Athrav – Online News Portal
टेक्नोलॉजी दिल्ली नई दिल्ली राष्ट्रीय

आईएएस/आईपीएस बनने के इच्छुक बच्चों के लिए दिल्ली सरकार की पहल का दूसरा सत्र आज आयोजित-मनीष सिसोदिया

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
नई दिल्ली:दिल्ली सरकार ने यूपीएससी का सपना देखने वाले बच्चों के लिए शुरू किए गए कार्यक्रम में स्टूडेंट्स के साथ युवा आईएएस, आईपीएस अधिकारी हर महीने संवाद करते है व पढ़ाई और तैयारी से जुड़े अनुभव शेयर करते है। इससे विद्यार्थियों को यूपीएससी परीक्षा की समझ पैदा होती है तथा स्टडी प्लान बनाने में मदद मिलती है।इस कड़ी की दूसरी सीरीज में आज दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशक उदित प्रकाश व पुलिस आयुक्त दक्षिण-पश्चिम जिला इंगित प्रताप सिंह ने स्टूडेंट के साथ अपनी यूपीएससी की तैयारी संबंधी अनुभव शेयर किए। विभिन्न विद्यालयों के लगभग 75 बच्चों के साथ प्रत्यक्ष संवाद के अलावा इस कार्यक्रम में लगभग 10000 बच्चे यूट्यूब लाइव के माध्यम से भी जुड़े।

आईपीएस इंगित प्रताप सिंह ने लगन, एकाग्रता, कड़ी मेहनत और अनुशासन को सफलता का मूलमंत्र बताया। आईएएस उदित प्रकाश ने कहा कि इन कार्यक्रमों के माध्यम से छात्रों में आत्मविश्वास जगाना और उन्हें उच्च उद्देश्य को प्राप्त करवाना दिल्ली सरकार का लक्ष्य है। शिक्षा निदेशक उदित प्रकाश राय ने बताया कि इंगित प्रताप सिंह की मां दिल्ली के एक सरकारी स्कूल में शिक्षिका हैं। उन्होंने छात्रों से कहा की आपके और हमारे बीच कोई अंतर नहीं है। एक समय पर हम आपकी जगह ही थे। कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प के साथ, आप अपने सपनों को प्राप्त करने में सक्षम होंगे और कई लोगों के लिए प्रेरणा बन जाएंगे। शिक्षा निदेशक ने कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से दिल्ली सरकार का प्रयास यूपीएसई की तैयारी के मिथ्यों को दूर कर बच्चों में आत्मविश्वास जगाना है। अपनी यूपीएससी की तैयारियों से जुड़े अनुभव बताते हुए 2011 बैच के आइपीएस अधिकारी इंगित प्रताप सिंह ने कई महत्वपूर्ण जानकारियां दी। उन्होंने बताया कि सेना से 3 बार चिकित्सकीय कारणों से निकाले जाने के बावजूद उन्होंने हार नहीं मानी और निरंतर मेहनत करते रहे। बच्चों को संबोधित करते हुए उपायुक्त ने कहा कि यूपीएसई की तैयारी केवल ट्रेलर है असली काम तो सर्विस में आने के बाद शुरू होता है।

उपायुक्त ने कहा कि हर बार जब आप असफल होते हैं, तो आपको काम करते रहना होगा। आप हार नहीं मान सकते। यदि एक दरवाजा बंद है,तो दूसरे पर दस्तक दें। उन्होंने कहा कि तैयारी के लिए विषयों का केवल सतही ज्ञान नहीं होना चाहिए, यूपीएसई परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए गहन ज्ञान होना ज़्यादा जरूरी है। इंगित  प्रताप सिंह ने छात्रों को उन विषयों को चुनने पर जोर दिया, जिनमें उनकी रुचि हो। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी सर्वोदय बाल विद्यालय रॉउज एवेन्यू में इस कार्यक्रम में शामिल हुए और छात्रों से कहा कि वे पूरे जुनून के साथ अपने सपने का पालन करें। उन्होंने कहा की केवल अंकों के लिए पढ़ाई नहीं करनी चाहिए, बल्कि सीखने के लिए पढ़ाई  करनी चाहिए। इस तरह अध्ययन कभी बोझ जैसा नहीं लगता है। उन्होंने  कहा कि ज्ञान और कौशल के साथ-साथ व्यक्ति को अपने सपनों के प्रति तत्पर होना चाहिए। IAS उदित प्रकाश ने साझा किया कि दिल्ली सरकार ने भविष्य में इस तरह के और कार्यक्रमों की योजना बनाई है। जिससे दिल्ली के बच्चों को अपने सपनों को पूरा करने की दिशा में मार्गदर्शन प्राप्त होगा।

Related posts

सुभाष चोपड़ा बने दिल्ली कांग्रेस के नए अध्‍यक्ष, कीर्ति आजाद को भी मिली अहम जिम्मेदारी

webmaster

फरीदाबाद: केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावर चंद की अध्यक्षता में दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम 2016 के संबंध में बैठक हुई

webmaster

ब्रेकिंग न्यूज़: राहुल और प्रियंका गांधी सहित 5 लोग हाथरस में पीड़ित परिवार के बीच पहुँच गई हैं, मीडिया व लोगों की काफी भीड़ हैं।

webmaster
error: Content is protected !!