Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद

फरीदाबाद : ये मालूम न था, एक -एक कर के बिछड़ जाएंगे मालूम न था,

 
अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
फरीदाबाद : कल रात विजय रामलीला के एतिहासिक  मंच पर हुआ श्री राम को बनवास। प्रथम मन्थरा  द्वारा कौकयी की बुद्धि हर लेने का दृश्य दिखाया गया जिसमें कैकयी बने नितिन शर्मा और मन्थरा बने वैभव लरोइया ने जम कर सम्वाद किया। अगले दृश्य में कोप भवन में बैठी कैकयी ने दशरथ से मांगे अपने दो वरदान। तीसरे दृश्य ने सबको भाव विभोर कर दिया जिसमें राम (सौरभ कुमार) ने कौशल्या (मनोज शर्मा) से ली विदाई। दशरथ की भूमिका में नज़र आए  कमेटी के चेयरमैन सुनील कपूर।
जिनके अभिनय से दर्शकों की आंखे हुई नम। बनवास के मनोरम दृश्य को सजीव करने के लिए संगीत विभाग से विश्वबन्धु शर्मा द्वारा लिखा व गाया गया गाना दिन कभी ऐसे भी आएंगे ये मालूम न था, एक एक कर के बिछड़ जाएंगे मालूम न था, जिसने पधारे सभी दर्शकों के दिलो को मार्मिक कर दिया। अंतिम दृश्य में हुआ दशरथ का राम वियोग में स्वर्गवास। आज इसी मंच से भरत प्रसंग दिखाया जाएगा और होगा रावण द्वारा सीता हरण।

Related posts

फरीदाबाद : सीएम मनोहर के राज्य में निगम ने झुग्गियों को कुचल कर कड़ाके की ठंड में सैकड़ों गरीबों को खुले आसमान के निचे मरने हेतु छोड़ दिया।

webmaster

लखनऊ : पत्रकार उस्मान सिद्दीकी को प्रगतिशील समाजपार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव ने प्रदेश प्रवक्ता किया मनोनीत।

webmaster

फरीदाबाद : डीटीपी इंफोर्स्मेंट का ग्राहकों को धोखे से बचाने हेतु किया आह्वान ग्रीन फिल्ड कालोनी में फ्लैट खरीदने से पहले उनके कार्यालय से संपर्क करें।

webmaster
error: Content is protected !!