कर रहे प्रदेश के विद्यार्थियों की सूची भी तैयार कर ली है। अभी तक प्राप्त सूचना के अनुसार 16 विद्यार्थी मणिपुर में विभिन्न संस्थानों में शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं जिनमें से पांच विद्यार्थियों का दल सकुशल प्रदेश वापस पहुंच चुका है और दूसरा दल मंगलवार को वहां से रवाना होगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इन विद्यार्थियों और इनके परिजनों को प्रदेश सरकार की ओर से हर संभव सहयोग का भरोसा दिलाया है।

Related posts

फरीदाबाद: लोकसभा चुनाव के मद्देनजर शहर में धारा-144 लागू कर दी गई हैं.हथियारों को लेकर सावर्जनिक स्थानों पर घूमने पर लगी पाबंदी।

Ajit Sinha

फरीदाबाद: उपायुक्त विक्रम ने नवनिर्मित इंडोर स्टेडियम के निर्माण कार्यों का जायजा लिया।

Ajit Sinha

फरीदाबाद : एनआईटी डीसीपी निकिता गहलौत से यूआईसी व ग्रीन फील्ड कॉलोनी के निवासियों ने मुलाकात की, बढ़ते अपराधों को ख़त्म करेंगें।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//thampolsi.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x