Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद मनोरंजन

जग की रचना करने वाले क्या क्या खेल दिखाते हैं, सिया राम हो जाती है और राम सिया हो जाते है।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
फरीदाबाद :विजय रामलीला, मार्किट न० 1 फरीदाबाद की 68 वर्ष पुरानी रामलीला के रंग मंच पर कल रात हुआ सीता स्वयंवर, प्रथम दृश्य मे भगवान राम और माता सीता जनक नगरी की फुलवारी में मिले और दूसरे दृश्य में राम ने शिव धनुष पर प्रत्यंचा चढ़ाई, सीता ने राम जी को वर माला डाली, आकाश से पुष्पवर्षा की गई। इसके बाद हुआ लक्ष्मण परशुराम सम्वाद। सम्वाद में लक्ष्मण परशुराम के डायलॉग सुनकर दर्शक हुए उत्साहित। लक्ष्मण की भूमिका में प्रिंस मनोचा ने मंच तहलका मचा दिया वही दूसरी परशुराम की भूमिका निभाते सुशील नागपाल ने बराबर की टक्कर दी।

दोनों के बीच चेहरे पर सरलता का भाव लिए,शांत स्वरूप राम (सौरभ कुमार) दोनों को ही शांत करते रहे। अंत मे परशुराम ने राम से अपने खुद के धनुष पर चिल्ला चढ़ाने को कहा। राम ने उस धनुष को भी तान दिया तो परशुराम के यह विश्वास होगया की यही रमा पति विष्णु हैं। आज इसी मंच पे होगा नाच गाने, गाजे बाजों के साथ सीता राम का लग्न, विशाल भण्डारा और रंगारंग झांकी प्रदर्शन।



चेयरमैन सुनील कपूर ने बताया कि इस दिन का संस्था को बेसब्री से इंतज़ार था, राम बारात की प्रथा को बदल कर वह ये मनोरम दृश्य पब्लिक के सामने पेश करने जा रहे हैं जहाँ सीता राम की युगल छवि दरबार मे विराजमान होगी और दर्शक मंच पर चढ़ कर माथा टेक पाएंगे। मन्नते माँग पाएंगे। लोगो की आस्था इस मंच पर और बढ़ेगी। येही बात है जो 68 साल पुराने इस मंच को अन्य रामलीला मंचो से हट कर साबित करती है।⁠⁠⁠⁠

Related posts

वैष्णव देवी मंदिर के अध्यक्ष जगदीश भाटिया ने करीब 5500 माता की भेंटें लिख चुके गीतकार अनिल कत्याल को किया सम्मानित 

webmaster

मेरा भारत स्वर्णिम भारत ब्रह्मकुमारीज् युवा बस यात्रा अभियान, ग्रीनफील्ड कालोनी ब्रह्माकुमारीज् केन्द्र में पहुंचा: वीरेंद्र भड़ाना। 

webmaster

फरीदाबाद :श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर आज केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, मेयर सुमनबाल व चेयरमेन दिनेश अदलखा जमकर ठुमके लगाएं।

webmaster
error: Content is protected !!