Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद हरियाणा

एडीजीपी विर्क साहब जब सड़कों पर गाड़ियां ही नहीं चलेगी तो सड़क हादसों में तो कमी आएगी ही आएगी, आपका दावा गलत

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
चंडीगढ़: हरियाणा पुलिस प्रदेश में सड़क हादसों पर रोक लगाने के लिए निरंतर खास चीजों पर फोकस कर रही है जिसके बेहतर परिणाम भी अब सामने आने लगे हैं। राज्य में सड़क हादसों में पिछले वर्ष जून के मुकाबले इस साल 17.64 फीसदी की कमी आई है।जून 2020 में सड़क हादसे घटकर 733 रह गए, जबकि 2019 में यह आंकडा 890 था। जहां 2019 में प्रतिदिन लगभग 30 सडक हादसे रिपोर्ट हुए, वहीं 2020 में यह संख्या घटकर 24 रह गई।
एडीजीपी विर्क साहब आपको बताना चाहते हैं कि सड़क हादसों में कमी आना एक बहुत ही अच्छी खबर हैं पर पिछले जून महीने में जिस रफ़्तार से सड़कों पर गाड़ियां दौड़ रही थी,
इस जून महीने में उसका पचास प्रतिशत भी गाड़ियां कोरोना महामारी के खौफ की वजह से नहीं चल रही हैं। प्रदेश के सभी तीर्थ स्थान इस वक़्त बंद हैं और सभी स्कूल और कॉलेज बंद हैं सभी कंपनियों में सिर्फ पचास प्रतिशत लोग ही काम कर रहे हैं। इसके अतिरिक्त आपको यह बतादें कि कई लाख मजदूर भाइयों को ट्रेनों में भर भर के देश के विभिन्न प्रदेशों में प्रदेश सरकार ने भेज दिया हैं। जब इस प्रदेश में लोगों कमी हो गई और कोरोना के खौफ से लगभग पचास प्रतिशत लोग अपने घरों में हैं और सड़कों पर गाड़ियां पिछले जून के मुकाबले इस जून सिर्फ पचास प्रतिशत गाड़ियां चल रही हैं ऐसे में सड़क हादसों में कमी आना लाजमी हैं। इन हालतों में कमी आने का दावा करना आपका गलत हैं।        

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) नवदीप सिंह विर्क ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस द्वारा प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के लिए कई तरह के कदम उठाए जा रहे हैं। इस साल जहां सड़क हादसों में घायल व्यक्यिों की संख्या 15.30 फीसदी कम हुई, वहीं सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली मृत्यु दर में भी 20.04 प्रतिशत की प्रभाव शाली गिरावट देखी गई। उन्होंने कहा कि विगत छः माह में जनवरी से जून 2020 के बीच सड़क दुर्घटनाओं, मृत्युदर तथा हादसों में घायल लोगों की संख्या में भी क्रमशः 26.71 प्रतिशत, 26.77 प्रतिशत और 26.88 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई। हालाँकि, 24 मार्च से 31 मई तक कोविड-19 लॉकडाउन ने भी सड़क हादसों पर ब्रेक लगाने में योगदान दिया। लेकिन जून माह के साथ-साथ 2020 के प्रथम छः माह के तुलनात्मक आंकड़ों के विश्लेषण से स्पष्ट होता है कि हम सड़क और यातायात सुरक्षा के मामले में एक सुरक्षित लेन में निरंतर आगे बढ़ रहे हैं। 
विर्क ने कहा कि सड़क हादसों में लगातार आ रही गिरावट पुलिस द्वारा की जा रही उचित माॅनिटरिंग, सड़क सुरक्षा कानून का सही क्रियान्वयन व हमारी फील्ड इकाइयों द्वारा क्विक रिस्पांस के कारण संभव हो पाया है। आधिकारिक आंकड़ों को साझा करते हुए, उन्होंने बताया कि इस साल जून माह में सड़क हादसों की संख्या 157 की गिरावट के साथ 733 देखी गई, जबकि 2019 में यह आंकडा 890 था। इसी प्रकार, सडक हादसों में होने वाली मृत्युदर भी अपेक्षाकृत कम रही। विगत वर्ष जून में 429 लोग सड़क हादसों का शिकार हुए, वहीं इस साल यह आंकडा 86 की गिरावट के साथ 343 दर्ज किया गया। इसी प्रकार, सड़क हादसों में घायलो की संख्या में भी 114 मामलों की गिरावट आई। जून 2019 में घायल हुए 745 व्यक्यिों की तुलना में इस साल जून में 631 लोग सडक हादसों में घायल हुए।

जागरूकता से और कम होंगे सड़क हादसे

विर्क ने कहा कि हम विभिन्न हितधारकों और सड़क सुरक्षा विशेषज्ञों के परामर्श से तकनीक आधारित नवाचारों व उन्नत सुरक्षा उपायों के साथ भविष्य में सड़क हादसों को न्यूनतम स्तर पर लाने की ओर आगे बढ़ रहे हैं। इसके अतिरिक्त, हमारी पुलिस टीमें यातायात नियमों के उल्लंघन पर भी सख्ती से रोक लगा  रही हैं, जो दुर्घटनाओं का प्रमुख कारण बनते हैं। साथ ही, लोग सड़क पर जितना अधिक यातायात नियमों का पालन करेगें उतना हादसों में कमी आएगी।  

Related posts

फरीदाबाद : कमिश्नर मोहम्मद साईन के आदेश की अनसुनी : एनआईटी एक नंबर इलाके में अवैध निर्माणों की बह रहीं गंगा, इन गंदगी को कौन साफ करेगा।

webmaster

फरीदाबाद : प्रॉपर्टी डीलर हत्याकांड के आरोपी चीफ जस्टिस सुप्रीम कोर्ट का बेटा बनकर फिल्म अभिनेता संजय दत्त से मुलाकात की, गिरफ्तार ।

webmaster

हरियाणा पुलिस ने लाखों रुपए के हेरोइन के साथ एक शख्स को गिरफ्तार किया हैं। 

webmaster
error: Content is protected !!