Athrav – Online News Portal
मनोरंजन हरियाणा

डीसी यशपाल ने सरस्वती महिला महाविद्यालय में आयोजित कवि सम्मेलन का दीप प्रज्जवलित कर शुभारंभ किया।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
पलवल: उपायुक्त यशपाल ने गत सांय जिला प्रशासन की ओर से सरस्वती महिला महाविद्यालय, पलवल के सभागार में आयोजित कवि सम्मेलन का दीप प्रज्जवलित कर शुभारंभ किया। इस कवि सम्मेलन में परमवीर चक्र विजेता योगेन्द्र यादव व देश के प्रसिद्घ कवियों द्वारा काव्य पाठ किया गया। इन कवियों में प्रसिद्घ कवि डा. हरिओम पवार, दिनेश रघुवंशी, सुदीप भोला, सर्वेश अस्थाना, हेमंत पांडे व डा. रूचि चतुुर्वेदी ने देश भक्ति से ओत-प्रोत अपनी प्रस्तुति देकर लोगों का मन मोह लिया। उपायुक्त ने सभी कवियों एवं परमवीर चक्र विजेता योगेंद्र यादव को शॉल ओढाकर सम्मानित किया।

परमवीर चक्र विजेता योगेन्द्र यादव ने अपने सम्बोधन में बताया कि किस तरह उन्होंने कारगिल लड़ाई में टाइगर हिल जैसी चोटी पर तिरंगा फहराया था। उन्होंने कहा कि व्यक्ति की पहचान किसी औहेदे से नही बल्कि उकने काम से होती है। उन्होंने कहा कि वो साढ़े सोलह साल की उम्र में भारतीय सेना में भर्ती हो गए थे और उन्हें भारत मां की सेवा करने की भावना से 19 वर्ष की उम्र में परमवीर चक्र मिला था। कवियत्री डा. रूचि चतुुर्वेदी ने सरस्वति वदना से कवि सम्मेलन की शुरूआत की। उन्होंने अपनी कविता इस तरह पढ़ी कि एक सैनिक की पत्नी अपने पति के लिए क्या कहती है। उनके बोल है : तेरे पे्रम की ओढ़ चुनरिया डोलू मन के गांव-गांव, राह निहारू कब से तेरी बैठी पीपल छांव में , सूरज के रथ चढक़र रोज सवेरा आता है। कवि सर्वेश अस्थाना ने अपनी कविता में-न फांसी लगाई न जहर पिया, न ही जहरीला पाउडर फांका था, नेता जी मर इसलिए गए कि मना करने के बाद भी कल अपने गिरेबार में झांका था।



कवि दिनेश रघुवंशी ने-वतन महबूब है अपना वतन के गीत गाते हैं,तिरंगा ओढकर सौभाग्य पर हम मुशकराते हैं। वतन वालो शाहादत को हमारी भूल मत जाना, तुम्हारे कल की खातिर हम गंवाकर आज जाते हैं। कवि हेमंत पांडे ने अपनी कवित इस तरह पढ़ी- सूज पाकिस्तान के दोनो गाल गये हैं, चाटे को फिर भी वो टाल गए हैं। संसद में पूछा इमारान कहां है, बोले बीपी नपवाने अस्पताल गए हैं। कवि सुदीप भोला ने अपने काव्य पाठ में जल गए चिराग से उड़ गए गुलाल से, होलिया दीवालिया मनाई किस मिजाज से गोलियों की बारिशों में अड गए नोढाल से बर्फ में डटे रहे जो खून के उबाल से। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश यशिका यादव, अतिरिक्त उपायुक्त सुरेन्द्र सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी अशोक बघेल, जिला खेल एवं युवा कार्यक्रम अधिकारी विरेन्द्र सिंह, पूर्व विधायक रामजीलाल डागर, पूर्व उप जिला शिक्षा अधिकारी रमेश शर्मा, सचिव जिला रैडक्रास सोसायटी बिजेनद्र सौरोत सहित अनेक गणमान्य लोग एवं श्रोतागण मौजूद थे।

Related posts

पलवल : पुलिस कप्तान वसीम अकरम ने कई थानों के एसएचओ के थाने बदले, कुल तीन इंस्पेक्टरों सहित 69 पुलिस कर्मियों को बदले।

webmaster

बीजेपी प्रत्याशी संजय भाटिया को जिताने के लिए कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने व्यापारियों से की अपील

webmaster

Gauhar breaks her silence on controversial photo shared by Kushal

webmaster
error: Content is protected !!