Athrav – Online News Portal
अपराध फरीदाबाद हरियाणा

दहेज़ लोभियों ने एक और नवविवाहिता की गला घोंट कर हत्या कर दी, परिजनों ने किया रोड जाम,की नारेबाजी-देखें वीडियो

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
पलवल:बुधवार को दहेज़ लोभियों ने एक और नवविवाहिता की गला घोंट कर हत्या कर दी और घर छोड़ कर फरार हो गए। पुलिस ने नवविवाहिता के शव को अपने कब्जे में जिले सिविल अस्पताल के शव गृह में रखवा दिया था। जिसका  पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों को सौप दिया। इस दौरान लोगों ने पुलिसिया कार्रवाई से नाराज़ होकर नेशनल हाइवे-2, गांव भुलवाना के पास जाम लगा कर जम कर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की।इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को आश्वासन दिया कि अगले 24 घंटों में सभी आरोपितों को अरेस्ट कर सलाखों के पीछे भेज दिया जाएगा। इसके बाद प्रदर्शन कारियों जाम खोला और अब मृतका रश्मि के शव को अंतिम संस्कार के लिए ले गए जहां पर अब अंतिम संस्कार की तैयारी की जा रही हैं। इस मामले में सदर पलवल थाने की पुलिस ने पति बलराम , देवर मनीष ,सास सत्यवती व ससुर ज्ञान चंद के खिलाफ भारतीय दंड सहिंता की धारा 302 , 323 , 304 बी, 498 ए , 34 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज कर सभी आरोपितों की सरगर्मी से तलाश शुरू कर दी हैं। 

सुरेश चंद ने सदर पलवल थाने में दर्ज मुकदमे में कहा कि वह गांव भुलवाना, होडल , जिला पलवल के रहने वाले हैं , उनके तीन बच्चे हैं , जिनमें दो लड़के व एक लड़की हैं, इनमें लड़की का  नाम रेश्मी हैं। उन्होनें अपनी बेटी रेश्मी की शादी 27 नवंबर -2020 को ज्ञान चंद का लड़का बलराम निवासी सदर पलवल के साथ बड़े ही धूमधाम से की थी, उसकी शादी में अपने हैसियत से कहीं ज्यादा दान -दहेज़ भी दिया था पर उसके ससुराल वाले दिए गए दान -दहेज़ से संतुष्ट नहीं थे। और दहेज़ लाने के लिए अक्सर उनकी बेटी रेश्मी को बहुत ज्यादा प्रताड़ित करते थे। उनका कहना हैं कि उनकी बेटी रेश्मी को ये कहते थे, कि दहेज़ में छोटी कार लेकर आई हैं,जब कि उसकी चाहत बड़ी कार की थी। वावजूद इसके वह लोग परिवार में कोई विवाद ना हो इसके लिए वह लोग बेटी रेश्मी के ससुराल में जाकर ससुरालियों को काफी समझाने की कोशिश की। फिर भी वह लोग नहीं माने और उनकी बेटी रेश्मी को अक्सर ताने बाने देने का सिलसिला जारी रखा और उसके साथ मारपीट करते रहे। उनका कहना हैं कि रोज -रोज के झगड़े और गाली गलौज से तंग आकर  उनकी बेटी रेश्मी अपने मायके में रहने के लिए आ गई थी पर बेटी रेश्मी के देवर मनीष ने यह कह कर अपने साथ बीते 17 फ़रवरी 2021 को रेश्मी को ले गया कि अब उसके साथ कोई मार पीट नहीं होगा और उसे कोई ताना बाना नहीं दिया जाएगा। इसके बाद 23 फ़रवरी 2021 को फिर से उनकी बेटी रेश्मी  का फोन उनके पास आया और फोन पर उसने फिर से बताया कि उसके साथ पति बलराम, देवर मनीष , सास सत्यवती मार पीट कर रहे हैं। इसके वावजूद उसे काफी समझाया की वह कल 24 फ़रवरी 2021  की शाम को उसके घर आऊंगा। जब वह  24 फ़रवरी की शाम को रेश्मी के ससुराल पहुंचे तो देखा की ससुर ज्ञान चंद चुपचाप खड़े हैं और पति बलराम , देवर मनीष व सास सत्यवती तीनों उसके हाथ पैर पकड़ कर उसकी गला घोंट रहे हैं , उसे आता देख कर सभी के सभी लोग घटना स्थल से भाग गए ,जब अपनी बेटी रेश्मी के नजदीक गए तो देखा की वह मार चुकी हैं। 

उनका कहना हैं कि इसके बाद उन्होनें  अपने परिवार के लोगों को इस घटना के बारे में फोन पर बताया, फिर इस घटना की सूचना सदर पलवल थाने की पुलिस को दी। पुलिस ने उनकी शिकायत के आधार पर भारतीय दंड सहिंता की धारा 302 , 323 , 304 बी, 498 ए व 34 आईपीसी के तहत पति बलराम , देवर मनीष , सास सत्यवती व ससुर ज्ञान चंद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया पर पुलिस इन आरोपितों को तुरंत अरेस्ट नहीं किया। इस बात से नाराज होकर परिजनों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर अस्पताल के प्रांगण में नारेबाजी की, फिर गांव भुलवाना , होडल   नेशनल हाइवे -2 स्थित पुल पर जाम लगा दिया। मौके पर पहुंची इलाके की पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को भरोसा दिया की सभी आरोपितों को अगले 24 घंटों में अरेस्ट कर लिया जाएगा। इसके बाद प्रदर्शन करियों ने जाम  खोला और रेश्मी के शव को अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट ले गए। ये जानकारी मृतका रेशमी के मौसेरे भाई रोहित रावत ने फोन पर दी हैं। 
 

Related posts

फरीदाबाद: सुप्रीम कोर्ट ने खोरी गांव के सर्वे एवं आधार कार्ड को स्वीकार करने का मुद्दा उठाया।

webmaster

फरीदाबाद: भारती की हत्या उसके पूर्व प्रेमी ने गला काट कर की थी, डीएलएफ क्राइम ब्रांच तीन आरोपित को किया अरेस्ट।

webmaster

गुरुग्राम : पुलिस प्रशासन के बेड़े में नए पीसीआर 40 मारुति अर्टिका कार व 40 मोटर साइकिलों को शामिल किए गए हैं, किया रवाना।

webmaster
error: Content is protected !!