Athrav – Online News Portal
खेल दिल्ली नई दिल्ली राष्ट्रीय

उपमुख्यमंत्री ने सरकारी स्कूल में विश्वस्तरीय एस्ट्रोटर्फ हॉकी मैदान का उद्घाटन किया, बोले-

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
नई दिल्ली:उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आज सर्वोदय बाल विद्यालय,अशोकनगर में विश्वस्तरीय एस्ट्रो टर्फ हॉकी मैदान का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि हमने खिलाड़ियों के लिए तमाम सुविधाओं का इंतजाम कर दिया है। अब खिलाड़ियों और कोचेज से अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में अपनी प्रतिभा दिखाकर देश के लिए मैडल लाने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने होनहार खिलाड़ियों को हर मदद देने का निर्देश दिया है ताकि सुविधाओं और पैसों के अभाव में कोई प्रतिभा पीछे न रह जाए। इस मौके पर ओलिंपिक पदक विजेता खिलाड़ी सुशील कुमार भी मौजूद थे।
 
सिसोदिया ने कहा कि इस विश्वस्तरीय एस्ट्रोटर्फ हॉकी मैदान को बनाने में टैक्सपेयर्स के 5.78 करोड़ रूपए लगे हैं। इस मैदान में खिलाड़ियों को खेलने का अवसर मिले, तो यह पैसा वसूल हो जाएगा। लेकिन अगर यहां से देश के लिए अच्छे खिलाड़ी न निकलें, तो पैसा बेकार जाएगा। इसलिए स्कूल और खेल अधिकारियों की जिम्मेवारी है कि खिलाड़ियों को इस मैदान के उपयोग की पूरी सुविधा मिले। श्री सिसोदिया ने कहा कि इस मैदान को सरकारी नियमों का शिकार न बनने दें। खिलाड़ियों की सुविधा और जरूरत के अनुसार नियम बनाए जाएं। किसी नियम में बदलाव की जरूरत हो, तो सरकार उसके लिए तैयार है। सिसोदिया ने कहा कि खेल की सुविधाएं देने के मामले में हमें लचीला होना पड़ेगा। लेकिन खेल की तैयारियों में खिलाड़ियों को सभी अनुशासन का पालन करना होगा ताकि उनकी प्रतिभा का विकास हो।  सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में हम ऐसे चार विश्वस्तरीय एस्ट्रोटर्फ हॉकी मैदान बना रहे हैं। आज यह तीसरा मैदान है। घुम्मनहेड़ा और झिलमिल में भी ऐसे मैदान बने हैं। चार सौ मीटर के चार रेसिंग ट्रेक और विश्वस्तरीय स्वीमिंग पुल भी बनाए गए हैं। इन सुविधाओं के कारण दिल्ली के सरकारी स्कूलों का खेलों में प्रदर्शन बेहतर हुआ है और मैडल लाने का ग्राफ बढ़ा है।
उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हमने होनहार खिलाड़ियों को हर जरूरी सुविधा देने की पूरी जिम्मेवारी ली है। खिलाड़ियों के लिए आवासीय सुविधा तथा स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी भी बनाई जा रही है। गोल्ड मैडल लाने वाले खिलाड़ियों को भी यह सोचना पड़ता है कि उनका एडमिशन कहां होगा। लेकिन हम उन्हें स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी में एडमिशन देंगे।

उन्होंने कहा कि जब कोई खिलाड़ी जीतकर आता है तो हर सरकार उसकी मदद करती है। लेकिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पांच साल पहले ही कह दिया था कि हमारे होनहार खिलाड़ी जब खेल के मैदान में पसीना बहा रहे हों, उसी वक्त उन पर पैसा लगाना चाहिए। इसीलिए हमने होनहार खिलाड़ियों की मदद के लिए शानदार योजना चला रखी है। इसमें साढ़े तीन लाख से लेकर 16 लाख तक की सालाना राशि दी जाती है। श्री सिसोदिया ने कहा कि हमारे खिलाड़ी जब किसी प्रतियोगिता में मैडल लेकर आते हैं तो अन्य सभी राज्यों से ज्यादा इनाम दिल्ली सरकार देती है। सिसोदिया ने खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि आप मन लगाकर खेलो, आपको जितने पैसों की जरूरत होगी, उतना खर्च करने के लिए दिल्ली सरकार आपके साथ खड़ी है। आप अपनी प्रतिभा दिखाओ, बाकी सब जिम्मेवारी हमारी है।  सिसोदिया ने कहा कि विश्वप्रसिद्ध हाॅकी खिलाड़ी ध्यानचंद और धनराज पिल्लई भी ऐसे ही मैदानों से निकले हैं। अब इन मैदानों से कुछ अच्छी खेल प्रतिभाएं निकलकर आएं और हमारे सपनों को साकार करें।

Related posts

नई दिल्ली: एमनेस्टी के आरोप दुर्भाग्यपूर्ण, तथ्यहीन और सच्चाई से कोसों दूर हैं-राजयवर्धन सिंह राठौड़

webmaster

जंगल में भिड़ गए दो खूंखार बाघ, दहाड़ सुन निकल गईं लोगों की चीखें… देखें पूरा वीडियो

webmaster

बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने जम्मू और कश्मीर के लोगों के कल्याण हेतु उठाए गए प्रगति शील कदम के लिए पीएम का किया धन्यवाद 

webmaster
error: Content is protected !!