Athrav – Online News Portal
अपराध गुडगाँव

कातिलाना हमला करने वाले तीन बदमाशों को अपराध शाखा ,सेक्टर -39 ने किया गिरफ्तार।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
गुरुग्राम :अपराध शाखा ,सेक्टर -39 व बिलासपुर ,गुरुग्राम की संयुक्त टीम ने बुधवार को कातिलाना हमला करने के तीन आरोपियों को गिरफ्तार किए हैं। पकड़े गए तीनों बदमाशों के पास से पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल की गई एक स्कार्पियों , एक देशी पिस्तौल व 3 जिंदा कारतूस बरामद किए हैं। पकड़े गए तीनों बदमाशों ने वेद प्रकाश नामक बदमाश पर रंजिशन हमला किया था। गिरफ्तार किए तीनों बदमाशों के खिलाफ आईएमटी सेक्टर -7 थाना मानेसर में भारतीय दंड सहिंता की धारा 307 ,341 ,34 व 25 -54 -59 आर्म एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हैं।

इंस्पेक्टर वरुण दहिया का कहना हैं कि बीते 10 अप्रैल को आईएमटी सेक्टर -7 मानेसर थाने में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था जिसमें भारतीय दंड सहिंता की धारा 307 , 341,34 व 25 -54 -59 आर्म एक्ट को दर्शाया गया हैं। इस मुकदमे में हत्या के मामले में सजा काट रहे और जमानत पर आए वेद प्रकाश नामक बदमाश पर जान से मारने की नियत से गोली मारने का जिक्र किया गया हैं। उनका कहना हैं कि इस केस की आगे की कार्रवाई के लिए पुलिस के आल्हा अधिकारी ने अपराध शाखा, सेक्टर -39 को सौपी गई थी । इसके बाद उन्होनें बदमाशों को पकड़ने के लिए एक विशेष टीम गठित की जब उनकी गठित की गई टीम ने इस केस की जांच शुरू की तो उसकी सुई योगेंद्र उर्फ़ रिंकू निवासी गांव कासना ,थाना आईएमटी ,सेक्टर -7 मानेसर,जिला गुरुग्राम, दीपक निवासी गांव परोरी ,थाना विजय गढ़ ,जिला अलीगढ ,उत्तरप्रदेश व रविंद्र उर्फ़ मुनेंद्र निवासी गांव नगौला ,जिला अलीगढ ,उत्तरप्रदेश पर जा कर अटक गई। उनका कहना हैं कि जब इन तीनों उपरोक्त बदमशों को हिरासत में लेकर गहनता से पूछताछ की गई तो उन लोगों ने पुलिस को बतलाया कि *वर्ष 2007 में शिकायतकर्ता व पीङित वेदप्रकाश ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर पकड़े गए आरोपी योगेन्द्र उर्फ रिन्कू के बङे भाई मनोज की गोली मारकर हत्या कर दी थी।


इसके बाद वेदप्रकाश द्वारा उक्त आरोपी के बङे भाई मनोज की हत्या करने के बाद दोनों के बीच आपस में रंजीश हो गई थी, उसके बाद वर्ष-2011 में वेदप्रकाश व उसके अन्य साथियों को आरोपी योगेन्द्र उर्फ रिन्कू के भाई मनोज की हत्या के केस में उम्रकैद की सजा हो गई और ये जेल चला गया। वर्ष –2016 में वेदप्रकाश हाईकोर्ट से जमानत पर जेल से बाहर आया जब से उक्त आरोपी योगेन्द्र उर्फ रिन्कू वेदप्रकाश को मारने की योजना बना रहा था। पीड़ित वेदप्रकाश अपराधिक प्रवृति का व्यक्ति है और इस पर हत्या, हत्या के प्रयास आदि के कई मुकदमें अंकित है।*उनका कहना हैं कि पूछताछ में यह भी ज्ञात हुआ कि उक्त आरोपी योगेन्द्र उर्फ रिन्कू कुख्यात बदमाश कुशलपाल निवासी खटौला की बुआ का लङका है, उक्त आरोपी दीपक कुख्यात बदमाश कुशलपाल निवासी खटौला का साला है तथा उक्त आरोपी रविन्द्र उर्फ मुनेन्द्र उक्त आरोपी दीपक का रिश्ते में भान्जा लगता है।* ये सभी आरोपी अपराधिक प्रवृति का है और कुख्यात बदमाश कुशलपाल निवासी खटौला के आफिस व ठीकानों पर बैठते है। आपको बतादे कि 9 अप्रैल को सुबह के वक़्त वेद प्रकाश नामक शख्स रॉकलैंड हॉस्पिटल से अपने एक साथी के साथ फॉर्चूनर गाडी में जा रहा था उस वक़्त स्कार्पियों गाडी में सवार बदमाशों ने वेद प्रकाश के ऊपर फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद वेद प्रकाश गोली लगने के कारण गंभीर रूप से घायल हो गया था और उसे घायल अवस्था में रॉकलैंड हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।

Related posts

महिला की फांसी पर लेटने की मौत, लोगों ने पुलिस पर आरोपी पक्ष को बचाने का लगाया आरोप , नारेबाजी की ,देखिए वीडियो

webmaster

गुरुग्राम:ऋषिकेश की दीया पांडेय के सिर सजा फैशन एक्स क्वीन का ताज ,देहरादून की साक्षी बनी फस्र्ट व गुडग़ांव की चंचल गोयल रही सेकेंड रनर अप

webmaster

गुरुग्राम :विधायक उमेश अग्रवाल ने उप-मंडल और तहसील के गठन करने पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल का जताया आभार, लोगों के कार्य तेजी से होंगे

webmaster
error: Content is protected !!