Athrav – Online News Portal
दिल्ली नई दिल्ली राजनीतिक राष्ट्रीय वीडियो

पहली बार कोई चुनी हुई सरकार, जिम्मेदार सरकार, राष्ट्रीय पार्टी की सरकार खुले आम अपराधियों के साथ खड़ी हुई-कांग्रेस-देखें वीडियो

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
नई दिल्ली: कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश से निरंतर दिल दहला देने वाली वारदातें सामने आ रही हैं। हाथरस ने पूरे देश को झकझोर दिया था, मानवता को शर्मसार कर दिया था। उसके बाद जो रवैया उत्तर प्रदेश प्रशासन का रहा उससे सबको और पीड़ा हुई, दुख हुआ, गुस्सा तो खैर जायज है ही, लेकिन दुख बहुत ज्यादा हुआ।

गोंडा में 3 बच्चियों के साथ उनके घर पर रात को सोते हुए एसिड हमला हुआ। कल अलीगढ़ में एक पुजारी का शव मिला, हत्या कर दी गई उसकी। पिछले सप्ताह के अंत में बागपत की नहर में दो साधुओं के शव मिले, हत्या कर दी गई। आखिर क्या कारण है कि देश के निर्माण में अग्रणी भूमिका अदा करने वाला एक प्रदेश, इतना बड़ा प्रदेश ऐसी सुर्खियों में बना हुआ है, जिससे कि हम सब शर्मसार हैं। क्या कारण है कि अपराधियों के मन में एक वो आश्वस्त हैं अपराधी कि इस प्रदेश में जब तक यह सरकार है, उनका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। एनडीए का फुल फॉर्म तो नो डेटा अवेलेब्ल है ही, लेकिन अभी कुछ डेटा भी आया है। जो एनसीआरबी का 2019 के आंकड़े क्राईम के अगर हम उत्तर प्रदेश में देखते हैं, समस्त राज्यों की टेली है। Crime against women की जो श्रेणी है, जो कैटेगरी है, उसमें सर्वोत्तम सबसे ऊपर उत्तर प्रदेश, लगभग 60 हजार केसेस 2019 में। UP tops the category of crime against women as per the 2019 NCRB Data. Just in UP there were 2,424 dowry deaths, there were abatement to suicide, that is another category again वहाँ भी उत्तर प्रदेश आगे. Acid attacks में उत्तर प्रदेश आगे, Domestic violence, cruelty from the husband side, UP फिर वहाँ भी आगे। Kidnapping and abduction of women, उसमें उत्तर प्रदेश नंबर एक पर, सबसे आगे। शर्म आ जाती है ये देखकर कि इतना बड़ा प्रदेश इतना महत्वपूर्ण प्रदेश और उसकी ये हालत कर दी गई।

एक कारण जो प्राईमा फेसाइ देखने पर जो समझ में आता है कि क्यों एक आत्मविश्वास है अपराधियों के मन में, वो शायद सीधे-सीधे ये देखने को मिला कि पहली बार कोई चुनी हुई सरकार, जिम्मेदार सरकार, राष्ट्रीय पार्टी की सरकार खुलेआम अपराधियों के साथ खड़ी हुई, उनका बचाव करती हुई, उनके पक्ष में बोलती हुई सुनाई देती है। स्टूडियो में हम खुद झेलते हैं इस बात को, रोज झेलते हैं, कभी तो भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता को आकर उस महिला, जो पीड़िता है, मृतका है, उसका चरित्र हनन करते हुए सुनाई देते हैं, इशारों-इशारों में कई बार डॉयरेक्टली बात करते हैं और कुछ ऐसे पेनेलिस्ट बैठे होते हैं स्टूडियो में जो पूरी तरह से भाजपा की विचारधारा के फोलोअर्स होते हैं। सरेआम क्योंकि उनके ऊपर तो कोई रोक-टोक नहीं होते, सरेआम वो महिला जो मृतका है उसके खिलाफ बोलते हैं और अपराधियों के पक्ष में बोलते हुए सुनाई देते हैं। आपने ये कुलदीप सेंगर वाले केस में देखा कि कैसे स्वयं पार्टी के पदाधिकारी पक्ष में आ गए, उसके बचाव में, यही आपने चिन्मयानंद के केस में देखा, यही आपने कठुआ के केस में देखा, उत्तर प्रदेश से बाहर का भी एक उदाहरण बता दूं और अब हाथरस के भी देखने को मिला है, तो शायद हौसले बुलंद हो जाते हैं अपराधियों के जब उन्हें लगता है कि उनके साथ, उनके सिर पर आशीर्वाद है सरकार का। इससे ज्यादा भयावह बात उत्तर प्रदेश के आम नागरिक के लिए और नहीं हो सकती कि अपराधियों के साथ उत्तर प्रदेश की चुनी हुई सरकार खड़ी है। बचपन में हम आंदोलन जब करते थे, तो कुछ मुद्दे ऐसे होते थे, जहाँ पुलिस थोड़ी सोफ्ट हो जाती थी हमारे लिए, बच्चे थे शायद इसलिए भी सोफ्ट हो जाती थी, लेकिन कुछ मुद्दे भी ऐसे होते थे जब पुलिस सोफ्ट हो जाती थी, तब हम नारा लगाते थे कि अब डरने की क्या बात है, जब पुलिस हमारे साथ है। ये नारा अब उत्तर प्रदेश के अपराधियों के मन में है, उन्हें डर नहीं है क्योंकि भाजपा उनके साथ है, सरकार उनके साथ है, पुलिस उनके साथ है।

Related posts

भारत में जापान के राजदूत सातोशी सुजुकी ने दिल्ली मेट्रो का दौरा किया

webmaster

पार्टी कर कैब से आ रही थी महिला, ड्राइवर ने फ्लैट में घुसकर किया रेप, आरोपी गिरफ्तार

webmaster

एक ऑटो चालक चोरी, छीना झपटी व लुटे गए 123 मोबाइल फोनों के साथ गिरफ्तार।

webmaster
error: Content is protected !!