Athrav – Online News Portal
दिल्ली नई दिल्ली राजनीतिक

कांग्रेस-एनसीपी केवल अपने परिवार के लिए चलने वाली पार्टियां है: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज महाराष्ट्र में चिखली (बुलढाणा) के खाबुतारे लेआउट (जाफराबाद रोड), कारंजा (वाशिम) के विदर्भ कैंसर रिलीफ सेंटर ग्राउंड (विद्याभारती कॉलेज के सामने) और धारणी, मेलघाट में आयोजित विशाल जन-सभाओं को संबोधित किया और कांग्रेस-एनसीपी पर बरसते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी की अगुआई में विकास के प्रति समर्पित भाजपा – शिव सेना की पूर्ण बहुमत की देवेन्द्र फड़णवीस सरकार के गठन का आह्वान किया। शाह ने कहा कि इस बार के महाराष्ट्र विधान सभा चुनाव में एक ओर भारतीय जनता पार्टी – शिव सेना गठबंधन है तो दूसरी ओर कांग्रेस-एनसीपी का गठबंधन। कांग्रेस-एनसीपी केवल अपने परिवार के लिए चलने वाली पार्टियां है जबकि भारतीय जनता पार्टी देश के विकास और राष्ट्र की सुरक्षा के लिए काम करने वाली पार्टी है। महाराष्ट्र की जनता ने तय कर लिया है कि अब प्रदेश में वोटबैंक, भ्रष्टाचार और तुष्टिकरण की राजनीति करने वाली कांग्रेस-एनसीपी की कोई जगह नहीं है।

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि देश की जनता के आशीर्वाद से प्रचंड जीत के साथ दूसरी बार सरकार बनने के बाद संसद के प्रथम सत्र में ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने धारा 370 ख़त्म कर जम्मू-कश्मीर को सच्चे मायनों में हिंदुस्तान का अभिन्न अंग बनाया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता दुष्प्रचार करने में लगे थे कि धारा 370 हटाने से कश्मीर में रक्तपात होगा जबकि 05 अगस्त 2019 से लेकर अब तक वहां एक भी गोली चलाने की जरूरत नहीं पड़ी है, पूरा का पूरा जम्मू-कश्मीर शांत है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के कारण अब तक 40 हजार से अधिक लोगों की जानें गई लेकिन केवल और केवल वोटबैंक की राजनीति करने के लिए कांग्रेस-एनसीपी ने धारा 370 को नहीं हटाया। भारतीय जनता पार्टी वोटबैंक की राजनीति कभी नहीं करती, हमारे लिए देश की सुरक्षा,समृद्धि और शांति सबसे अधिक मायने रखते हैं। जब देश की संसद धारा 370 और 35 (A) को ख़त्म करने की प्रक्रिया कर रही थी तो कांग्रेस और एनसीपी ने न केवल इसको हटाने का विरोध किया बल्कि इसे हटाने के खिलाफ मतदान भी किया। जब कांग्रेस और एनसीपी के नेता वोट मांगने आयें तो महाराष्ट्र की जनता उनसे एक सवाल जरूर पूछे कि वे धारा 370 को हटाने के पक्ष में हैं या विरोध में? शाह ने कहा कि वर्षों से जम्मू-कश्मीर मामले पर हमारा स्टैंड स्पष्ट रहा है कि जम्मू-कश्मीर हमारा आतंरिक मामला है, इसमें किसी भी अन्य देश का दखल स्वीकार्य नहीं है। जब भी किसी भी देश ने इस मुद्दे पर बोलने की कोशिश की, हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने साफ शब्दों में उसे नसीहत दी कि यह हमारा आंतरिक मामला है और इसमें आपके दखल की कोई जरूरत नहीं है लेकिन कल राहुल गाँधी के करीबी और कांग्रेस ओवरसीज सेल के अध्यक्ष सहित कांग्रेस के कई नेताओं ने इंगलैंड की लेबर पार्टी के नेता जेरेमी कोर्बिन के साथ बैठक कर जम्मू-कश्मीर के मामले पर चर्चा की कि जम्मू-कश्मीर में हालात ठीक नहीं है, मानवाधिकारों का उल्लंघन हो रहा है।

उन्होंने कहा कि आज़ादी के बाद सबसे पहले पंडित जवाहरलाल नेहरू जम्मू-कश्मीर की समस्या को लेकर यूएन गए और राहुल गाँधी के करीबी नेता जम्मू-कश्मीर पर ब्रिटेन के उन नेताओं के साथ चर्चा कर रहे हैं जो इस मुद्दे पर भारत का विरोध करते हैं। वास्तव में कांग्रेस पार्टी को देश की नहीं, वोटबैंक की चिंता है। कांग्रेस पार्टी जवाब दे कि उसकी पार्टी के नेता इंग्लैंड के नेताओं के साथ क्या कर रहे थे? क्या कांग्रेस पार्टी जम्मू-कश्मीर के मामले में इंगलैंड को दखल देने की खुली छूट देना चाहती है? हम जम्मू-कश्मीर की शांति, सुरक्षा और समृद्धि के लिए दिन-रात काम कर रहे हैं जबकि कांग्रेस पार्टी इस मुद्दे को लेकर दूसरे देश के नेताओं के पास जा रही है, कांग्रेस पार्टी को इसके लिए देश की जनता से अविलंब माफी मांगनी चाहिए। कांग्रेस अध्यक्ष और राहुल गाँधी को अपना स्टैंड स्पष्ट करना चाहिए कि वे जम्मू-कश्मीर के मामले पर किस तरह से आगे बढ़ना चाहते हैं? राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार और महाराष्ट्र की देवेन्द्र सरकार मिलकर महाराष्ट्र के विकास के लिए कार्य कर रही है। कांग्रेस की सरकारों ने विदर्भ क्षेत्र के साथ लगातार अन्याय किया जबकि भारतीय जनतापार्टी – शिव सेना गठबंधन विदर्भ को न्याय दिलाने और इसे विकास के पथ पर अग्रसर करने के लिए कार्यरत है।



विकास भारतीय जनता पार्टी की कार्यसंस्कृति का हिस्सा है और हमारा एकमात्र मूल मंत्री है- ‘सबका साथ, सबका विकास। बुलढाणा जिले के विकास कार्यों की चर्चा करते हुए श्री शाह ने कहा कि जिले में राजमाता के जन्मस्थान के विकास के लिए 300 करोड़ रुपये की लागत से कार्य किया जा रहा है। गजानन महाराज मंदिर और प्रसिद्ध सरोवर के विकास सहित जिले के 17 स्मारकों को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जा रहा है। जिले में हजारों कृषि पंप वितरित किये गए हैं। पहली बार महिला कंडक्टर की नियुक्ति की गई है, सहकारी आंदोलन के विस्तार के लिए 100 करोड़ रूपये से ज्यादा की सहायता ग्रांट की गई है। केवल बुलढाणा जिले में लगभग 2.19 लाख शौचालयों का निर्माण कराया गया है, लगभग 11,000 गरीब लोगों को आवास दिया गया है, 19 हजार से अधिक घरों में बिजली पहुंचाई गई है और विदर्भ के 16 लाख किसानों का 8000 करोड़ रुपये का कृषि ऋण माफ किया गया है। साथ ही,जिले के ढाई लाख किसानों के एकाउंट में किसान सम्मान निधि के तहत 6,000 रुपये की कृषि सहायता भी पहुंचाई जा चुकी है। उन्होंने कहा कि नागपुर-वर्धा-बुलढाणा जिले के विकास के लिए 450 करोड़ रुपये की सहायता दी गई है। इसके अतिरिक्त संत गाडगे बाबा अमरावती विश्वविद्यालय के लिए 40 करोड़ रुपये दिए गए हैं। विदर्भ में शिक्षा व स्वास्थ्य की सुविधा के लिए नागपुर में आईआईआईटी, आईआईएम, एम्स और लॉ कॉलेज स्थापित किये गए हैं, संतरा का उपयोग करने वाले कोल्ड ड्रिंक्स का संयंत्र स्थापित किया गया है, पतंजलि ने भी अपना संयंत्र स्थापित किया है, अमरावती में टैक्सटाइल पार्क की भी स्थापना की गई है। इस बार पुनः भाजपा की सरकार बनने पर अगले पांच वर्षों में विदर्भ में सोयाबीन के लिए भी कई संयंत्र लगाए जायेंगे। देवेन्द्र फड़णवीस सरकार विदर्भ क्षेत्र में उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए उद्योगों को मिलने वाली बिजली में प्रति यूनिट दो रुपये की छूट दे रही है। 701 किलोमीटर लंबे समृद्धि महामार्ग के लिए 55,000 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की गई है, नागपुर और वर्धा में मेट्रो सेवा का कार्य शुरू हुआ है, अकेले विदर्भ क्षेत्र में 27 रेलवे पुलों का निर्माण किया गया है और 65 अन्य परियोजनाओं पर कार्य शुरू किया गया है। विदर्भ में बाबा साहब भीमराव अंबेडकर जी की दीक्षा भूमि के विकास के लिए 100 करोड़ रुपये की राशि अलग से दी गई है।

Related posts

अन्तर्राजीय वाहन चोर गिरोह के दो सदस्यों को किया गिरफ्तार, आरोपियों के कब्जे से 7 लक्जरी कारें बरामद की गई हैं।

webmaster

वजीराबाद में मुठभेड़ के बाद दो बदमाश को पुलिस ने किया गिरफ्तार,एक बदमाश के पैर लगी गोली

webmaster

नई दिल्ली : सीएम अरविंद केजरीवाल हरियाणा में भी एक अलग तरह का प्रयोग, आम आदमी पार्टी हर गांव, हर मोहल्ले, हर घर तक जाएगी।

webmaster
error: Content is protected !!