गुडगाँव स्वास्थ्य

उपायुक्त अमित खत्री ने कोरोना से बचाव के लिए आमजन से किया सावधान रहने का आह्वान।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
गुरूग्राम: गुरूग्राम के उपायुक्त अमित खत्री ने जिलावासियों से ‘युद्ध-कोरोना के विरूद्ध‘ नामक अभियान से जुड़ने का आह्वान किया और कहा कि जिला प्रशासन तथा युनाइटिड-वे की इस संाझी पहल का हिस्सा बनने के लिए 7533005175 पर मिस्ड काॅल दें या फिर ‘हैशटैग मीलियन प्लैजिज‘ से जुड़ कर सोशल मीडिया पर लोगों को कोविड प्रोटोकाॅल की जानकारी देने में भागीदार बनें। उन्होंने बताया कि युद्ध-कोरोना के विरूद्ध नामक पहल के अंतर्गत हैशटैग मीलियन प्लैजिज अभियान शुरू किया गया है। इस अभियान का उद्देश्य हर व्यक्ति को कोविड -19 महामारी से बचाव के उपायों की जानकारी देते हुए सरकार के कोविड संक्रमण रोकथाम के प्रयासों को आगे बढ़ाना है। श्री खत्री ने बताया कि इस अभियान के तहत नागरिकों को मास्क पहनने, हाथ सैनिटाइज करने और सोशल डिस्टेंसिंग प्रोटोकाॅल के बारे में जागरूक करते हुए यह समझाने का प्रयास किया जा रहा है कि इस प्रोटोकाॅल का पालन करके ही हम स्वयं महामारी के प्रकोप से बच सकते हैं तथा अपने परिवार को भी बचा सकते हैं। त्यौहारों के इस मौसम में स्वस्थ रहने के लिए हम ‘ #IPledge4CoVIDsafeFestivities  का प्रयोग करते हुए सोशल मीडिया पर शपथ लें। ध्यान रहे कि इस अभियान को मेदांता-द मैडिसिटी गुरूग्राम के सीएमडी डा. नरेश त्रेहन ने भी समर्थन दे रखा है। 

उपायुक्त श्री खत्री ने सोशल मीडिया पर जिलावासियों के नाम जारी अपने एक आॅडियो-वीडियो संदेश में कहा है कि जिला में कोरोना से निपटने के लिए जरूरी है कि हम लापरवाही न बरतें और कोविड-प्रोटोकाॅल का गंभीरता से पालन करें। कोरोना के खिलाफ लड़ाई को जीतने के लिए जनभागीदारी अत्यंत आवश्यक है, इसलिए हम अपनी जान को जोखिम में ना डालें और जहां तक संभव हो अपने घरों में ही रहें क्योकि ‘जब तक दवाई नही, तब तक ढिलाई नही‘।  उन्होंने कहा कि यदि किसी व्यक्ति को बुखार, जुकाम, खांसी है या उसकी सूंघने की शक्ति खत्म हो गई है तो वह तुरंत स्वास्थ्य विभाग से संपर्क करे और अपने नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र पर लगाए जा रहे एंटीजन टेस्टिंग शिविर में अपने स्वास्थ्य की जांच करवाए। जिला प्रशासन लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने का हर संभव प्रयास कर रहा है। कोविड संक्रमित मरीजों की पहचान के लिए जिला में नियमित टेस्टिंग कैंप लगाए जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा अब तक जिला में 1518 टेस्टिंग कैंप लगाए जा चुके हैं। इसके अलावा, आरटीपीसीआर के माध्यम से भी रोजाना टेस्टिंग की जा रही है। जिला में अब तक 4 लाख 25 हजार 846 कोरोना संदिग्ध मरीजों की टेस्टिंग की जा चुकी है। उपायुक्त ने कहा कि कोरोना से बचकर रहना ही इसका सर्वोत्तम इलाज है। यदि जरूरी न हो तो घरों से बाहर निकलने से परहेज करें और दूसरों के संपर्क में आने से बचें। यदि बाहर निकलना भी पड़े तो मुंह पर मास्क जरूर लगाएं। मास्क लगाने से कोरोना संक्रमण से बचने की संभावनाएं काफी बढ़ जाती हैं, इसलिए घर से बाहर, कार्यस्थल अथवा सार्वजनिक स्थानों पर मास्क का इस्तेमाल अवश्य करें। इसके अलावा बार-बार साबुन अथवा एल्कोहल युक्त सेनिटाइजर से हाथ धोने से भी कोरोना वायरस के संक्रमण से बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना का इलाज संभव है लेकिन यदि हम लापरवाही बरतते हैं और इसकी शुरूआती अवस्था में ही इलाज शुरू नहीं करवाते हैं तो यह जानलेवा हो सकता है। कोरोना का वायरस पहले गले में पहुंचकर वहां अवरोध प्रकट करता है और धीरे-धीरे यह सांस लेने में समस्या पैदा कर देता है।

इसके अलावा यदि यह फेफड़ों में पहुंच जाता है तो और भी अधिक घातक होता है। वायरस का हमला होते ही तुरंत इसकी जांच व इलाज शुरू कर दिया जाए तो मरीज को आसानी से ठीक किया जा सकता है।उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जरूरी है कि लोग अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएं। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए जरूरी है कि लोग नियमित व्यायाम व योग क्रियाएं करें। आयुष विभाग द्वारा लोगों को योग क्रियाएं करवाने के लिए रोजाना योग क्रियाओं के वर्चुअल सैशन करवाएं जा रहे हैं। इसके अलावा, रोजाना लोगों को इम्युनिटी बूस्टर दवाओं का वितरण किया जा रहा है ताकि वे संक्रमण से बचे रहें। आयुष विभाग द्वारा अब तक जिला में 2 लाख 15 हजार इम्युनिटी बूस्टर दवाओं का वितरण किया जा चुका है। इन दवाओं के वितरण के लिए आयुष विभाग द्वारा क्षेत्रवार टीमों का गठन किया गया है। उपायुक्त ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि वे कोरोना संक्रमण की गंभीरता को समझें और स्वयं तथा अपने परिजनों के बचाव के लिए कोविड प्रोटोकाॅल का पालन करें। कोरोना संक्रमण व्यक्ति के लिए जानलेवा हो सकता है, इसलिए फेस मास्क का प्रयोग अवश्य करें। जहां तक संभव हो घरों में ही रहें और समय समय पर अपने हाथों को साबुन से धोते रहें। यदि घर से बाहर जाना हो तो अपने आस पास चीजों को छूने से बचें और हैंड सैनिटाइजर का प्रयोग करते रहें। उन्होंने कहा कि लोग कोरोना के खिलाफ जंग जीतने के लिए लोग जिला प्रशासन का सहयोग करें। 

Related posts

पुलिसकर्मियों ने चोरी के आरोप में महिला को थाने में कपड़े उतार कर पीटा, 4 लाइन हाजिर

webmaster

गुरुग्राम: अपराध शाखा ,फरुखनगर ने आज पवन हत्याकांड के चार आरोपियों को वजीरपुर रोड ,फारुखनगर से गिरफ्तार किए हैं।

webmaster

फरीदाबाद: छत पर नहा रही दो बच्चियों पर आसमानी बिजली गिरी, बुरी तरह से झुलसीं

webmaster