Athrav – Online News Portal
दिल्ली नई दिल्ली राजनीतिक राष्ट्रीय

कांग्रेस अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी ने आज महासचिवों और इंचार्जों को मोदी सरकार के बारे में क्या कहा-जानने के लिए पढ़ें

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी ने महासचिवों और इंचार्जों को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में आप सभी महासचिवों, प्रभारियों व कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्यों को नए दायित्वों की शुभकानाएं दी। उन्होनें कहा कि  देश के लिए लगातार संघर्ष करना ही कांग्रेस संगठन का ध्येय रहा है। आज भी पूरे समर्पण से देश की सेवा ही हमारे संगठन का मूल मंत्र है। आप सब साथियों को जो दायित्व दिया गया है, उसका महत्व इसलिए भी अधिक है, क्योंकि आज देश का प्रजातंत्र सबसे कठिन दौर से गुजर रहा है। देश में ऐसी सरकार काबिज हो गई है, जो देश के नागरिकों के हकों को मुट्ठीभर पूँजीपतियों के हाथों में सौंप देना चाहती है। इस सरकार ने करोड़ों किसानों के खिलाफ तीन काले कानून लाकर खेती पर हमला बोला है। मोदी सरकार हरित क्रांति को हराने की साजिश कर रही है। करोड़ों खेत मज़दूरों, बंटाईदारों, पट्टेदारों, किसानों, अनाज मंडियों में काम करने वाले ग़रीबों और छोटे दुकानदारों की रोजी-रोटी पर हमला बोला गया है।

ये हमारा कर्तव्य है कि हम मिलकर इस षडयंत्र को विफल करें। कोरोना महामारी में न सिर्फ मज़दूरों को दर-बदर की ठोकरें खाने को मजबूर किया,पर साथ-साथ पूरे देश को महामारी की आग में झोंक दिया। 21 दिन में कोरोना महामारी को हराने का दावा करने वाले प्रधानमंत्री ने देश को अपने हाल पर छोड़ दिया है। अपनी जवाबदेही से मुंह मोड़ लिया है। कोरोना महामारी से लड़ने को लेकर न इनके पास नीति है, न सोच है, न रास्ता और न ही कोई हल। भाजपा सरकार ने देश के नागरिकों की मेहनत और कांग्रेस सरकारों की दूर दृष्टि से बनाई गई मजबूत अर्थव्यवस्था (Economy) को तहस-नहस कर दिया है। जिस प्रकार से अर्थव्यवस्था औंधे मुंह गिरी है,ऐसा पहले कभी नहीं हुआ। आज युवाओं के पास रोज़गार नहीं है। 14 करोड़ के करीब रोज़गार खत्म हो गए हैं। छोटे-छोटे कारोबारियों, दुकानदारों और असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूर भाइयों की रोजी-रोटी खत्म हो रही है, पर मौजूदा सरकार को कोई परवाह नहीं। अब तो भारत सरकार अपनी संवैधानिक ज़िम्मेदारी से भी पीछे हट गई है। जीएसटी  में प्रांतों का हिस्सा तक नहीं दे रही। प्रांतीय सरकारें इस संकट की घड़ी में अपने लोगों की मदद कैसे करेंगी? देश में सरकार द्वारा फैलाई जा रही अफरा-तफरी और संविधान की अवहेलना का यह एक नया उदाहरण है। 

दलित भाइयों-बहनों का दमन किया जा रहा है। हमारी मासूम बेटियों को सुरक्षा देने के बजाय भाजपा सरकारें अपराधियों का साथ दे रही हैं। पीड़ित परिवारों की आवाज़ को दबाया जा रहा है। यह कौन सा राज धर्म है? मगर देश पर आई इन चुनौतियों का सामना करने का नाम ही कांग्रेस संगठन है। मुझे पूरा विश्वास है कि आप सब अनुभवी लोग इस कठिन समय में कठोर मेहनत कर देश पर आए इस संकट का मुकाबला करेंगे और भाजपा सरकार के इन प्रजातंत्र और देश विरोधी मंसूबों को कामयाब नहीं होने देंगे। 

Related posts

दिल्ली के CGO कॉम्प्लेक्स में भीषण आग, दमकल की 24 गाड़ियां मौके पर,बुझाने में लगी

webmaster

गैर कोविड-19 मरीजों को मेडिकल इमरजेंसी के दौरान अस्पताल जाने के लिए हेल्पलाइन नंबर- 102 व 112 पर करना होगा काॅल: सतेंद्र जैन

webmaster

फरीदाबाद : आप सुप्रीमों अरविंद केजरीवाल के प्रदेश में होने वाले रोड शो के बाद,फरीदाबाद में आम आदमी पार्टी की होगी जबरदस्त रैली,धर्मवीर भड़ाना।

webmaster
error: Content is protected !!