Athrav – Online News Portal
अपराध दिल्ली नई दिल्ली

मौसी मुझे दोहरे हत्याकांड में फंसना चाहती थी,उसके साथ मेरा प्रॉपर्टी विवाद था, इस लिए मैंने उसकी हत्या कर दी- अरेस्ट  

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
नई दिल्ली: मौसी अपने भांजे को बड़ा हिन्दू राव में हुए दोहरे हत्याकांड में फंसाने की कोशिश की थी, क्यूंकि उसके साथ उसका प्रॉपर्टी विवाद चल रहा था। इस लिए उसी घर में सोची समझी साजिश के तहत तेज धार हथियार से उसकी गला रेत कर हत्या कर दी। और हत्या करने के बाद उसके मकान का दरवाजा बंद करके चला गया था। दिल्ली पुलिस की स्पेशल स्टाफ की टीम ने आरोपित भांजे को मेरठ से अरेस्ट कर लिया।   

पुलिस के मुताबिक गली बहार वाली, चट्टान लाल मियां, दरियागंज, दिल्ली स्थित एक बंद मकान से दुर्गंध आने की सूचना गत 3 सितंबर -21 को लगभग  साढ़े 7 बजे प्राप्त हुई। ये कॉल एसआई मोहित मलिक को सौंपी गई, जो कर्मचारियों के साथ मौके पर पहुंचे और मृतक मुमताज परवीन का शव लगभग 55 साल की उम्र के एक कमरे में बेडरूम के अंदर बिस्तर पर मिला था , उसका खून सूखा पड़ा था और शव सड़ चुका था। शव के गले के पिछले हिस्से पर गहरे कट के निशान थे। एफएसएल व क्राइम टीम की टीम ने मौके का मुआयना किया। शव को मोर्चरी में रखवाया गया और उक्त मामला  दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

जाँच पड़ताल:

मामले की संवेदनशीलता को ध्यान में रखते हुए मध्य जिले के विशेष कर्मचारियों को वर्तमान मामले को सुलझाने का काम सौंपा गया था। इंस्पेक्टर ललित कुमार के नेतृत्व में आई /सी, स्पेशल स्टाफ, सीडी के साथ इंस्पेक्टर सरोज तिवारी, एटीओ / सीएम, एसआई मनोज कुमार, एसआई ठाकुर सिंह, एएसआई योगेंद्र, एएसआई बलजीत, एचसी आदेश, एचसी योगेंद्र गर्ल, एचसी राकेश, सीटी अमित, सीटी संदीप, सीटी पंकज, सीटी अजय, सीटी राकेश और सीटी / डीवीआर। संदीप को योगेश मल्होत्रा, एसीपी/ऑप्स सीडी का समग्र पर्यवेक्षण सौंपा गया था। मृतक मुमताज परवीन ने ऑपरेशन करवाया। मृतक के शरीर पर गर्दन के पिछले हिस्से में तीन गहरे नुकीले कट देखे गए। आगे की जांच के दौरान मोहल्ले से सीसीटीवी फुटेज प्राप्त हुए और देखा कि 30 अगस्त -21 को मृतक की गली में एक संदिग्ध व्यक्ति देखा गया था। आगे के फुटेज प्राप्त किए गए और पाया गया कि रात लगभग 8 बजे वह व्यक्ति एक ऑटो रिक्शा से उतरकर गली में प्रवेश कर गया।आधे घंटे के बाद वह फिर से वापस आते हुए देखा और एक ऑटो में सवार हो गया। लेकिन उस व्यक्ति ने अपना चेहरा ढक लिया। अन्य संदिग्धों के साथ रिश्तेदारों और पड़ोसियों से गहन पूछताछ की गई और सीडीआर प्राप्त किए गए और उनका विश्लेषण किया गया लेकिन कुछ भी संदिग्ध नहीं पाया गया। तकनीकी निगरानी लगाई गई थी। मुखबिरों को लगाया गया। गत 12 सितंबर -21 को ईमानदारी और निरंतर प्रयासों के बाद गुप्त सूचना प्राप्त हुई। इसके बाद मेरठ में छापेमारी की गई और आखिर कार टीम अपराधी को मेरठ से पकड़ने में सफल रही।

आरोपी का विवरण:

फरमान, उम्र 22 वर्ष पुत्र नसीम अहमद निवासी मेरठ, यूपी, उसने 10वीं तक पढ़ाई की है और रेडीमेड कपड़े की दुकान चलाता है। वह शादीशुदा है।

मोटिव: 
आरोपी फरमान ने खुलासा किया कि उसकी मौसी (खाला) मुमताज ने दो महीने पहले पीएस बड़ा हिंदू राव के दोहरे हत्याकांड मामले में उसे और उसके परिवार को फंसाने की कोशिश की थी। उनके खाला से संपत्ति का विवाद भी है। इसलिए, उसने अपने खाला को मारने की योजना बनाई और उसे अंजाम दिया।

Related posts

बकाया वेतन का मामला:दबंगों ने मोबाइल चोरी का आरोप लगाकर रस्सी से बांधकर डंडे और बेल्ट से बेरहमी से पीटा, 4 अरेस्ट।

webmaster

द्वारका में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हरियाणा के उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने भी चुनावी जनसभा को किया संबोधित

webmaster

दिल्ली के कुख्यात गैंगस्टर के पांच शार्प शूटर व 1.10 लाख रुपये के इनामी बदमाशों को हथियारों सहित अरेस्ट।

webmaster
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x