Athrav – Online News Portal
दिल्ली नई दिल्ली राजनीतिक राष्ट्रीय वीडियो

राहुल गांधी ने आज माता वैष्णों देवी के दर्शन के बाद जम्मू में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए क्या कहा-सुने इस वीडियो में

अजीत सिन्हा / नई दिल्ली
राहुल गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि जय माता दी। बोलिए – जय माता दी। रजनी पाटिल, गुलाम नबी आजाद, गुलाम अहमद मीर, ताराचंद, हमीद कर्रा, रमन भल्ला, मुला राम, बीवी निवास, नीरज कुंदन, रविन्द्र शर्मा, जीएम सरुरी , मजीद वानी जी, पार्टी के हमारे सब कार्यकर्ता, प्रेस के हमारे मित्रों, भाइयों और बहनों, आप सबका आज यहां बहुत-बहुत स्वागत है। मैंने प्रेस के मित्रों कह दिया, मगर मित्रों जैसा काम नहीं करते ये। नहीं, दूसरे तरीके से बोलता हूं, हमारे मित्रों का काम नहीं करते, उनके मित्रों का काम करते हैं।

कुछ ही दिनों में, एक महीने के अंदर मैं जम्मू-कश्मीर में दो बार आया हूं और जल्द ही मैं लद्दाख भी जाना चाहता हूं। मैंने श्रीनगर में कहा था कि जम्मू-कश्मीर में आते हुए, जब भी मैं आता हूं, मुझे लगता है कि घर आया हूं और वही भावना, वही बात मैं आपको आज कहना चाहता हूं कि कल मैं वैष्णो देवी के दर्शन करने गया और मुझे ऐसे ही लगा कि मैं घर आया हूं। तो ये जो प्रदेश है, प्रदेश था, आज ये यूनियन टेरिटरी है, उसके बारे में बोलूंगा। इसका बहुत पुराना रिश्ता मेरे परिवार से है। प्यार का रिश्ता है और सालों पुराना रिश्ता है। तो (यहाँ ) आकर मुझे बहुत खुशी हो रही है। मगर सिर्फ खुशी नहीं हो रही है, दुख भी हो रहा है। दुख किस बात का कि जो आपका कंपोजिट कल्चर है, जो आपके बीच में प्यार की भावना, भाईचारे की भावना, जो आपके बीच में है, उसको बीजेपी-आरएसएस के लोग तोड़ने का काम कर रहे हैं और उससे आप लोग कमजोर होते हो। और आपको देखने को मिल रहा है कि आपकी जो इकॉनोमी थी, टूरिज्म था, व्यापार था, उसको चोट लगी है।कल माता जी के मंदिर में मैं गया। मंदिर में तीन सिंबल्स थे। आप सब गए हो, (कार्यकर्ताओं से पूछते हुए राहुल गांधी ने कहा) गए हो ना – आपने देखा है। अंदर जाकर आपने देखा – वहाँ पर तीन सिंबल थे- दुर्गा जी, लक्ष्मी जी और सरस्वती जी, सही बोला। आपने देखा। अब दुर्गा, जिसको हम दुर्गा मां कहते हैं, दुर्गा क्या हैं – दुर्गा शब्द दुर्ग से आता है,सही। दुर्गा मां, मतलब वो शक्ति, जो रक्षा करती है,सही बोला, ठीक है। लक्ष्मी की हम क्यों पूजा करते हैं – लक्ष्मी शब्द कहाँ से आता है (उंगलियों से इशारा करते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जवाब दिया)। नहीं, ये गलत है, ये आप कर रहे हैं, ये गलत है। ये लक्ष्मी नहीं है। मैं आपको आज बताने आया हूं। लक्ष्मी का मतलब, वो शक्ति जो लक्ष्य को पूरा करती है। अगर आपका लक्ष्य पैसा है, तो फिर जो आपने बोला, वो सही है। अगर आपका लक्ष्य कुछ और है, तो उस लक्ष्य को पूरा करने का काम जो शक्ति काम करती है, उसको हम लक्ष्मी कहते हैं। और सरस्वती, वो भी एक शक्ति है। विद्या, ज्ञान, नॉलेज जिसको हम कहते हैं, वो सरस्वती है।
तो ये तीन शक्तियां हैं। और जब ये तीन शक्तियां घर में होती हैं, देश में होती हैं, तो देश की तरक्की होती है। अब आप बताइए, नोटबंदी से हिंदुस्तान में मां लक्ष्मी की शक्ति बढ़ी या घटी (कांग्रेस कार्यकर्ताओं से पूछते हुए राहुल गांधी ने कहा)? जोर से बोलिए, आप कांग्रेस के कार्यकर्ता हो, बढ़ी या घटी? (जवाब देते हुए कार्यकर्ताओं ने कहा कि घटी) घटी।जीएसटी से लक्ष्मी की शक्ति बढ़ी या घटी – घटी। जो किसानों के नए कानून आ रहे हैं, उन कानूनों से दुर्गा माता की शक्ति बढ़ी या घटी, नुकसान हुआ उनको, चोट पहुंची। जब हिंदुस्तान के हर इंस्टीट्यूशन में, हर कॉलेज में, हर स्कूल में आरएसएस का व्यक्ति बैठाया जाता है, तो सरस्वती माता की शक्ति बढ़ती है या घटती है (कांग्रेस कार्यकर्ताओं से पूछते हुए राहुल गांधी ने कहा)? (जवाब देते हुए कार्यकर्ताओं ने कहा कि घटती है), तो ये हो क्या रहा है?अब दूसरे तरीके से बोलता हूं – जब कांग्रेस पार्टी ने मनरेगा लागू किया, लक्ष्मी की शक्ति बढ़ी या घटी (जवाब देते हुए कार्यकर्ताओं ने कहा कि बढ़ी) बढ़ी। जब कांग्रेस पार्टी ने हिंदुस्तान को 9 प्रतिशत जीडीपी ग्रोथ रेट दिया, लक्ष्मी की शक्ति बढ़ी या घटी, दुर्गा की शक्ति बढ़ी या घटी, सरस्वती की शक्ति की बढ़ी या घटी? (जवाब देते हुए कार्यकर्ताओं ने कहा कि बढ़ी)। फिर हो क्या रहा है? वो अपने आपको हिंदू कहते हैं, जो वैष्णो देवी पर जाकर मत्था टेकते हैं, वो उन्हीं शक्तियों का अपमान करते हैं। ये हो क्या रहा है? कहते हैं कि हम धार्मिक लोग हैं और फिर उन्हीं शक्तियों को दबाने का काम करते हैं।आपके साथ क्या किया, सबसे पहले जो मैंने बोला, आपका जो कंपोजिट कल्चर था, उस पर आक्रमण किया। जो आप में भाईचारा था, प्यार था, उस पर आक्रमण किया। आपको कमजोर किया और फिर आपका स्टेटहुड लिया। सीधा सा सवाल – आपका स्टेटहुड गया, लक्ष्मी की शक्ति बढ़ी या घटी, दुर्गा की शक्ति बढ़ी या घटी, सरस्वती की शक्ति की बढ़ी या घटी? (जवाब देते हुए कार्यकर्ताओं ने कहा कि घटी)। तो फिर, सीधी सी बात है।आप अपना धर्म समझते हो, आपको ये सवाल बीजेपी के लोगों से पूछना चाहिए- आप दुर्गा मां की बात करते हो, आप लक्ष्मी की बात करते हो, आप सरस्वती की बात करते हो, तो उनकी शक्ति को आप नष्ट क्यों कर रहे हो? अब मैं आपको दूसरी चीज बताता हूं। अब मैंने शक्ति की बात की। तो बाकी बात भी कर देता हूं।(हाथ दिखाते हुए राहुल गांधी ने पूछा) आपने ये चिन्ह कहीं देखा है, मेरे सिख भाई हैं, आपने ये चिन्ह कहीं देखा है? कहाँ देखा है, कहाँ देखा है आपने ये चिन्ह (हाथ दिखाते हुए राहुल गांधी ने पूछा) ये हाथ नानक जी की फोटो में दिखता है, आपको। यहाँ पर शिव जी की किसी ने फोटो देखी है, उसमें ये चिन्ह दिखता है आपको? महावीर जी की फोटो देखी है आपने, उसमें आपको ये चिन्ह दिखता है? यहाँ जो हमारे मुसलमान भाई हैं, जब आप अल्लाह का नाम लेते हो, आपको अपना हाथ दिखता है, यूं देखते हो उसको। बुद्ध जी की आपने फोटो देखी है, उनका हाथ दिखता है आपको? तो सवाल ये है कि इस हाथ का मतलब क्या है । मैं आपसे पूछता हूं, ये जो चिन्ह है, जो गुरु नानक की फोटो में दिखता है, जो शिवा की फोटो में दिखता है, जो हर धर्म में दिखता है, इसका क्या मतलब है? लोग कहते हैं कि इसका मतलब आशीर्वाद होता है। गलत, इसका मतलब आशीर्वाद नहीं होता है। इसका एक ही मतलब है- डरो मत, इसका ये मतलब होता है- सत्य बोलने से डरो मत, सत्य बोलो। इसका ये मतलब होता है और इसलिए ये कांग्रेस पार्टी का चिन्ह है, इसलिए ये चिन्ह आपको यहाँ दिखेगा और हर धर्म में दिखेगा। इस्लाम में दिखेगा, हिंदू धर्म में दिखेगा, सिख धर्म में दिखेगा, बौद्ध धर्म में दिखेगा, जैन धर्म में दिखेगा, सब धर्मों में दिखेगा, क्योंकि हर धर्म कहता है, सच्चाई से डरो मत और बीजेपी क्या करते हैं, बीजेपी सच्चाई से डरते हैं। बीजेपी डर है, कांग्रेस प्यार है।

मैंने कहा कि आपको स्टेट हुड वापिस मिलना चाहिए। सही बात बोली। ठीक है।

आखिरी बात मैं कहना चाहता हूं। मैं कहीं जाता हूं और कहता हूं, हमने मनरेगा शुरू किया। इसी भाषण में मैंने बोला, हमने मनरेगा किया। सही है। मगर ये हम कौन हैं- गुलाम नबी जी ने कहा- अस्पताल बनाए, कितने अस्पताल बनाए गुलान नबी जी? आपने कहा था, कितने अस्पताल बनाए आपने। टोटल 22, यहाँ 4, तो ये अस्पताल, ये मनरेगा, ये भोजन का अधिकार, जब मैं स्टेज से कहता हूं, हमने किया, गुलाम नबी आजाद जी कहते हैं, अस्पताल बनाए, ये किसने किया ? कांग्रेस। मगर कांग्रेस कौन – क्या ये काम गुलाम नबी आजाद जी ने किया, राहुल गांधी ने किया, नहीं, ये काम कांग्रेस के कार्यकर्ता ने किया। ये काम आप लोगों ने किया और अगर हमने किया है, तो आपकी शक्ति को लेकर हमने किया है। आपकी शक्ति के बिना ये काम हम नहीं कर सकते हैं।

तो कांग्रेस पार्टी को खड़ा करना है, एक ही काम करना है। जो हमारा कार्यकर्ता है, जो पहले मैंने शक्ति की बात की, जो हमारा कार्यकर्ता है, उसकी शक्ति का आदर करना है। और जो वो जिस दिन कांग्रेस के कार्यकर्ता के दिल में ये बात आ गई कि कांग्रेस पार्टी में मेरी आवाज सुनाई देती है, मेरी आवाज को सुना जाता है, उस दिन कांग्रेस पार्टी 100 नहीं, 200 नहीं, 300 नहीं, 450 सीट लेकर आ जाएगी वापस। ये मेरा आपको मैसेज था और ये जो मैंने आपको भाषण दिया, ये वैष्णो देवी की यात्रा पर ये बात मुझे समझ आई।

तो मैं आप सबका, जम्मू का, जम्मू के लोगों का, कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं का दिल से धन्यवाद करता हूँ कि आपने मुझे इतना प्यार दिया, रोज आप देते हो, इतनी इज्जत देते हो और आपकी जो शक्ति है, वो आप मुझे देते हो, इसके लिए दिल से बहुत-बहुत धन्यवाद।

आखिरी बात आप सुनिए और मैं जब कुछ बोलता हूँ, वो कांग्रेस पार्टी का कार्यकर्ता बोलता है, इसलिए मैं बोलता हूँ।

मैं दिल की बात करता हूँ आपसे, आज सुबह, डेलीगेशन में हमारे कश्मीरी पंडित भाई आए और मैं उनसे बात कर रहा था और उन्होंने कहा कि देखिए, कांग्रेस पार्टी ने हमारे लिए किया, कंपनसेशन देने की बात की थी, हमारी सरकार ने की थी और बीजेपी ने हमें झूठा वादा किया। कहा था, 25 लाख रुपए देने की बात की थी और हमें कुछ नहीं दिया। जब वो डेलीगेशन मुझसे बात कर रहा था, तो मेरे दिमाग में बात उठी कि ये जो डेलीगेशन है, इसी डेलीगेशन का मैं भी एक भाग हूँ, मेरा परिवार भी कश्मीरी पंडित है। तो मैं आपसे कहना चाहता हूँ, जब मैं बात बोलता हूँ, मैं झूठ नहीं बोलता हूँ और मैं अपने भाइयों से कह रहा हूँ, कश्मीरी पंडित जो भाई हैं, मैं आपको कह रहा हूँ कि मैं आपकी मदद करके दिखाऊँगा।

Related posts

कार चालक ने लड़की के साथ पिस्तौल की नोंक पर की रेप की कोशिश, भाग कर लड़की ने बचाई अपनी आबरू, देखिए वीडियो। 

webmaster

3 दिन से लापता थीं बुआ-भतीजी, घर के पीछे गड्ढे में मिली लाश

webmaster

इंजीनियर के लिए एलआईसी (LIC) में निकली नौकरी, जानें- कैसे करें आवेदन, जल्दी करे apply

webmaster
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x