Athrav – Online News Portal
हरियाणा

पिज़्ज़ा ना खिलाने पर नाराज़ बच्चे पहुंचे शिमला, मात्र 20 मिनट में क्राइम ब्रांच ने ढूंढा।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
चंडीगढ़ :स्टेट क्राइम ब्रांच हरियाणा ने पंचकूला से 18 घंटे से गुमशुदा दो सगे नाबालिग भाइयों को मात्र 20 मिनट में ही परिवार से मिलवा दिया। पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया की पंचकूला के हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी सेक्टर- 19 से 1 अक्टूबर 2022 को दो नाबालिग भाई घर से बैग में ₹65000 रुपए लेकर कहीं चले गए। बच्चों के गुमशुदा होने की सूचना पुलिस चौकी, सेक्टर- 19, पंचकूला में दी गई । केस की गंभीरता को समझते हुए और मामला छोटे बच्चों से जुड़े होने के कारण चौकी इंचार्ज एस आई राममेहर ने एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट में कार्यरत एएसआई राजेश कुमार से संपर्क साधा और सारे मामले की जानकारी दी गई और बताया गया 2 नाबालिग बच्चे घर से कहीं चले गए है और इनका परिवार तलाश करने में मदद की जाए।

परिवार वालो की चिंता देखते हुए ए एच टी यु की पंचकूला यूनिट ने बच्चों की जानकारी व फोटो प्राप्त किए और कहा हमें बस थोड़ा सा समय दिया जाए । पंचकूला टीम द्वारा दोनों बच्चों के फोटो, आस पास के राज्यों के विभिन्न ग्रुप में भेज दिए गए। फोटो के साथ सभी जगह सूचित किया गया की अगर इन बच्चों की जानकारी पाई जाती है तो हमें जल्दी से जल्दी इनकी सूचना दी जाए। इसी दौरान शिमला , हिमाचल प्रदेश के चाइल्ड केयर सेंटर की चेयरपर्सन ने ग्रुप मैसेज प्राप्त करने के बाद जानकारी दी कि यह दोनों बच्चे हमारे पास सकुशल है और ओपन सेंटर होम में रह रहे है। यह बच्चे शिमला पुलिस को मिले थे और इनके बैग में लगभग ₹65000 भी रिकवर किए गए हैं। नाबालिग भाइयों के सकुशल जानकारी मिलते ही यह सूचना चौकी इंचार्ज एस आई राममेहर, सेक्टर -19 को दी गई ।

चौकी इंचार्ज ने यह जानकारी परिवार दी और उन्हें स्टेट क्राइम ब्रांच मुख्यालय पहुंचने को कहा। क्राइम ब्रांच मुख्यालय में गुमशुदा बच्चों को वीडियो कॉलिंग के जरिए पिता पवन से बात करवाई और 18 घंटे से लापता बच्चों को मात्र 20 मिनट में सकुशल ढूंढ दिया। जानकारी देने पर पिता पवन ने बताया कि बच्चों ने फोन के द्वारा पिज्जा ऑर्डर किया था, तो उस पर थोड़ा डांट दिया गया था जिसके कारण बच्चे घर के गुल्लक में से लगभग 65000 रुपए निकाल कर बैग में डाल कर चले गए। शिमला चाइल्ड वेलफेयर कमेटी ने परिवार को 4 तारीख को शिमला पहुँचने को कहा है जहाँ बच्चे को परिवार के सुपुर्द कर दिए जाएंगे।

ट्रैन से बिछड़ गई थी यूपी की नाबालिग बेटी, पानीपत से क्राइम ब्रांच ने किया रेस्क्यू, मिलवाया परिवार से।

पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट की पानीपत टीम ने उत्तर प्रदेश की रहने वाली 13 वर्षीय नाबालिग लड़की को पानीपत से रेस्क्यू कर परिवार से मिलवाया। जानकारी अनुसार 13 वर्षीय अनीता (काल्पनिक नाम) उत्तर प्रदेश में अपनी जिले से शाम को 6 बजे ट्रैन से भटक कर पानीपत आ गई थी। 24.09.2022 को नाबालिग लड़की को पानीपत रेलवे स्टेशन पर रेलवे पुलिस द्वारा रेस्क्यू कर थाने लाया गया। गुमशुदा लड़की की सुचना जीआरपी द्वारा एएचटीयु पानीपत को दी गयी जहाँ से मुख्य सिपाही रविंद्र कुमार ने मौके पर पहुंच कर गुमशुदा लड़की का मेडिकल करवा कल्याण समिति उमा रोड पानीपत में सुरक्षित पहुँचाया गया। नाबालिग लड़की से टीम द्वारा बातचीत की गई ताकि परिवार तक पहुंचा जा सके। कॉउन्सिलिंग के दौरान लड़की ने गाँव का नाम मवई बताया। गाँव के नाम से उत्तर प्रदेश में जिला बाँदा में संपर्क कर गाँव की चौकी से संपर्क किया गया। चौकी से लड़की के परिजनों का नंबर प्राप्त किया गया और वीडियो कॉल से पहचान करवाई गई । टीम के अथक प्रयास से अगले ही दिन पिता पानीपत आये और सभी औपचारिकताएं पूरी कर नाबालिग लड़की को परिवार को सौंप दिया गया।

Related posts

फरीदाबाद : अब हरियाणा में कांग्रेस की सरकार बनेगी जनता ने भाजपा सरकार से जो आशा किया था वह निराशा में बदल चुकी हैं,हुड्डा।

Ajit Sinha

हरियाणा सरकार ने तुरंत प्रभाव से 2 आईएएस अधिकारियों के स्थानांतरण एवं नियुक्ति आदेश जारी किए हैं।

Ajit Sinha

हरियाणा पुलिस ने एक ड्रग तस्कर और उसके परिजनों की 6.5 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति अटैच की है।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//eptougry.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x