Athrav – Online News Portal
जरा हटके दिल्ली नई दिल्ली राष्ट्रीय

दिल्ली का प्रमुख पर्यटन स्थल बना चांदनी चौक,सीएम अरविंद केजरीवाल ने पुनर्विकास और सौंदर्यीकरण कार्य का किया उद्घाटन

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
नई दिल्ली:दिल्ली सरकार द्वारा किए गए पुनर्विकास और सौंदर्यीकरण कार्य के चलते चांदनी चौक दिल्ली का प्रमुख पर्यटन स्थल बन गया है। मुख्यमंत्री  अरविंद केजरीवाल ने आज चांदनी चौक के पुन र्विकास और सौंदर्यीकरण कार्य का उद्घाटन किया। पुनर्विकास के दौरान सड़कों की खूबसूरती, पर्यटकों की सुविधाओं और सुरक्षा का पूरा ख्याल रखा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि टूटी सड़कें, ट्रैफिक जाम, लटकते बिजली के तार, चांदनी चौक की पहले तश्वीर हुआ करती थी। वहीं, अब पूरे दिल्ली के लोग देखने आ रहे हैं कि चांदनी चौक कितनी खूबसूरत जगह बन गई है। विकसित किए गए इस पूरे स्ट्रेच को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिए अभी और भी कई योजनाएं हैं। इस पुनर्विकसित एरिया में रात 12 बजे तक स्ट्रीट फूड की अनुमति रहेगी, ताकि यहां आने वाले लोग खाने का आनंद ले सकें। वहीं, शहरी विकास मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि आज चांदनी चौक की मुख्य सड़क दिल्ली की सबसे खूबसूरत जगहों में से एक है। यह पुनर्विकास कार्य एक झलक है कि कैसे दिल्ली सरकार पूरी दिल्ली को दुनिया का सबसे सुंदर शहर बनाएगी।
चांदनी चौक के पुनर्विकास और सौंदर्यीकरण कार्य के उद्घाटन समारोह में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ शहरी विकास मंत्री सत्येंद्र जैन, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री इमरान हुसैन और स्थानीय विधायक पारलाद सिंह साहनी समेत पीडब्ल्यूडी के वरिष्ठ अधिकारी आदि गणमान्य लोग मौजूद रहे। मुख्यमंत्री ने सर्वप्रथम फीता काट कर चांदनी चौक के पुनर्विकास और सौंदर्यीकरण कार्य का उद्घाटन और नाम पट्टिका अनावरण किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने चांदनी चौक के प्रोजेक्ट कार्य और जनता को उपलब्ध कराई गई सुविधाओं का निरीक्षण कर जायजा लिया। 

दिल्ली के शहरी विकास मंत्री सत्येंद्र जैन ने ट्वीट कर कहा, ‘‘मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के मार्गदर्शन में चांदनी चौक का पुनर्विकास किया गया है। आज चांदनी चौक की मुख्य सड़क दिल्ली की सबसे खूबसूरत जगहों में से एक है। यह पुनर्विकास कार्य एक झलक है कि कैसे दिल्ली सरकार पूरी दिल्ली को दुनिया का सबसे सुंदर शहर बनाएगी।’’
पुनर्विकास कार्य के उद्घाटन समारोह के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि चांदनी चौक से दिल्ली की पहचान होती है। पूरे देश में ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में अगर कोई दिल्ली का नाम लेता है, तो सबसे पहले चांदनी चौक दिमाग में आता है। टूटी हुई सड़कें, ट्रैफिक जाम, चारों तरफ लटकते हुए बिजली के तार, चांदनी चौक की पहले तश्वीर हुआ करती थी। पहले चांदनी चौक की बहुत ही गंदी तस्वीर हुआ करती थी। पिछले तीन साल के अंदर दिल्ली सरकार ने चांदनी चौक के पुनर्विकास और सुंदरीकरण का प्रोजेक्ट शुरू किया था, वह पूरा हुआ और आज इसका उद्घाटन किया गया है। चांदनी चौक का पुनर्विकास और सौंदर्यीकरण कार्य बहुत ही अच्छा किया गया है। यहां पर केवल चांदनी चौक के लोग ही नहीं, बल्कि पूरे दिल्ली के लोग आ रहे हैं और देख रहे हैं कि चांदनी चौक कितनी खूबसूरत जगह बन गई है।सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लाल किला से फतेहपुरी मस्जिद तक का यह पूरा स्ट्रेच लगभग 1.4 किलोमीटर का है। इस पूरे स्ट्रेच को बेहद खूबसूरत बनाया गया है। ट्रैफिक को ठीक किया गया है। जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। लटक रहे सभी बिजली के तार भूमिगत कर दिए गए हैं। एक तरह से अब यह दिल्ली का सबसे महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल बन गया है। अब कोई भी दिल्ली आएगा, तो सबसे पहले चांदनी चौक देखने के लिए आएगा। इस पूरे स्ट्रेच को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिए अभी हमारी और भी बहुत सारी योजनाएं हैं। आने वाले समय में एक-एक कर वह सभी योजनाएं धरातल पर उतारी जाएंगी। मीडिया के सवाल का जवाब देते हुए सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि चांदनी चौक को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने पर विचार किया गया है। यहां पर रात 12 बजे भी लोग टहलने के लिए आते हैं। यह एक तरह से पर्यटन स्थल बन चुका है। यहां पर रात 12 बजे तक स्ट्रीट फूड की अनुमति रहेगी, ताकि रात में लोग यहां पर आ सकें और खाने का आनंद ले सकें। जब मार्केट बंद हो जाएगी, तो यहां पर स्ट्रीट फूड जॉइंट्स खोले जाएंगे। लोगों को कोई समस्या नहीं होने देंगे, जहां पर भी समस्या आएगी, स्थानीय स्तर पर उसका समाधान निकालेंगे।मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बारिश के दौरान हो रहे जलभराव के संबंध में कहा कि केवल चांदनी चौक ही नहीं, बल्कि पूरी दिल्ली के ड्रेनेज सिस्टम को ठीक करने के लिए योजना बनाई जा रही है। दिल्ली का ड्रेनेज सिस्टम हमें विरासत में मिला है। जो इतने सालों का खराब ड्रेनेज सिस्टम है, वह दो सालों में ठीक नहीं हो सकता है। हम लोग पूरी दिल्ली के ड्रेनेज सिस्टम को ठीक करने का प्लान बना रहे हैं। मैं आश्वासन देता हूं कि कुछ सालों के बाद दिल्ली में बारिशों के दौरान जगह-जगह पानी जमा होने और सड़कें भर जाने का सिलसिला जल्द खत्म होगा और दिल्ली के अंदर जल भराव नहीं हुआ करेगा, लेकिन इसमें थोड़ा समय लेगा। हम बहुत बड़े स्तर पर योजना बना रहे हैं। पूरे दिल्ली के ड्रेनेज सिस्टम को ठीक करने में थोड़ा समय तो लगेगा। 

चांदनी चौक के पुनर्विकास प्रोजेक्ट के प्रस्ताव को 27 अगस्त 2018 को अनुमोदित किया गया था। लोक निर्माण विभाग द्वारा मुख्य परियोजना पर मार्च 2019 में कार्य शुरू किया गया। चांदनी चौक कॉरिडोर का नोटिफिकेशन जून 2021 में हुआ था। चांदनी चौक कॉरिडोर की लंबाई 1.4 किलोमीटर है और रो की चौड़ाई 26 से 30 मीटर है। लालकिला जंक्शन की चौड़ाई 40 मीटर और स्ट्रेच-1 (लाल जैन मंदिर से गुरुद्वारा सीसगंज) 440 मीटर है। इसी तरह, स्ट्रेच-2 (गुरुद्वारा सीसगंज से टाउन हॉल) 450 मीटर, स्ट्रेच-3 (टाउन हॉल से बल्लीमारान) 220 मीटर और स्ट्रेच-4 (बल्लीमारान से फतेहपुरी मस्जिद) 250 मीटर है। वहीं, जोन-1 में इमारतों के अंत तक एनएमवी लेन का किनारा 5 से 11 मीटर चौड़ा है। इसी तरह, जोन-2 में एनएमवी लेन 5.5 मीटर, जोन-3 में सेंट्रल वर्ज 3.5 मीटर, जोन-4 में एनएमवी लेन 5.5 मीटर और जोन 5 में इमारतों के अंत तक एनएमवी लेन का किनारा 5 से 10 मीटर चौड़ा है। जोन-1 और जोन-5 के सड़क मार्ग को ग्रेनाइट से बनाया गया है। जोन-3 ग्रीन एरिया के बीच में ग्रेनाइट फर्श दिया गया है और जोन-2 और जोन-4 के सड़क मार्ग के फूटपाथ को रंगीन कंक्रीट से बनाया गया है।चांदनी चौक के पुनर्विकास के दौरान आम जनता की सुविधाओं का भी पूरा ख्याल रखा गया है। चांदनी चौक कॉरिडोर की लंबाई के साथ बलुआ पत्थर के बोलर्ड लगाकर जोनों को अलग किया गया है और यातायात (गैर मोटर चालित और पैदल यात्री) का चौनलीकरण किया गया है। सड़क मार्ग पर चार जंक्शन बनाए गए हैं। यह जंक्शन लाल किला, गुरुद्वारा सीसगंज (फाउंटेन चौक), टाउन हॉल और फतेहपुरी मस्जिद कें पास बने हैं। इसके अलावा, लोगों की सहूलियतों का ख्याल रखते हुए 4 शौचालय व 2 पुलिस पोस्ट बनाया गया है। साथ ही, वाटर एटीएम, एसएस कूड़ेदान और बैठने के लिए सैंडस्टोन की सीटें लगाई गई हैं।चांदनी चौक के पुनर्विकास कार्य के दौरान वहां आने वाले पर्यटकों की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा गया है। इसके लिए जगह-जगह लाइट और सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। जोन-1 से जोन-5 तक 197 इलेक्ट्रिक पोल लगाए गए हैं। साथ ही, पूरी एरिया में जगह-जगह 124 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इसमें चोरी की घटनाओं को नियंत्रित करने और पुलिस को मदद के लिए 100 बुलेट कैमरे लगाए गए हैं। यातायात को नियंत्रित करने के लिए 23 एनपीआर कैमरे लगाए गए हैं। लाल किला जंक्शन पर एक आरएलवीडी कैमरा लगा है। इसके अलावा, यातायात की आवाजाही को नियंत्रित करने के लिए सड़कों पर 17 बूम बैरियर लगाए गए हैं। आने वाले दिनों में यातायात कानूनों के उल्लंघन को नियंत्रित करने और एनएमवी नियमों को सुनिश्चित कराने के लिए बूम बैरियर स्थानों पर 17 एनपीआर कैमरे लगाए जाएंगे।दिल्ली सरकार ने पुनर्विकसित चांदनी चौक को हमेशा साफ-सुथरा रखने का भी इंतजाम किया है। नियमित रूप से साफ-सफाई के लिए कर्मचारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। वॉच एंड वार्ड के साथ शौचालयों का रखरखाव किया जाएगा। चांदनी चौक कॉरिडोर के पूरी एरिया में प्रतिदिन मैन्युअल सफाई की जाएगी। पर्यावरण के अनुकूल बैट्री चालित स्क्रबर और स्वीपर के माध्यम से मशीन से सफाई की जाएगी। साथ ही, सड़क पर लगाए गए सभी फर्नीचर जैसे- बोलर्ड और सैंड स्टोन की सीटों की नियमित सफाई और धुलाई की जाएगी।

*चांदनी चौक परियोजना की खास बातें-

1) चांदनी चौक के इस सड़क मार्ग पर वाहनों की भीड़भाड़ को कम करने के लिए सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक वाहनों की आवाजाही को प्रतिबंधित किया गया है।
2) सड़क पर लोगों को बिना असुविधा के चलने और पैदल यात्रियों को शौचालय, पानी के एटीएम और कूड़ेदान जैसी सुविधाओं की व्यवस्था है।
3) सुलभ भारत अभियान के तहत विकलांग लोगों के लिए यूनिसेक्स शौचालय और रैंप का प्रावधान किया गया है।
4) दिव्यांगों के अनुकूल स्पर्शनीय फ़र्श।
5) आपदा प्रबंधन के मद्देनजर स्ट्रीट फायर हाइड्रेंट।
6) भूमिगत केबल, सीवरेज सिस्टम और कॉम्पैक्ट ट्रांसफार्मर।
7) चीनी मिट्टी और सैंड स्टोन के 4 साइनेज लगाए गए हैं, जिन पर हिंदी, अंग्रेजी, उर्दू और पंजाबी में जानकारी दी गई है।
8) दिल्ली की विरासत संरक्षण और संस्कृति का संरक्षण।
9) चांदनी चौक देखने आने वाले पर्यटकों की सुविधा के मद्देनजर सड़क पर जगह-जगह बैठने के बोलर्ड्स और सैंड स्टोन की सीटें लगाई गई हैं, ताकि पर्यटकों को असुविधा न हो।10) सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से पर्याप्त स्ट्रीट लाइटिंग और चोरी पर नियंत्रण के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं।
11) पुनर्विकसित चांदनी चौक की शोभा और खूबसूरत सड़कें।
12) सभी उपयोगकर्ताओं के लिए एक सुरक्षित शहरी वातावरण और बाजार स्थान।

Related posts

श्री नितिन गडकरी ने बेल्जियम के उप प्रधानमंत्री के साथ बैठक की

webmaster

नई दिल्ली: जामिया यूनिवर्सिटी के गेट नंबर 5 के पास फायरिंग, पिछले चार दिनों में तीसरी वारदात

webmaster

भारतीय रेलवे अपनी जानकारी में लाई गई विशिष्ट शिकायतों की सावधानीपूर्वक और शीघ्रता से जांच कराएगी

webmaster
1 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x