Athrav – Online News Portal
खेल गुडगाँव

जिला प्रशासन ने खेल स्टेडियमों को खोलने की अनुमति दे दी है, अब स्टेडियमों में खिलाड़ी अभ्यास कर सकते हैं।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
गुरूग्राम: कोरोना महामारी के कारण लागू हुए लाॅकडाउन की वजह से करीब 2 महीने से सूने पड़े गुरूग्राम जिला के खेल स्टेडियमों में रौनक लौटने लगी है।लाॅकडाउन के बीच गृह मंत्रालय की गाइडलाइन्स और राज्य सरकार के निर्देशानुसार गुरूग्राम जिला प्रशासन ने खेल स्टेडियमों को खोलने की अनुमति दे दी है। खिलाड़ियों व प्रशिक्षितों को तय किए गए नियमों का पालन करने के लिए कहा गया है। अभी स्टेडियमों में खिलाड़ी तो अभ्यास कर सकते हैं परंतु दर्शकों के आने पर प्रतिबंध है। खिलाड़ी अब शारीरिक दूरी की पालना करते हुए अभ्यास कर सकते हैं। जिला उपायुक्त अमित खत्री ने कहा कि सरकारी निर्देशों के अनुसार खिलाड़ियों व प्रशिक्षकों को कोविड-19 प्रोटोकाॅल का पालन करना होगा। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों को छोटे-छोटे गु्रप में ही प्रशिक्षण दिया जाएगा। ये स्टेडियम राज्य सरकार द्वारा इसलिए खोले गए हैं ताकि खिलाड़ी अपना अभ्यास जारी रख सकें। स्टेडियम के प्रवेश द्वार तथा कार्यालय में सैनिटाइजर का प्रयोग जरूरी किया गया है।

यही नहीं, प्रशिक्षकों व स्टाफ के सदस्यों को आरोग्य सेतु एप का प्रयोग करना जरूरी है। उन्होंने कहा कि खेल विभाग के अधिकारी यह सुनिश्चित करेंगे कि सभी खिलाड़ियों व प्रशिक्षकों की थर्मल स्क्रीनिंग करवाई जाए। जिला के खेल स्टेडियमों में खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए अपनाए गए उपायों का उल्लेख करते हुए जिला खेल अधिकारी राज यादव ने बताया कि खेल प्रागंण पर सैनिटाइजर व फेस मास्क का प्रयोग करने के बारे में सभी प्रशिक्षकों को हिदायत दे दी गई हैं। प्रशिक्षक इस बात पर ध्यान देंगे कि कोई भी खिलाड़ी आपस में हाथ ना मिलाए तथा खेलते समय एक दूसरे के शरीर को ना छूए । उन्होंने बताया कि 18 वर्ष से कम आयु के खिलाड़ियों को स्टेडियम में तभी प्रवेश दिया जाएगा जब उनके पास अभिभावक से लिखित सहमति पत्र होगा ताकि खेल प्रांगण में कोविड-19 को लेकर किसी भी घटना के लिए अभिभावक ही जिम्मेवार होंगे। जिला खेल अधिकारी ने यह भी बताया कि वर्तमान में राज्य सरकार द्वारा स्वीमिंग पूल को किसी भी स्थिति में खोलने की अनुमति नही दी गई है। उन्होंने बताया कि खेल प्रांगणो में खिलाड़ियों को प्रशिक्षण देने से पहले 8 से 10 खिलाड़ियों का एक गु्रप बनाना होगा। अगर किसी टीम इवेंट में 18 खिलाड़ी तथा दो कोच हैं तो वह एक घंटा निर्धारित संख्या में एक गु्रप को प्रशिक्षण देंगे तथा उसके बाद दूसरे ग्रुप को प्रशिक्षण दिया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि यदि खिलाड़ियों को फल या सब्जियां वितरित की जानी है तो खाने से कुछ घंटे पहले पानी में नींबू ,नमक डालकर अच्छी तरह से उन्हें धोकर तथा सुखाकर ही उनका प्रयोग करें।

Related posts

7 प्रत्याशियों के नामांकन रद्द, दो ने वापिस ले लिए , 25 प्रत्याशी अब मैदान में

webmaster

व्यापारी को फोन पर जान से मारने की धमकी देकर 10 लाख रूपए की रंगदारी मांगने के आरोप में गिरफ्तार

webmaster

राव ने कहा, मोदी सुनामी में बह जाएगा विपक्ष, देश के सामने मोदी से बड़ा कोई सशक्त विकल्प नहीं।

webmaster
error: Content is protected !!